ख़बरें

करुणारत्ना चटगांव में बल्लेबाज़ी के लिए अनुकूल पिच की उम्मीद रख रहे हैं

श्रीलंकाई कप्तान के अनुसार अनुभवी गेंदबाज़ो की अनुपस्थिति में युवा खिलाड़ियों के लिए ज़बरदस्त मौक़ा है

Dimuth Karunaratne leads the Sri Lanka huddle, India vs Sri Lanka, 2nd Test, 2nd day, Bengaluru, March 13, 2022

श्रीलंकाई कप्तान के अनुसार यह सरीज़ युवा गेंदबाज़ों के लिए एक अच्छा अनुभव होगा।  •  BCCI

चटगांव में पिछले आठ सालों में श्रीलंका ने दो टेस्ट मैच खेले हैं और दोनों में बड़े स्कोर के चलते मैच ड्रॉ रहे थे। वर्तमान कप्तान दिमुथ करुणारत्ना दोनों मैच का हिस्सा थे और उन्होंने ख़ुद तीन पारियों में 46 रन बनाए थे लेकिन उनकी सबसे स्पष्ट यादें बाक़ी के बल्लेबाज़ों को भी जी भर के रन बनाते हुए देखने से जुड़ी होंगी।
दोनों मैचों में कुल 1,400 से अधिक रन बने और रविवार को शुरू होने वाले पहले टेस्ट से भी श्रीलंकाई कप्तान कुछ ऐसी ही उम्मीद रख रहे हैं। हालांकि इस मैदान पर पिछले तीनों मेहमान टीम ने टेस्ट जीता है। हर एक जीत के पीछे कुछ अविश्वसनीय एकल प्रदर्शन थे। अफ़ग़ानिस्तान के लिए राशिद ख़ान ने टेस्ट में 11 विकेट लिए थेकुल 14 विकेट लेते हुए शाहीन शाह अफ़रीदी और हसन अली बने थे पाकिस्तान की जीत में नायक। वेस्टइंडीज़ को एक चौथी पारी में पीछा करते हुए जीत दिलाने में काइल मेयर्स को तो विश्व रिकॉर्ड भी बनाना पड़ा था।
शुक्रवार को करुणारत्ना ने कहा, "यह विकेट भी पिछले दोनों टेस्ट की तरह बल्लेबाज़ी के लिए अनुकूल होगी और नतीजा निकालना आसान नहीं होगा। फिर भी हमें पूरी कोशिश करनी होगी कि हम ऐसे टीम चुने जो 20 विकेट ले और मैच जीतने में मदद कर सके।" इस टेस्ट मैच में श्रीलंका की गेंदबाज़ी में अनुभव की कमी साफ़ है। सुरंगा लकमल टेस्ट से संन्यास ले चुके हैं और दुष्मंता चमीरा को विश्राम दिया गया है। ऐसे में तेज़ गेंदबाज़ी का क्रम विश्वा फर्नांडो संभालेंगे। पिच में स्पिन के लिए मदद की उम्मीद कम है और ऐसे में एक विकल्प हो सकता है एक अतिरिक्त विशेषज्ञ गेंदबाज़ का चयन।
करुणारत्ना ने कहा, "यह युवा गेंदबाज़ों के लिए एक अच्छा अनुभव होगा। हम इस दौरे पर अच्छे तैयारी के साथ आए हैं। नेशनल सुपर लीग के बाद एक अभ्यास कैंप भी कुछ हफ़्तों तक चला था। तेज़ गेंदबाज़ी में कसुन रजिता हैं जिनके साथ मैंने काफ़ी खेला है। विश्वा अच्छे फ़ॉर्म में थे टूर्नामेंट में। प्लेइंग XI में शामिल होने के लिए गेंदबाज़ों में अच्छी प्रतिस्पर्धा होगी। बतौर एक सीनियर खिलाड़ी यह देखने में अच्छा लगता है।"
यह दौरा नए कोच क्रिस सिल्वरवुड का भी पहला अभियान होगा। इस बारे में करुणारत्ना ने कहा, "क्रिस एक अनुभवी कोच हैं और हमने उनकी क़ाबिलियत पिछले साल ही देखी थी जब वह इंग्लैंड टीम के साथ श्रीलंका आए थे और सीरीज़ जीते थे। उन्होंने जताया है कि वह बहुत जल्दी बहुत कुछ नहीं बदलना चाहते और खिलाड़ियों को स्वतंत्रता से खेलने देना चाहते हैं। उन्हें चुनौतियां पसंद हैं और वह हमसे निर्भीक क्रिकेट की उम्मीद रखते हैं। हलांकि उनकी सोच और उनके इरादों को हम धीरे-धीरे ही अपनी गेम में शामिल करेंगे। मुझे लगता है आप को उनकी रणनीति के चलते हमारे गेम में 20 से 30 प्रतिशत की बढ़ौतरी दिखेगी। अभी उनके जुड़े हुए कुछ ही हफ़्ते हुए हैं तो बड़े बदलाव की उम्मीद सही नहीं होगी।"
चटगांव के मैदान पर अगर बल्लेबाज़ी आसान होगी तो निरोशन दिकवेला को अपना पहला टेस्ट शतक मारने का मौक़ा मिलेगा। दिकवेला फ़िलहाल बिना शतक लगाए अधिकतम टेस्ट पारी खेलने वालों की सूची में दूसरे स्थान पर हैं और इस बारे में करुणारत्ना ने कहा, "उनकी कीपिंग में कोई खोट नहीं लेकिन मैंने उन्हें कई बार बताया है कैसे वह अपने लक्ष्य को टीम की ज़रूरतों के हिसाब से सटीक बना सकते हैं। सातवें नंबर पर शतक बनाने वाला विकेटकीपर टीम को मज़बूत स्थिति में डालता है लेकिन शायद हमारे टीम को देखते हुए दिकवेला के लिए पुछल्ले बल्लेबाज़ों के साथ खेलते हुए सैंकड़ा लगाना मुश्किल है। हालांकि उन्हें मौक़े मिले हैं और उन्होंने इन्हें गंवाए हैं। एक नया विकेटकीपर बल्लेबाज़ [कामिल मिशारा] भी टीम में हैं और इससे उनपर थोड़ा दबाव का संचार भी होगा।"