मैच (9)
द हंड्रेड (पुरुष) (2)
CWC League 2 (1)
द हंड्रेड (महिला) (2)
महाराजा टी20 (2)
ओमान बनाम बहरीन (1)
वेस्टइंडीज़ बनाम न्यूज़ीलैंड (1)
परिणाम
फ़ाइनल, बेंगलुरु, June 22 - 26, 2022, रणजी ट्रॉफ़ी
374 & 269
(T:108) 536 & 108/4

एमपी की 6 विकेट से जीत

प्लेयर ऑफ़ द मैच
116 & 30
shubham-sharma
प्लेयर ऑफ़ द सीरीज़
982 runs
sarfaraz-khan
रिपोर्ट

शुभम और यश के शतकों से मज़बूत स्थिति में मध्य प्रदेश

रजत पाटीदार ने भी लगाया उपयोगी पचासा

Shubham Sharma and Yash Dubey run between the wickets, Mumbai vs MP, Ranji Trophy 2021-22 final, Bengaluru, June 24, 2022

यश और शुभम के बीच 222 रनों की साझेदारी हुई।  •  PTI

मध्य प्रदेश 368 पर 3 (शुभम 116, यश 133, पाटीदार 64) मुंबई 374 (सरफ़राज़ 134, जायसवाल 7, गौरव 4-106) से 6 रन पीछे
मुंबई की टीम को उस दवाई का स्वाद मिला है, जिसे वह सबको खिला रही थी, यह कहना अतिश्योक्ति नहीं होगी।
यश दुबे और शुभम शर्मा ने लगभग दो सत्रों तक बल्लेबाज़ी की। इस दौरान उन्होंने रक्षात्मक बल्लेबाज़ी करते हुए, पिच पर ज़्यादा से ज़्यादा वक़्त बिताने का प्रयास किया। इसी रणनीति के साथ मुंबई कई टीमों के ख़िलाफ़ सफलता हासिल कर चुकी है। इस बार यह रणनीति मध्य प्रदेश के बल्लेबाज़ों ने मुंबई के ख़िलाफ़ ही प्रयोग में लाई। यश और शुभम के बीच 222 रनों की साझेदारी हुई। इस साझेदारी की मदद से उनकी टीम रणजी ट्रॉफ़ी फ़ाइनल के तीसरे दिन बढ़िया स्थिति में थी।
साल 1998-99 के रणजी फ़ाइनल में मध्य प्रदेश की टीम में पहली पारी में बढ़त ले ली थी। इसके बावजूद उनकी टीम उस मैच में कमज़ोर पड़ गई थी। हालांकि मौजूदा मैच में मध्य प्रदेश बढ़िया स्थिति में है। उन्होंने बस तीन विकेट गंवाए हैं और अभी भी कई बढ़िया बल्लेबाज़ों का पिच पर आना बाक़ी है। वहीं मुंबई को अगर इस मैच में वापसी करनी है तो उन्हें काफ़ी मशक़्क़त करनी होगी।
पिच जिस तरीक़े से बल्लेबाज़ों की मदद कर रही है और मुंबई की गेंदबाज़ी को देखते हुए ये ज़रूर कहा जा सकता है कि मध्य प्रदेश के खिलाड़ियों को अपने कोच के एक साधारण से संदेश का अनुसरण करना चाहिए - 'मैच अभी ख़त्म नहीं हुआ है।'
मध्य प्रदेश की तरफ़ से फ़िलहाल रजत पाटीदार और कप्तान आदित्य श्रीवास्तव बल्लेबाज़ी कर रहे हैं। तीसरे दिन की शुरुआत मध्य प्रदेश ने 251 के स्कोर से की। मध्य प्रदेश के दोनों सलामी बल्लेबाज़ों ने शानदार शतक लगाते हुए टीम को एक मज़बूत स्थिति तक पहुंचाने का काम किया। दूसरे विकेट के पतन के बाद पाटीदार बल्लेबाज़ी करने आए। बेंगलुरु की जनता उनका इंतज़ार सबसे ज़्यादा कर रही थी।
पाटीदार जैसे ही चौथे नंबर पर बल्लेबाज़ी करने आए हैं तो चिन्नास्वामी में मौजूद सभी दर्शकों ने तालियों की गड़गड़ाहट के साथ उनका स्वागत किया। यह स्वागत कुछ उसी तरीक़े की थी जिस तरीक़े से एबी डीविलियर्स या फिर विराट कोहली का किया जाता है। साथ ही मैदान पर आरसीबी-आरसीबी की गूंज साफ़ सुनाई दे रही थी।
शुरुआती कुछ समय में उन्होंने तेज़ गति से अपनी पारी को आगे बढ़ाया और शम्स मुलानी की एक गेंद पर वह आउट भी हो गए थे लेकिन उस गेंद को नो बॉल करार दे दिया गया। इसके बाद उन्होंने अपनी पारी को सूझबूझ के साथ आगे बढ़ाया और दिन का खेल ख़त्म होने तक वह 67 के निजी स्कोर पर खेल रहे थे।
मुंबई का मुसीबतों का सिलसिला यहीं ख़त्म नहीं हुआ। उनके प्रमुख गेंदबाज़ धवल कुलकर्णी चाय से पहले चोट के कारण पवेलियन चले गए और दिन का खेल ख़त्म होने तक वह मैदान पर वापस नहीं लौटे। इसके कारण मुंबई के पास एक गेंदबाज़ की कमी साफ़ झलक रही थी। जब शतक बनाने वाले दोनों खिलाड़ी आउट हुए तब मुंबई को ख़ुशी से ज़्यादा राहत महसूस हुई। आज मुंबई के फ़ील्डर मध्य प्रदेश के बल्लेबाज़ों पर लगातार छींटाकशी कर रहे थे लेकिन जब यश आउट हुए तब मुंबई के सभी खिलाड़ियों ने उन्हें काफ़ी सराहा भी।
पाटीदार लगभग 349 मिनट तक पैड पहनकर पवेलियन में बैठे हुए थे। इसके लिए सबसे बड़ा श्रेय शुभम और यश के पार्टनरशिप हो जाता है। शुभम ने कुल 124 रनों की पारी खेली। इस सीज़न में यह उनका तीसरा शतक था। पहले उन्होंने धैर्य के साथ अपनी बल्लेबाज़ी को आगे बढ़ाया और एक बार जब वह पिच पर सेट हो गए तो उन्होंने रन बटोरना शुरू किया। हालांकि अंत में वह मोहित अवस्थी की गुड लेंथ गेंद को पुश करने की फ़िराक़ में कीपर को कैच दे बैठे।
मुंबई के गेंदबाज़ आज के खेल के दौरान ज़्यादातर समय प्रभावहीन दिखाई दिए। मुलानी विशेष रूप से निराशाजनक थे। वह इस सीज़न सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज़ हैं लेकिन आज उनकी गेंदबाज़ी में निरंतरता की कमी साफ़ झलक रही थी। ऑफ़ स्पिनर तनुश कोटियन से भी काफ़ी कम गेंदबाज़ी कराई गई। उन्होंने लंच से कुछ समय पहले जैसे ही तीन एलबीडब्ल्यू के मौक़े बनाए थे।
कुल मिलाकर मुंबई को कल अगर मैच में वापसी करनी है तो उन्हें खेल के हर हिस्से में मज़बूती से वापसी करनी होगी।

