रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु 204/4 (मैक्सवेल 78, डीविलियर्स 76*, चक्रवर्ती 2-39) ने कोलकाता नाइट राइडर्स 166/8 (रसल 31, जेमिसन 3-41, हर्षल 2-17, चहल 2-34) को 38 रनों से हराया।

ग्लेन मैक्सवेल और एबी डीविलियर्स की धमाकेदार अर्धशतकों की बदौलत रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने चेपॉक के मैदान में हैट्रिक जीत दर्ज की और कोलकाता नाइट राइडर्स को हराकर अपने चेन्नई लेग का सुखद अंत किया।

मैक्सवेल ने इस सीज़न का अपना दूसरा अर्धशतक लगाते हुए 49 गेंदों में 78 रन बनाया, वहीं डीविलियर्स ने 34 गेंदों पर नाबाद 76 रनों की पारी खेली। इन दोनों ने मिलकर कुल 18 चौके और 6 छक्के लगाए, जिससे रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने 4 विकेट खोकर 204 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया। इससे पहले बेंगलुरु के कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करने का फैसला किया था।

205 रनों के बड़े लक्ष्य का पीछा करने उतरी कोलकाता की टीम ने आक्रामक शुरूआत की, लेकिन उसके विकेट भी नियमित अंतराल पर गिरते रहे। शुभमन गिल, राहुल त्रिपाठी और ऑएन मोर्गन ने सधी हुई और तेज शुरुआत की, अंत में आंद्रे रसल ने भी तेज 20 गेंदों पर 31 रन बनाए, लेकिन ये रन उनके द्वारा दिए गए अपने अंतिम दो ओवरों में 38 रन की तुलना में काफी कम रह गए। इस जीत के बाद कोहली की टीम अंक तालिका में सबसे ऊपर बनी हुई है, वहीं कोलकाता नाइट राइडर्स तीन मैच में दो हार के बाद अंक तालिका में अंतिम तीन में पहुंच गई है।

चक्रवर्ती के लिए मिला-जुला दिन

कोलकाता ने लगातार तीसरे मैच में अपनी गेंदबाज़ी की शुरूआत हरभजन सिंह के साथ की और विराट कोहली ने उनकी एक फ्री हिट गेंद को चार रन मारकर आक्रामक अंदाज के संकेत दिए। हालांकि अगले ही ओवर में उन्हें वरूण चक्रवर्ती ने कवर पर राहुल त्रिपाठी के हाथों कैच कराकर पवेलियन भेजा। चार गेंदों के बाद उन्होंने रजत पाटीदार को भी एक स्लाइडर गेंद पर बोल्ड कर अपनी टीम को दूसरी सफलता दिलाई, जो कि डेनियल क्रिस्टियन की जगह बेंगलुरु की टीम में आए थे।

हालांकि इसके बाद आश्चर्यजनक रूप से कोलकाता ने चक्रवर्ती को गेंदबाज़ी आक्रमण से हटा दिया, जबकि उस समय देवदत्त पडिक्कल और मैक्सवेल जैसे बल्लेबाज़ क्रीज़ पर थे। पॉवरप्ले के बाद जब वह फिर से गेंदबाज़ी के लिए लौटे, तो इस जोड़ी ने उनके एक ओवर में 14 रन बनाए। अपने अंतिम स्पेल में वरूण ने 12 गेंदों पर 22 रन लुटाए। मॉर्गन के फैसले पर सवाल उठ रहा है कि पॉवर प्ले में दोहरी सफलता के बाद उन्होंने चक्रवर्ती को गेंदबाजी से क्यों हटा दिया?

मैक्सवेल दिल से, एक बार फिर से

मैक्सवेल जब आए, तब गेंद नई थी और उन्होंने सेट होने के लिए समय भी लिया। उन्होंने अपने पहले 7 गेंदों पर सिर्फ 7 रन ही बनाए, जो कि उनके आक्रामक तेवर के बिल्कुल विपरीत है। इसके अलावा उन्हें भाग्य का भी सहारा मिला, जब पैट कमिंस की एक गेंद उनके बल्ले का भीतरी किनारा लेते हुए लेग स्टंप के बिल्कुल पास से निकली। लेकिन इसके बाद मैक्सवेल ने धागा खोलते हुए शाकिब के अगले ओवर में ही मिड विकेट पर एक छक्का और स्विच हिट के सहारे प्वाइंट पर एक दर्शनीय चौका लगाया।

शाकिब के इस ओवर में कुल 17 रन बने और बेंगलुरु का स्कोर पॉवर प्ले की समाप्ति पर 6 ओवर में 45 रन पर 2 विकेट था। इसके बाद मैक्सवेल ने अगले पांच ओवरों में पांच चौके और एक छक्का लगाया, जिसमें कमिंस पर प्वाइंट और मिड ऑफ के ऊपर से चौका, चक्रवर्ती पर लांग ऑन और स्क्वेयर लेग की दिशा में चौका और छक्का, प्रसिद्ध कृष्णा पर प्वाइंट की ओर चार रन और हरभजन सिंह के खिलाफ एक्स्ट्रा कवर पर एक शानदार चौका शामिल है। 12वें ओवर में मैक्सवेल का स्कोर 34 गेंद पर 60 रन था, उस समय तक पड्डिकल 25 गेंद में 28 रन बनाकर आउट हो चुके थे।

