मैच (17)
ENG v WI (1)
MLC (2)
Asia Cup (2)
विश्व कप लीग 2 (1)
LPL (1)
TNPL (1)
ENG v SL (U19) (1)
T20 Blast (8)
फ़ीचर्स

आंकड़े झूठ नहीं बोलते : क्या मयंक अग्रवाल को टीम में वापस लाना SRH के लिए साबित हो सकता है फ़ायदे का सौदा?

क्या क्रुणाल पंड्या, राहुल त्रिपाठी के ख़िलाफ़ अपना ट्रैक रिकॉर्ड बरक़रार रख पाएंगे

Adil Rashid struck off consecutive deliveries, Lucknow Super Giants vs Sunrisers Hyderabad, IPL 2023, Lucknow, April 7, 2023

आंकड़ों की मानें तो हैदराबाद को मयंक के साथ-साथ रशीद को भी टीम में वापस ले आना चाहिए  •  BCCI

आईपीएल इस समय वैसी स्थिति में है, जहां एक भी टीम को हार मंज़ूर नहीं है। शनिवार को जब हैदराबाद में सनराइज़र्स हैदराबाद और लखनऊ सुपर जायंट्स के बीच भिडंत होगी तो इसका नतीजा अंक तालिका की दशा और दिशा तय करने का बड़ा कारक सिद्ध होगा। ऐसे में कुछ ऐसे आंकड़ों को टटोलते हैं जिनका प्रभाव इस मुक़ाबले पर देखने को मिल सकता है।
मयंक को वापस लाना फ़ायदे का सौदा साबित हो सकता है
हैदराबाद के बल्लेबाज़ मयंक अग्रवाल राजस्थान रॉयल्स के ख़िलाफ़ पिछले मुक़ाबले में नहीं खेले। वह इस सीज़न अपनी लय ढूंढ़ पाने में अब तक असफल रहे हैं। हालांकि लखनऊ के गेंदबाज़ों के ख़िलाफ़ उनका ट्रैक रिकॉर्ड कहता है कि अगर हैदराबाद उन्हें इस मुक़ाबले में अपने दल में शामिल करती है तो यह न सिर्फ़ मयंक के लिए बल्कि ख़ुद उनकी टीम के लिए भी फ़ायदे का सौदा साबित हो सकता है।
मयंक ने लखनऊ के अधिकतर गेंदबाज़ों के ख़िलाफ़ 150 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं। के एल राहुल की अनुपस्थिति में टीम के कप्तान क्रुणाल पंड्या के ख़िलाफ़ तो उन्होंने 189 के स्ट्राइक रेट के साथ 27 गेंदों पर 51 रन भी बनाए हैं। हालांकि उन्हें क्रुणाल से ख़तरा भी है क्योंकि क्रुणाल ने मयंक को दो बार आउट भी किया है।
क्रुणाल पैदा कर सकते हैं राहुल के मन में मलाल
राजस्थान के ख़िलाफ़ पिछले मैच में मिली जीत का श्रेय अब्दुल समद को गया लेकिन राहुल त्रिपाठी इस जीत के सूत्रधारों में से एक थे। उन्होंने 29 गेंदों पर 47 रनों की पारी खेली। हालांकि आंकड़े कहते हैं कि राहुल इस मुक़ाबले में सस्ते में पवेलियन लौट सकते हैं लेकिन इसकी ज़िम्मेदारी ख़ुद कप्तान क्रुणाल और रवि बिश्नोई में से किसी एक को लेनी होगी।
क्रुणाल टी20 में राहुल को तीन बार जबकि बिश्नोई उन्हें एक बार पवेलियन लौटा चुके हैं। राहुल ने दोनों गेंदबाज़ों के ख़िलाफ़ महज़ 93 के स्ट्राइक से ही रन बनाए हैं।
पूरन और स्टॉयनिस को रोकने के लिए इस गेंदबाज़ को वापस लाना होगा
गुजरात टाइटंस के ख़िलाफ़ हुए हाई स्कोरिंग मुक़ाबले में मार्कस स्टॉयनिस और निकोलस पूरन भले ही उम्मीदों पर खरे नहीं उतर पाए लेकिन ये दोनों ही बल्लेबाज़ मैच का पासा पलटने की क्षमता रखते हैं, जिसका मुज़ाहिरा उन्होंने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के ख़िलाफ़ खेले इस सीज़न में पहले मुक़ाबले में किया था। हालांकि इन दोनों को ही रोकने के लिए हैदराबाद को अपनी टीम में आदिल रशीद को लेकर आना होगा। रशीद ने टी20 में पूरन को दो बार जबकि स्टॉयनिस को तीन बार अपना शिकार बनाया है। लखनऊ के ख़िलाफ़ इस सीज़न में खेले पिछले मुक़ाबले में रशीद ने दो विकेट भी झटके थे।
भुवनेश्वर पर निर्भर रहना हैदराबाद के लिए है फ़ायदेमंद?
भुवनेश्वर कुमार अभी भी हैदराबाद के गेंदबाज़ी लाइन अप की मज़बूत कड़ी हैं। क्विंटन डिकॉक और पूरन के ख़िलाफ़ टी20 में उनका रिकॉर्ड भी अच्छा है और हैदराबाद का मैदान उन्हें रास भी आता है। भुवी ने टी20 में पूरन को दो बार जबकि डिकॉक को एक बार शिकार बनाया है। हालांकि भुवी के ख़िलाफ़ पूरन ने 139 के स्ट्राइक रेट से 44 गेंदों पर 61 रन बनाए हैं, जबकि डिकॉक उनकी 61 गेंदों पर महज़ 97 के स्ट्राइक रेट से 59 रन ही बना पाए हैं। ऐसे में गुजरात के ख़िलाफ़ अपनी टीम को धारदार शुरुआत दिलाने वाले डिकॉक को इस बार भुवी बड़ी पारी से वंचित रख सकते हैं।