परिणाम
दूसरा वनडे, पार्ल, January 21, 2022, भारत का साउथ अफ़्रीका दौरा

साउथ अफ़्रीका की 7 विकेट से जीत, 11 गेंद बाकी

प्लेयर ऑफ़ द मैच
क्विंटन डिकॉक, सा. अफ़्रीका
78 (66)
quinton-de-kock
रिपोर्ट

टेस्ट के बाद वनडे सीरीज़ में भी साउथ अफ़्रीका ने दी भारत को मात

मलान और डिकॉक के अर्धशतक पड़े पंत की पारी पर भारी

Janneman Malan and Quinton de Kock laid the foundation for South Africa's chase, South Africa vs India, 2nd ODI, Paarl, January 21, 2022

शतकीय साझेदारी के दौरान मलान और डिकॉक  •  AFP/Getty Images

साउथ अफ़्रीका 288/3 (मलान 91, डिकॉक 78) ने भारत 287/6 (पंत 85, राहुल 55, शम्सी 2-57) को सात विकेट से हराया
सलामी बल्लेबाज़ों यानेमन मलान और क्विंटन डिकॉक की शानदार अर्धशतकों की मदद से साउथ अफ़्रीका ने भारत को सात विकेट से हरा दिया। इस जीत के साथ साउथ अफ़्रीका ने टेस्ट के बाद वनडे सीरीज़ भी जीत लिया है।
टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करने उतरी भारतीय टीम को मध्यक्रम ने एक बार फिर से निराश किया। हालांकि ऋषभ पंत की 85 रन की बदौलत भारतीय टीम ने 288 का स्कोर खड़ा किया। हालांकि बीच के ओवरों में साउथ अफ़्रीकी गेंदबाज़ों की उम्दा गेंदबाज़ी के कारण वे 300 का स्कोर नहीं पार कर पाए।
इसके बाद डिकॉक ने साउथ अफ़्रीकी पारी को बेहतरीन शुरुआत दी। उन्होंने प्रत्येक गेंदबाज़ को निशाने पर रखा, लेकिन भुवनेश्वर कुमार उनका ख़ास निशाना बने। उन्होंने भुवनेश्वर कुमार के दूसरे ओवर में एक छक्का और दो चौका लगाकर पारी को मोमेंटम प्रदान किया। इसके बाद उन्होंने जसप्रीत बुमराह को भी नहीं बख़्शा। आठवें ओवर में गेंदबाज़ी करने आए आर अश्विन के ओवर में मलान के साथ 11 रन बनाकर उन्होंने टीम का पचासा पूरा किया। हालांकि इसी ओवर के दूसरी गेंद पर डिकॉक को जीवनदान भी मिला था, जब पंत ने स्टंपिंग का एक मौक़ा गंवा दिया। अगली ही गेंद पर डिकॉक ने स्लॉग स्वीप कर एक बेहतरीन छक्का लगाया।
दूसरे छोर से मलान कम आक्रामक थे, हालांकि जब भी उन्हें ख़राब गेंद मिला तो उन्होंने भी उसे सजा देने में कोई चूक नहीं की। उन्होंने तेज़ गेंदबाज़ों के पेस का इस्तेमाल किया और गैप में गेंद को ड्राइव कर रन बंटोरे। स्पिनरों पर उन्होंने स्वीप और रिवर्स स्वीप किया। डिकॉक ने 36 गेंद में अपना अर्धशतक पूरा किया। उन्होंने भुवनेश्वर पर लांग ऑन पर लंबा छक्का जड़ टीम के 100 रन पूरे किए। 2019 विश्व कप से भारत के ख़िलाफ़ 23 मैचों में यह आठवीं सलामी शतकीय साझेदारी है।
