परिणाम
दूसरा टेस्ट, जोहैनेसबर्ग, January 03 - 06, 2022, भारत का साउथ अफ़्रीका दौरा

साउथ अफ़्रीका की 7 विकेट से जीत

प्लेयर ऑफ़ द मैच
डीन एल्गर, सा. अफ़्रीका
28 & 96*
dean-elgar
रिपोर्ट

शार्दुल की रिकॉर्ड तोड़ गेंदबाज़ी ने साउथ अफ़्रीका को कम स्कोर पर रोका

दूसरी पारी में भारत के दोनों सलामी बल्लेबाज़ जल्दी आउट हुए

स्टंप्स। भारत 202 और 85/2 (पुजारा 35*, रहाणे 11*, यानसन 1-18) साउथ अफ़्रीका 229 ( पीटरसन 62, बवूमा 51, ठाकुर 7-61) से 58 रन आगे
शार्दुल ठाकुर के शानदार गेंदबाज़ी प्रदर्शन के बावजूद, भारतीय टीम साउथ अफ़्रीका को 27 रन की बढ़त लेने से नहीं रोक सकी, लेकिन भारत ने अपनी दूसरी पारी सकारात्मक रूप से शुरू किया और जोहैनेसबर्ग में दूसरे टेस्ट के दूसरे दिन स्टंप्स तक उनकी टीम दो विकेट के नुकसान पर 85 रन बना चुकी थी और उनके पास 58 रन की बढ़त थी।
दूसरे दिन के पहले सत्र में सिराज 100 फ़ीसदी फ़िट नहीं दिख रहे थे। ऐसे में ठाकुर ने गेंदबाज़ी आक्रमण को संतुलित करने का प्रयास किया और एक सकारात्मक रवैये के साथ गेंदबाज़ी करना शुरू किया और इसका उन्हें काफ़ी लाभ मिला। आज उन्होंने 61 रन देकर सात विकेट लिए। उनका यह प्रदर्शन साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ किसी भी भारतीय गेंदबाज़ के द्वारा किया गया सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है।
हालांकि मार्को यानसन और और केशव महाराज के द्वारा आठवें विकेट के लिए 38 रनों की साझेदारी की गई जिसके कारण उनकी टीम बढ़त लेने में कामयाब रही। दोनों खिलाड़ियों ने 21-21 रनों का योगदान दिया। इस दौरान दोनों ने तीन-तीन चौके भी लगाए। बुमराह ने इन दोनों बल्लेबाज़ों को रोकने का प्रयास किया लेकिन आज वह धारदार यॉर्कर डालने में कामयाब नहीं हो पा रहे थे। हालांकि अंत में वह महाराज को बोल्ड करने में सफल रहे।
इसके बाद यानसन ने स्ट्राइक को अपने पास रखने की कोशिश की और बुमराह के अगले ओवर में दो चौके भी मारे, लेकिन ठाकुर ने पारी को समेटने के लिए चार गेंदों के अंतराल में यानसन और लुंगी एनगिडी को आउट कर दिया।
इसके बाद जब भारतीय टीम बल्लेबाज़ी करने आई तो केएल राहुल जल्दी ही आउट हो गए। वह यानसन की गेंद पर दूसरे स्लिप पर खड़े मारक्रम को कैच दे बैठे। यह एक लो कैच था। ऑन फ़ील्ड अंपायरों ने सॉफ़्ट सिग्नल में आउट का फ़ैसला देते हुए, इस कैच को चेक करने के लिए तीसरे अंपायर के पास जाने का फै़सला किया। हालांकि तीसरे अंपायर के पास नॉट आउट देने के लिए कोई निर्णायक सबूत नहीं था।
मयंक शुरुआत से ही काफ़ी सकारात्मक दिख रहे थे और उन्होंने कई शानदार चौके भी लगाए लेकिन वह भी ऑलिवियेर की एक अंदर आने वाली गेंद को पढ़ने में नाकाम रहे और पगबाधा आउट हो गए।
हालांकि चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे ने सुनिश्चित किया कि दूसरे दिन भारत कोई और विकेट न खोए। पुजारा ने 42 गेंदों में सात चौकों की मदद से 35 रन बनाकर दिन का अंत किया, जिसमें से दो चौके दिन के अंतिम ओवर में आए, जबकि रहाणे 11 रन पर बल्लेबाज़ी कर रहे थे।
इससे पहले, दूसरे दिन की शुरुआत में कीगन पीटरसन और डीन एल्गर ने बढ़िया बल्लेबाज़ी की और पहले घंटे में उनकी टीम ने कोई विकेट नहीं खोया। भारतीय गेंदबाज़ों ने कई मौक़ों पर दोनों बल्लेबाज़ों से कई प्रश्न पूछे लेकिन वह विकेट निकालने में सफल नहीं हो पाए।
हालांकि 88 के स्कोर पर उनका दूसरा विकेट गिरा, जब शार्दुल ने एल्गर का विकेट लिया। इसके बाद छोटी-मोटी साझेदारी तो हुई लेकिन शार्दुल की बढ़िया गेंदबाज़ी के कारण नियमित अंतराल पर विकेट गिरते रहे।

हेमंत बराड़ ESPNcricinfo के सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर राजन राज ने किया है।

Customize Your Page
Language
English
Hindi
मैच कवरेज
AskESPNcricinfo Logo

Instant answers to T20 questions

साउथ अफ़्रीका पारी
<1 / 3>