बांग्लादेश 181/7 (महमुदउल्लाह 50, शाकिब 46) ने पापुआ न्यू गिनी 97 (डोरिगा 46*, शाकिब 4-9, तस्कीन 2-12) को 84 रनों से हराया

जिस वक़्त सुपर 12 में पहुंचने के लिए नेट रनरेट एक जरूरी पैमाना बन रहा था, उस वक़्त इन सारे समीकरणों को दरकिनार करते हुए बांग्लादेश की टीम पापुआ न्यू गिनी को 84 रन के बड़े अंतर से हराते हुए सीधे सुपर 12 में पहुंच गई। इस बड़ी जीत के बाद बांग्लादेश का नेट रनरेट 1.7333 हो गया, जिसका परिणाम यह रहा कि अब सुपर 12 में पहुंचने की होड़ में सिर्फ़ ओमान और स्कॉटलैंड की टीम हैं। इन दोनों टीमों में से जो भी जीतेगा वह सुपर 12 में पहुंचेगा।

182 रनों के बड़े लक्ष्य का पीछा करते हुए पीएनजी की शुरुआत काफ़ी ख़राब रही और उन्होंने 29 के स्कोर पर अपना सात विकेट गंवा दिए थे। एक समय ऐसा लग रहा था कि न्यूनतम स्कोर बनाने के मामले में कहीं पीएनजी की टीम नीदरलैंड का रिकॉर्ड ना तोड़ दें। हालांकि किप्लिन डोरिगा ने ऐसी किसी संभावनाओं को दूर करते हुए 46 रन बनाए और पीएनजी के स्कोर को 97 रनों तक पहुंचा दिया।

वहीं बांग्लादेश की तरफ से महमुदउल्लाह ने 28 गेंदों पर 50 रन बनाए और शाकिब ने 37 गेंदों में 46 रन बनाए। टीम के स्कोर को 181 तक पहुंचने के लिए मोहम्मद सैफ़ुद्दीन ने अंतिम ओवर में कई बड़े शॉट्स लगाए और छह गेंदों में ताबड़तोड़ 19 रन बटोरे।

शाकिब का बल्ले के साथ बढ़िया प्रदर्शन

शाकिब और लिटन दास के बड़े हिट्स की बदौलत कई दिनों के बाद बांग्लादेश के लिए उनका पावरप्ले बढ़िया रहा। वे छह ओवर के बाद एक विकेट के नुकसान पर 45 बनाने में कामयाब रहे। पिछले आठ मैचों के दरमियान यह पहला मौक़ा था जब बांग्लादेश ने पावरप्ले में 40 से अधिक रन बनाए। लिटन ने 23 गेंदों में 29 रनों की पारी खेली, लेकिन शाकिब ने कड़ी मेहनत करना जारी रखा और कई बार विकटों के बीच तेज़ी से भागते हुए एक रन को दो में तब्दील किया। उन्होंने 37 गेंदों में 46 रनों की पारी खेली जिसमें तीन छक्के भी शामिल थे।

मोहम्मद इसाम ESPNcricinfo के बांग्लादेशी संवाददाता हैं। अनुवाद ESPNcricinfo के सब एडिटर राजन राज ने किया है।