मैच (12)
IPL (2)
PAK v WI [W] (1)
RHF Trophy (4)
WT20 WC QLF (Warm-up) (5)
ख़बरें

रोहित शर्मा : 'अगर बाहर के लोगों को लगता हैं कि हम अतिआत्मविश्वासी हैं तो यह बकवास है'

इंदौर में मिली हार के बाद रवि शास्त्री ने कहा था कि टीम हावी होने की जल्दबाज़ी कर रही थी

भारतीय कप्तान रोहित शर्मा टीम के पूर्व कोच रवि शास्त्री के इस आकलन से सहमत नहीं हैं कि ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध तीसरे टेस्ट में जाने से पहले भारत अतिआत्मविश्वासी और आत्मसंतुष्ट था और यह इंदौर में उसकी हार का कारण बना।
अहमदाबाद में खेले जाने वाले सीरीज़ के अंतिम टेस्ट से पहले रोहित ने कहा, "सच कहूं तो जब आप दो मैच जीतते हैं और अगर बाहर के लोगों को लगता हैं कि हम अतिआत्मविश्वासी हैं तो यह बकवास है क्योंकि आप चारों मैचों में अपना सर्वश्रेष्ठ देना चाहते हैं। आप दो मैच जीतकर रुकना नहीं चाहते, बात बस इतनी सी है।"
रोहित ने आगे कहा, "जब यह लोग अतिआत्मविश्वासी होने की बात करते हैं, विशेषकर वे जो ड्रेसिंग रूम का हिस्सा नहीं हैं, उन्हें नहीं पता कि अंदर किस प्रकार की बातचीत होती है। निष्ठुर एक शब्द मेरे और सभी क्रिकेटरों के दिमाग़ में आता है। विपक्षी टीम को एक इंच की जगह भी ना देना, विशेषकर जब वह घर से दूर खेल रहे हैं। हमने दौरे पर इसी तरह का अनुभव किया है। विपक्ष आपको कभी मैच में आगे आने नहीं देगा, सीरीज़ में आगे आने नहीं देगा। हमारी भी यही मानसिकता है।"
उन्होंने आगे बताया, "हम सभी मैचों में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करना चाहते हैं। अगर बाहरी लोगों को यह अति-आत्मविश्वास या ऐसा कुछ लगता है, तो यह हमारे लिए मायने नहीं रखता है। रवि ख़ुद इस ड्रेसिंग रूम में रहे हैं और वह जानते हैं कि हम किस तरह की मानसिकता रखते हैं। जब हम खेलते हैं तो यह निष्ठुर होने के बारे में है, अतिआत्मविश्वासी होने के बारे में नहीं है।"
इंदौर में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाज़ी करते हुए भारत ने पहले सेशन में सात विकेट गंवाए और 109 के स्कोर पर ऑलआउट हो गया। दूसरी पारी में थोड़ी बेहतर बल्लेबाज़ी करते हुए भारत ने 163 रन बनाते हुए ऑस्ट्रेलिया को 76 रनों का लक्ष्य दिया जो आसानी से हासिल कर लिया गया।
तीसरे टेस्ट के दौरान कॉमेंट्री करते हुए शास्त्री ने कहा था, "थोड़ा अति-आत्मविश्वास और थोड़ी आत्मसंतुष्टी ऐसा कर सकती है। जब चीज़ों को हल्के में लेते हैं तब यह खेल आपको नीचे ले आएगा। पहली पारी में हमने जो शॉट देखें और इन परिस्थितियों में हावी होने की जल्दबाज़ी देखी, यह इसका मिश्रण था। आप पीछे मुड़कर देखें, विश्लेषण करने के लिए एक या दो क़दम पीछे जाए।"
नागपुर और दिल्ली में मिली हार के बाद अब ऑस्ट्रेलिया के पास टेस्ट सीरीज़ को बराबर करने का बढ़िया मौक़ा है। इंदौर में मिली जीत ने विश्व टेस्ट चैंपियनशिप (डब्ल्यूटीसी) फ़ाइनल में ऑस्ट्रलिया का स्थान पक्का किया। भारत को ऐसा करने के लिए अहमदाबाद टेस्ट जीतना होगा। अगर भारत जीतने में विफल होता है तो उसे प्रार्थना करनी होगी कि श्रीलंका 2-0 से न्यूज़ीलैंड को ना हराए।