कप्तान जो रूट का कहना है कि इंग्लैंड की टीम ऑस्ट्रेलिया में ऐशेज़ जीत सुनिश्चित करने के लिए बड़े लम्हे जीत सकती है और वह यह समझने की भूल नहीं करेंगे कि यह सीरीज़ उन्हें परिभाषित नहीं करेगी।

रूट का यह खिलाड़ी के तौर पर तीसरा और कप्तान के तौर पर दूसरा दौरा होगा। अब जब बुधवार को रूट गाबा में उतरेंगे तो वह दुनिया के नंबर एक टेस्ट बल्लेबाज़ होंगे, जो अद्भुत फ़ॉर्म में हैं।

वह 12 मैचों में 66.13 कr औसत से 1455 रन बना चुके हैं। यह एक कैलेंडर वर्ष में इंग्लैंड के बल्लेबाज़ द्वारा बनाए गए चौथे सबसे ज़्यादा रन हैं। साथ ही वह सिडनी में होने वाले चौथे टेस्ट में उतरकर देश के लिए सबसे ज़्यादा मैचों में कप्तानी करने के मामले में ऐलेस्टर कुक को पछाड़ देंगे।

लेकिन रूट को अभी भी ऑस्ट्रेलिया में अपने पहले शतक का इंतज़ार है। और तो और इंग्लैंड पिछले 30 सालों से ऑस्ट्रेलिया की परिस्थितियों में जूझती आई है और घर से बाहर एक दशक से ऐशेज़ सीरीज़ नहीं जीती है।

ऑस्ट्रेलिया के लिए कप्तानी में पैट कमिंस का उदय एक और फ़ैक्टर जोड़ता है, जिसमें दोनों की कप्तानी पर सभी की निगाहें होंगी।

ऑस्ट्रेलिया से यहां पर पिछली ऐशेज़ सीरीज़ में 0-4 से हारने वाली टीम का नेतृत्व करने वाले रूट ने कहा, "बिल्कुल यह सही है, आप देखते हैं कि पिछले कुछ वर्षों में इंग्लैंड कप्तानों और टीमों के लिए यह कितना कठिन दौरा रहा है।"

"यह कुछ ऐसा है जो बहुत बार नहीं होता है। निश्चित रूप से यह मेरी कप्तानी को परिभाषित करेगा। मैं यह नहीं सोचता कि ऐसा नहीं हो सकता है, यह एक बड़ा अवसर है।"

इंग्लैंड की टीम में ऑलराउंडर बेन स्टोक्स ने वापसी की है। जुलाई से क्रिकेट से ब्रेक के बाद पिछले हफ़्ते के अभ्यास मैच में उन्होंने बल्ले और गेंद से अपनी अच्छी फॉ़र्म दिखाई थी।

जेम्स एंडरसन और स्टुअर्ट ब्रॉड के पास ऑस्ट्रेलियाई परिस्थितियों का अच्छा अनुभव है और मार्क वुड, क्रिस वोक्स और ऑली रॉबिन्सन उनका साथ देंगे। यह पूछे जाने पर कि क्या उनकी टीम बड़े लम्हों को जीतने के लिए तैयार है, रूट ने कहा, "हां, यह होना ही है, बिल्कुल होना है। आप कुछ खिलाड़ियों को देखें, वह इसके लिए पूरी तरह से तैयार हैं। उनके प्रदर्शन को देखिए, उन्होंने ऐसा कई बार किया है।"

उन्होंने कहा, "युवा खिलाड़ियों ने इस बात की झलक दिखाई है कि वे क्या कर सकते हैं और उनकी क्षमता क्या है। सीरीज़ को अपने नाम करने और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बेहतरीन प्रदर्शन करने का इससे बड़ा मंच क्या हो सकता है। मैं ऐशेज़ में खेलने वाला खिलाड़ी हूं और मैं इसे एक महान प्रतिद्वंद्विता के इतिहास में जीना चाहता हूं।"

अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है।