132 के स्कोर पर शार्दुल ठाकुर ने इस साझेदारी को तोड़ा। उनकी इनस्विंगिग लो फुलटॉस गेंद पर डिकॉक (78) पगबाधा आउट हुए। इसके बाद मलान का साथ देने कप्तान तेम्बा बवूमा आए। दोनों ने धीरे-धीरे करके पारी को आगे बढ़ाया और पचास रन की साझेदारी पूरी की। हालांकि इसके तुरंत बाद मलान बुमराह की अंदर आती धीमी ऑफ़कटर गेंद पर बल्ला अड़ा बैठे और प्लेड ऑन हो गए। हालांकि उन्होंने अपना काम कर दिखाया था और अब साउथ अफ़्रीका को 92 गेंदों पर सिर्फ़ 76 रन की ज़रूरत थी। बवूमा भी 35 रन के निजी स्कोर पर युज़वेंद्र चहल को रिटर्न कैच थमा बैठे। लेकिन इसके बाद रासी वैन दर दुसें और ऐडन मार्करम ने बेहद आसानी से टीम को जीत की दहलीज पर पहुंचा दिया।
इससे पहले बल्लेबाज़ी करते हुए भारतीय टीम को शिखर धवन और केएल राहुल ने सावधान शुरुआत दी। दोनों ने 11.4 ओवर में 63 रन जोड़े। मारक्रम पर आक्रमण करने के चक्कर में धवन डीप मिडविकेट पर अपना विकेट गंवा बैठे। वहीं दूसरे छोर पर धीमा खेल रहे राहुल को 8, 27 और 42 के स्कोर पर तीन महत्वपूर्ण जीवनदान मिले।पांचवें ओवर में उन्हें मलान ने गली पर टपकाया, इसके बाद वह एक आसान रन आउट होने से बचे, जबकि 27वें ओवर में मारक्रम ने भी उनका कैच छोड़ा। इन जीवनदानों की बदौलत राहुल ने 79 गेंदों में चार चौकों की मदद से 55 रन बनाए। दूसरी छोर पर पूर्व कप्तान विराट कोहली पांच गेंद पर शून्य रन बनाकर आउट हुए।
इसके बाद राहुल का साथ देने आए पंत ने खुलकर शॉट खेले। उन्होंने तब रन बनाए जब केशव महाराज और मारक्रम ने भारत की रन गति को एकदम से रोक दिया था। पंत ने स्लॉग स्वीप, स्क्वेयर कट और स्लैप शॉट की बदौलत खुल कर रन बंटोरे और 24वें ओवर में ही रनों के मामलों में केएल राहुल से आगे निकल गए। शम्सी के इस ओवर में पंत ने तीन चौके लगाए। उस समय भारत का स्कोर 179 रन पर दो विकेट था और भारतीय टीम 300 रन की तरफ़ बढ़ रही थी।
लेकिन इसके बाद राहुल और पंत तुरंत लगातार ओवरों में आउट हो गए। चार ओवर के बाद शम्सी ने श्रेयस अय्यर को भी पगबाधा आउट करा दिया। इसके बाद वेंकटेश अय्यर ने शार्दुल ठाकुर के साथ पारी को आगे बढ़ाने की कोशिश की, लेकिन अय्यर 22 रन के निजी स्कोर पर एंडिले फेहुक्वायो की लेग स्टंप से बाहर जाती गेंद पर स्टंप आउट हो गए। अब भारत का स्कोर 44 ओवर में 239 रन पर छह विकेट था। इसके बाद शार्दुल और अश्विन ने 38 गेंदों में 48 रन जोड़े और भारतीय टीम को एक सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया। हालांकि यह स्कोर भी बाद में नाकाफ़ी साबित हुआ।

विशाल दीक्षित ESPNcricinfo में सहायक संपादक हैं, अनुवाद ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो हिंदी के उप संपादक दया सागर ने किया है

Customize Your Page
Language
English
Hindi
AskESPNcricinfo Logo

Instant answers to T20 questions

साउथ अफ़्रीका पारी
<1 / 3>