मैच (12)
आईपीएल (1)
USA vs BAN (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
T20I Tri-Series (1)
ख़बरें

स्मृति: 'मैं महिला बीबीएल छोड़ने के बारे में सोच रही हूं'

भारतीय टीम की उपकप्तान 2022 की शुरुआत से ही लगातार खेल रही हैं

Smriti Mandhana sends the ball towards the deep square-leg boundary, Melbourne Renegades vs Sydney Thunder, Women's Big Bash League, Mackay, November 17, 2021

स्मृति: एक महिला खिलाड़ी के तौर पर हम हमेशा अपने लिए इस तरह का शेड्यूल चाहते थे  •  Getty Images

भारतीय टीम की उपकप्तान स्मृति मांधना अपने कार्यभार का प्रबंधन करने और अंतर्राष्ट्रीय प्रतिबद्धताओं के लिए ख़ुद को फिट रखने के लिए महिला बिग बैश लीग (डब्ल्यूबीबीएल) से हटने पर विचार कर रही हैं।
2022 में स्मृति की शुरुआत फ़रवरी में न्यूज़ीलैंड दौरे पर वनडे सीरीज़ से हुई, फिर मार्च में न्यूज़ीलैंड में ही वनडे विश्व कप में भी उन्होंने शिरकत की। इसके बाद अप्रैल और मई में भारत में सीमित ओवरों के घरेलू टूर्नामेंट हुए। भारतीय टीम ने जून-जुलाई में श्रीलंका में वनडे और टी20 अंतर्राष्ट्रीय सीरीज़ खेली। जुलाई के अंत से अगस्त के पहले हफ़्ते तक भारत ने बर्मिंघम में आयोजित हुए कॉमनवेल्थ गेम्स में पांच टी20 अंतर्राष्ट्रीय खेले, जहां उन्हें रजत पदक से संतुष्ट होना पड़ा। स्मृति तब से यूके में हैं। कॉमनवेल्थ गेम्स के बाद उन्होंने महिला 'हंड्रेड' में सदर्न ब्रवे का प्रतिनिधित्व किया जो उपविजेता रही और अब वह भारत की इंग्लैंड के ख़िलाफ़ 10 सितंबर से शुरू हुई सीमित ओवरों की सीरीज़ में खेल रही हैं।
स्मृति ने प्रेस कॉन्फ़्रेंस में कहा, "मुझे लगता है कि मानसिक हिस्से से ज्यादा, यह थोड़ा सा शारीरिक हिस्सा प्रबंधन को लेकर है। निश्चित रूप से मैं महिला बीबीएल छोड़ने के बारे में सोच रही हूं क्योंकि मैं भारत के लिए खेलना मिस नहीं करना चाहती या भारत के लिए खेलते समय चोटिल नहीं होना चाहती क्योंकि जब मैं अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट खेलती हूं तो अपना सौ फ़ीसदी देना चाहती हूं।"
स्मृति ने ज़ोर देते हुए कहा कि वह वास्तव में इतना ज़्यादा हो रहे क्रिकेट के बारे में शिकायत नहीं कर रही थीं क्योंकि इस तरह का शेड्यूल महिला क्रिकेटरों को सालों से चाहिए था।
उन्होंने कहा, "मैं कुछ समय से काफ़ी व्यस्त हूं। वनडे विश्व कप के बाद मैं घरेलू और उन टूर्नामेंटों के लिए दौरे पर हूं, जिनका आपने उल्लेख [श्रीलंका दौरा, कॉमनवेल्थ गेम्स, महिला हंड्रेड] किया है। मैं बस अपने आप को यह बताने की कोशिश करती हूं कि कोविड के कारण हमने बहुत अधिक क्रिकेट नहीं खेला है और हमें उम्मीद थी कि हम वापस आएंगे और क्रिकेट खेलना शुरू करेंगे।
"और अब मैं शिकायत नहीं कर सकती कि हमारा शेड्यूल पैक है। एक महिला खिलाड़ी के रूप में हम हमेशा अपने लिए इस तरह का शेड्यूल चाहते थे। मैं इतना क्रिकेट खेलकर बहुत ख़ुश हूं और मेरा परिवार भी साथ रहा है, जैसे मेरी मां यहां हैं और वह हंड्रेड के समय भी यहां थीं। लिहाज़ा यह भी एक अच्छी मानसिकता में रहने में मदद करता है और टीम के साथी अद्भुत हैं। ऐसा लगता है कि हम एक साथ एक परिवार हैं।"

विशाल दीक्षित ESPNcricinfo में असिस्टेंट एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के एडिटोरियल फ़्रीलांसर कुणाल किशोर ने किया है।