इसके बाद उनका साथ देने डीविलियर्स आए। मैक्सवेल ने अपनी धुआंधार बैटिंग जारी रखते हुए कमिंस पर चौका और चक्रवर्ती पर कवर के ऊपर से छक्का जड़ा। हालांकि अपने स्पेल के अंतिम गेंद पर कमिंस ने मैक्सवेल को चलता कर बेंगलुरु को एक बड़ा झटका दिया। उस समय 17 ओवर की समाप्ति तक बेंगलुरु का स्कोर 148 रन पर 3 विकेट था।

डीविलियर्स का धमाका

डीविलियर्स जब क्रीज पर आए तो उस समय रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु का स्कोर 11.1 ओवर में 95 रन पर 3 विकेट था। पहले उन्होंने कुछ सिंगल और डबल चुराए और फिर आंखें जमने के बाद बल्ला चलाया। चक्रवर्ती के 15वें ओवर में उन्होंने दो चौका बटोरा और फिर कृष्णा पर भी लगातार दो बॉउंड्रीज लगाया। इससे उनका स्कोर 18 गेंद पर 31 रन हो गया।

लेकिन मैक्सवेल के आउट होने के बाद और आक्रामक होते हुए उन्होंने पारी के 18वें और आंद्रे रसल के पहले ओवर में एक छक्का और दो चौका लगाया। इसके बाद उन्होंने हरभजन सिंह पर एक्स्ट्रा कवर के ऊपर से छक्का लगाते हुए 27 गेंदों में अपना अर्धशतक पूरा किया। पारी के अंतिम और रसल के दूसरे ओवर में डीवलियर्स ने 21 रन जोड़े, जिसमें 3 चौके और एक छक्का शामिल था। इसके अलावा दूसरे छोर से काइल जेमिसन ने भी 4 गेंदों पर 11 रन की उपयोगी पारी खेली। रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु ने अंतिम 3 ओवरों में 56 रन बनाए और इसकी बदौलत उनका स्कोर 204 रनों तक पहुंचा। डीविलियर्स ने 34 गेंदों पर नाबाद 76 रन बनाए।

नाइटराइडर्स के शीर्ष क्रम की असफलता

गिल ने मोहम्मद सिराज के पहले ओवर में कवर पर चौका लगाकर अच्छी शुरूआत की। फिर जेमिसन के अगले ओवर में उन्होंने दो छक्का और एक चौका लगाया। लेकिन जेमिसन के ओवर की पांचवीं गेंद पर वह मिड ऑन के ऊपर से मारने के चक्कर में लपके गए। गिल ने 9 गेंदों पर 21 रन बनाया।

नंबर तीन पर आए राहुल त्रिपाठी ने 19 गेंदों पर पांच चौकों की मदद से 25 रन बनाए, लेकिन वाशिंगटन सुंदर की एक धीमी गेंद पर चकमा खाते हुए वह मिडविकेट पर अपना कैच दे बैठे। हालांकि फॉर्म में चल रहे नीतिश राणा अभी दूसरे छोर पर जमे हुए थे। उन्होंने युजवेंद्र चहल की तीन गेंदों पर दो चौके लगाकर सातवें ओवर की शुरूआत की लेकिन अगली ही गेंद पर वह डीप मिडविकेट पर लपके गए। उन्होंने 18 रन बनाए। चहल का इस सीजन में यह पहली सफलता थी।

राणा के बाद बल्लेबाज़ी के लिए पूर्व कप्तान दिनेश कार्तिक भी चहल के रॉन्ग-अन के चंगुल में फंस गए और कोलकाता का स्कोर 8.3 ओवर में 74 रन पर 4 विकेट हो गया।

रसल के लिए एक कठिन टास्क

मॉर्गन और शाकिब ने मोमेंटम को तो बनाए रखा, लेकिन तेज रन नहीं बना सके। मॉर्गन ने 2 छक्के और एक चौके की मदद से 23 गेंदों में 29 रन बनाए। वहीं शाकिब ने 25 गेंदों पर 26 रन बनाए, जिसमें एक चौका और एक छक्का शामिल था।

मॉर्गन के आउट होने के बाद कोलकाता को जीत के लिए 38 गेंदों पर 91 रन की जरूरत थी। रसल ने पारी के 17वें ओवर में युजवेंद्र चहल पर लगातार 4 गेंदों पर 6,4,4,4 का स्कोर बनाया। लेकिन इसके बाद भी अंतिम तीन ओवरों में कोलकाता के लिए आवश्यक रन रेट 20 से ऊपर का था। इसके बाद अंतिम तीन ओवरों में क्रमशः जेमिसन, सिराज और हर्षल पटेल ने शानदार गेंदबाज़ी की और रसल को मैच में अपनी टीम को वापसी करने का कोई मौका नहीं दिया। पटेल ने अपने चार ओवर में सिर्फ 17 रन देकर दो विकेट लिए, वहीं जेमिसन का आंकड़ा 3/41 रहा।

श्रेष्ठ शाह (@sreshthx) ESPNcricinfo में सब-एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब-एडिटर दया सागर (@dayasagar95) ने किया है।