मैच (14)
IND v ENG (1)
WPL (1)
NZ v AUS (1)
रणजी ट्रॉफ़ी (4)
विश्व कप लीग 2 (1)
BPL 2023 (2)
PSL 2024 (1)
CWC Play-off (3)
फ़ीचर्स

ऐसा हुआ तो अभी भी प्‍लेऑफ़ में पहुंच सकती है आरसीबी

अन्‍य टीमों के परिणामों पर निर्भर रहने के अलावा जीतने होंगे अपने आख़ि‍री तीनों मैच

सबसे पहले आरसीबी को अपने बचे तीनों मैच जीतने जरूरी  •  BCCI

सबसे पहले आरसीबी को अपने बचे तीनों मैच जीतने जरूरी  •  BCCI

रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने नहीं सोचा होगा कि पांच मैचों में पांच हार के साथ डब्‍ल्‍यूपीएल की शुरुआत होगी। हालांकि एक बात यह भी है कि अभी वे अभी टूर्नामेंट से बाहर नहीं हुए हैं। इसके लिए उन्‍हें शीर्ष पर बैठी मुंबई इंडियंस और दिल्‍ली कैपिटल्‍स के प्रभुत्‍व का धन्‍यवाद करना होगा, क्योंकि तीसरा स्‍थान अभी भी खाली है और बेंगलुरु की टीम तीसरे स्थान तक पहुंचने के रेस से बाहर नहीं हुई है।
यहां तक कि अगर वे अपने आख़‍िरी तीनों मैच जीत जाते हैं तो भी मुमकिन है कि वे शीर्ष तीन में जगह बना लें और नेट रन रेट के कोई मायने नहीं हों। यदि मुंबई इंडियंस आरसीबी के मैच को छोड़कर सभी जीत जाए और यदि दिल्‍ली कैपिटल्‍स मुंबई इंडियंस के अलावा तीन में से बचे दो मैच जीत जाए तो दोनों टीम 14 और 12 अंक के साथ समाप्ति करेंगी।
जिसका मतलब है कि अन्‍य तीन टीमों के पास 14 अंक लेने का मौक़ा होगा। यदि यूपी वॉरियर्स अपने बचे तीनों मैच हार जाएं तो वह चार अंक पर रहेंगे, यदि गुजरात जायंट्स यूपी वॉरियर्स के अलावा अपने सभी मैच हार जाएं तो वे भी चार अंक पर समाप्ति करेंगे। ऐसे में छह अंक आरसीबी के लिए तीसरा स्‍थान पाने के लिए काफ़ी होंगे।
यदि यूपी या गुजरात दूसरे मैच जीत जाएं, तो भी मामला रन रेट पर आकर टिकेगा। मौजूदा समय में पांच में से पांच मैच हारने के बाद भी उनका नेट रन रेट(-2.109) गुजरात के रन रेट (-3.397) से बेहतर है।
यह उतार चढ़ाव अज़ीब लगते हैं लेकिन पहले ऐसा हुआ है। 2015-16 महिला बीबीएल में सिडनी सिक्‍सर्स अपने पहले छह मैच हारी थी, लेकिन बाद में लगातार आठ मैच जीतकर सेमीफ़ाइनल के लिए क्‍वालीफ़ाई कर गई, जहां उन्‍होंने होबार्ट हरिकेंस को हराया और फ़ाइनल में सिडनी थंडर से भिड़ी।
2014 आईपीएल में मुंबई इंडियंस पहले पांच मैच हारी, इसके बाद नौ में से सात मैच जीतकर प्‍लेऑफ़ के लिए क्वालीफ़ाई कर गई। आरसीबी को आगे निकलने के लिए अन्‍य टीमों पर निर्भर रहना है, लेकिन उससे पहले उन्‍हें वह करना है जो उनके कंट्रोल में है, यानि अपने तीनों मैच जीतना।

एस राजेश ESPNcricinfo स्‍टैट्स एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है।