बड़ी तस्वीर

ग्यारह दिन पहले जब ये टीमें वार्म-अप में मिली थीं, तो किसी भी पक्ष ने कल्पना नहीं की होगी कि वे इतनी जल्दी फिर से आमने-सामने होंगी। स्कॉटलैंड की हार और बाद में आईसीसी की एक प्रेस विज्ञप्ति ने बताया कि ये दोनों टीम सुपर 12 में एक ही ग्रुप में शामिल हो गए हैं। दोनों में से कोई भी टीम जो इस ग्रुप से आगे निकलकर सेमीफ़ाइनल में जगह बनाना चाहेगी, तो उन्हें ऑस्ट्रेलिया, साउथ अफ़्रीका, वेस्टइंडीज़ और इंग्लैंड जैसी टीमों का सामना करना होगा।

दोनों ही टीमों में समानताएं हैं। दोनों के पास एक बेहतरीन स्टार ऑलराउंडर है। बांग्लादेश के लिए शाकिब अल हसन और श्रीलंका के पास वानिंदु हसरंगा हैं। दोनों टीमों के पास बेहतरीन तेज़ गेंदबाज हैं। श्रीलंका के पास दुष्मंता चमीरा और लाहिरू कुमारा की 145 किमी प्रति घंटा से ज़्यादा की गति है, जबकि बांग्लादेश के पास मुस्तफ़िज़ुर रहमान जैसा दिमाग से गेंदबाज़ी करने वाला गेंदबाज़, जिनकी विविधता कमाल की है।

हालांकि, श्रीलंका को लग सकता है कि उनके आक्रमण में अभी बढ़त है, क्योंकि पहले दौर में उन्होंने विरोधी टीमों को 96, 101 और 44 पर ढेर कर दिया था। अगर मिस्ट्री स्पिनर महीश थीक्षना खेलने के लिए पर्याप्त रूप से फ़िट हैं, तो बांग्लादेश को इस पहेली का पता करने के लिए अतिरिक्त बोझ लेकर चलेगा।

हालांकि, बांग्लादेश के पास अधिक विश्वसनीय मध्य क्रम है, भले ही उसने अभी तक उतना क्लिक नहीं किया है। श्रीलंका के सबसे अनुभवी बल्लेबाज़ कुसल परेरा अभी भी फ़ॉर्म ढूंढ रहे हैं, जिन्होंने 55 टी20 अंतर्राष्ट्रीय पारियां खेली हैं। तुलना करके देखें तो शाकिब, मुश्फ़ि‍कुर रहीम और महमुदउल्लाह ने 90 से अधिक पारियां खेली हैं। पहले दौर में, श्रीलंका का का गेंदबाज़ी आक्रमण उनके शीर्ष क्रम की कमियों को कवर करने में सक्षम था, लेकिन नामीबिया, आयरलैंड और नीदरलैंड के बल्लेबाज़ों की तुलना में बांग्लादेश को चमीरा की शॉर्ट गेंद या हसरंगा की गुगली से प्रभावित होने की संभावना कम ही होगी।

इस बार श्रीलंका से बहुत कुछ की उम्मीद नहीं है, लेकिन उनके पास वैश्विक टूर्नामेंट में कमाल का प्रदर्शन करने की प्रवृत्ति है। कुछ ऐसा जो 2019 के वनडे विश्व कप में भी सही साबित हुआ। वहीं बांग्लादेश के बारे में ऐसा नहीं कहा जा सकता है। अगर उन्हें इस प्रतिष्ठा को बदलना है तो वे श्रीलंका के ख़िलाफ़ जीत के साथ शुरुआत करना चाहेंगे।

पिछले पांच मुक़ाबले

बांग्लादेश : जीत, जीत, हार, हार, जीत श्रीलंका : जीत, जीत, जीत, हार, हार

नज़र में रहेंगे ये खिलाड़ी

मुशफ़िकुर रहीम ने टूर्नामेंट में अब तक वास्तव में कमाल नहीं किया है, लेकिन श्रीलंका के ख़िलाफ़ मैच में रहीम ने शायद ही कभी रन बनाने का मौका गंवाया हो। उनके नाम श्रीलंका के ख़िलाफ़ 148 के स्ट्राइक रेट से 239 रन हैं, जो कि सुपर 12 में शामिल किसी भी टीम के ख़िलाफ़ सबसे बेहतर है। हालांकि, उन्होंने 2018 के बाद से श्रीलंका के ख़िलाफ़ कोई टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच नहीं खेला है। वैसे भी अब क्वालीफ़ाइंग दौर में श्रीलंका की प्लेइंग इलेवन में कोई ऐसा गेंदबाज़ नहीं है, जिसके ख़िलाफ़ रहीम खेले हों। तो रहीम इस ग्रुप से कैसे निपटेंगे?

जब श्रीलंका मिडिल ईस्ट में पहुंचा, तो लाहिरू कुमारा का नाम अंतिम 11 से बहुत दूर था। चार अभ्यास मैचों (ओमान के ख़िलाफ़ दो) और पहले दौर में वह शायद दुष्मंता चमीरा से भी अधिक प्रभावशाली रहे हैं। उन्होंने टूर्नामेंट में अब तक तीन मैचों में सात विकेट लिए हैं, लेकिन उनकी 3.61 की इकॉनमी रेट वास्तव में प्रभावशाली है। वह पिछले कुछ महीनों में गेंदबाज़ी कोच चामिंडा वास के साथ काम कर रहे हैं और अब वह सीमित ओवरों के बेहतर गेंदबाज़ हैं। उनका यॉर्कर पिछले तीन हफ्तों में विशेष रूप से विनाशकारी रहा है।

पिच रिपोर्ट

आईपीएल के अंत में शारजाह के ट्रैक स्पिनरों को मदद कर रहे थे। ये विकेट धीमे हो गए हैं। तापमान में और तेज़ी आने की संभावना है क्योंकि यह दोपहर का मैच है, इसलिए ओस की कोई चिंता नहीं है।

टीम न्यूज़

श्रीलंका की टीम को थीक्षणा की फ़िटनेस रिपोर्ट का इंतज़ार है, जिन्हें नीदरलैंड के ख़िलाफ़ मैच में चोट लगी थी। अगर वह नहीं खेलते हैं तो उम्मीद है अकिला धनंजया उनकी जगह लेंगे।

श्रीलंका (संभावित): 1 पथुम निसंका, 2 कुसल परेरा (विकेटकीपर), 3 चरिथ असलंका, 4 अविष्का फर्नांडो, 5 भानुका राजपक्षा, 6 दसून शनाका (कप्तान), 7 चमिका करुणारत्ने, 8 वनिंदु हसरंगा, 9 बिनुरा फ़र्नांडो, 10 महीश थीक्षना/अकिला धनंजय, 11 लाहिरू कुमारा

बांग्लादेश (संभावित): 1 मोहम्मद नईम, 2 लिटन दास, 3 शाकिब अल हसन, 4 मुशफ़िकुर रहीम, 5 महमूदुल्लाह (कप्तान), 6 अफ़िफ़ हुसैन, 7 नुरुल हसन (विकेटकीपर), 8 महेदी हसन, 9 मोहम्मद सैफ़ुद्दीन, 10 तस्कीन अहमद , 11 मुस्तफ़िज़ुर रहमान

ऐंड्रयू फ़िडेल फ़र्नांडो ESPNcricinfo के श्रीलंका संवाददाता हैं, अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सीनियर सब ए़डिटर निखिल शर्मा ने किया है