शशांक किशोर ESPNcricinfo सीनियर सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर राजन राज ने किया है।

Customize Your Page
Language
English
Hindi
मैच कवरेज
AskESPNcricinfo Logo

Instant answers to T20 questions

एमपी पारी
<1 / 3>
रणजी ट्रॉफ़ी
Elite, Group A
टीमMWLDअंकभागफल
एमपी3201142.147
केरला3201141.648
गुजरात312071.105
मेघालय303000.234
Elite, Group B
टीमMWLDअंकभागफल
बंगाल3300181.308
हैदराबाद3210121.197
बड़ौदा302130.939
चंडीगढ़302110.694
Elite, Group C
टीमMWLDअंकभागफल
कर्नाटका3201161.681
रेलवेज़3102101.324
जम्मू कश्मीर312060.782
पुडुचेरी302110.548
Elite, Group D
टीमMWLDअंकभागफल
मुंबई3201161.893
सौराष्ट्र3201141.441
ओडिशा302130.453
गोवा302110.791
Elite, Group E
टीमMWLDअंकभागफल
उत्तराखंड3210121.398
आंध्रा311191.183
सर्विसेज़311180.872
राजस्थान312060.723
Elite, Group F
टीमMWLDअंकभागफल
पंजाब3201161.466
हरियाणा311191.102
हिमाचल311181.006
त्रिपुरा302110.581
Elite, Group G
टीमMWLDअंकभागफल
यूपी3201130.953
विदर्भ3102122.116
महाराष्ट्र311180.898
असम303000.645
Elite, Group H
टीमMWLDअंकभागफल
झारखंड3210120.958
छत्तीसगढ़3102100.906
तमिलनाडु301261.035
दिल्ली301221.069
Plate Group
टीमMWLDअंकभागफल
नागालैंड3300192.304
मणिपुर3111101.062
सिक्किम311191.227
अरुणाचल प्रदेश312060.571
बिहार301241.249
मिज़ोरम301220.466