मैच (16)
WPL (2)
PSL 2024 (2)
NZ v AUS (1)
रणजी ट्रॉफ़ी (2)
विश्व कप लीग 2 (1)
Nepal Tri-Nation (1)
Sheffield Shield (3)
CWC Play-off (3)
BAN v SL (1)
ख़बरें

ऑस्‍ट्रेलिया की अंतिम 11 में जगह बनाने के क़रीब हैंड्सकॉम्‍ब और मर्फ़ी

पैट कमिंस नागपुर में टॉस होने तक अपनी टीम के बारे में खुलासा नहीं करेंगे

पीटर हैंड्सकॉम्‍ब के नागपुर टेस्‍ट में खेलने की संभावना है  •  Getty Images

पीटर हैंड्सकॉम्‍ब के नागपुर टेस्‍ट में खेलने की संभावना है  •  Getty Images

ऑस्‍ट्रेलिया के कप्‍तान पैट कमिंस ने कहा है कि वह गुरुवार को टॉस से पहले ऑस्‍ट्रेलिया की टीम नहीं बताएंगे, लेकिन टॉड मर्फ़ी डेब्‍यू करने जा रहे हैं वहीं नागपुर टेस्‍ट की पिच पर बायें हाथ के बल्‍लेबाज़ों के लिए पैदा हो रही समस्‍या की आशंका के बीच पीटर हैंड्सकॉम्‍ब को टीम में शामिल किया जा सकता है।

कमिंस ने आधिकारिक तौर पर पहले टेस्‍ट से कैमरन ग्रीन के बाहर होने की घोषणा कर दी है जिससे अभी भी नंबर छह के बल्‍लेबाज़ और नेथन लियन के साथ दूसरे स्पिनर का पता चलना बाक़ी है।

मंगलवार की दोपहर को वीसीए स्‍टेडियम में ग्राउंड स्‍टाफ़ को बारीक़ी से पिच पर कुछ जगह पर पानी डालते देखा गया था। वे पिच के बीच में और दायें हाथ के बल्‍लेबाज़ों के ऑफ़ स्‍टंप पर पानी डाल रहे थे लेकिन बायें हाथ के बल्‍लेबाज़ों के ऑफ़ स्‍टंप पर लेंथ और फुलर एरिया को सूखा छोड़ा गया था। वे साथ ही ब्रश भी चला रहे थे।

बुधवार सुबह टीम होटल से बात करते हुए कमिंस पिच की तैयारियों पर ध्‍यान नहीं देना चाहते लेकिन उन्‍होंने ध्‍यान दिया कि इससे ऑस्‍ट्रेलिया की चयन सोच पर प्रभाव पड़ेगा।

अगर मैट रेनशॉ नंबर छह पर आते हैं तो ऑस्‍ट्रेलिया के पास शीर्ष सात में पांच बायें हाथ के बल्‍लेबाज़ होंगे, जिन्‍हें पिच के सूखे हिस्‍से से निपटना होगा, ऐसी भी उम्‍मीद है कि दोनों टीम एक ही दायें हाथ का तेज़ गेंदबाज़ खिलाएं।

कमिंस ने यह तो नहीं बताया कि हैंड्सकॉम्‍ब खेलेंगे या नहीं लेकिन टीम बल्‍लेबाज़ी लाइन अप को संतुलित करने के लिए तीसरे दायें हाथ के बल्‍लेबाज़ को खिलाने पर विचार कर सकती है।

कमिंस ने कहा, "मुझे लगता है कि यह यहां एक फ़ैक्‍टर है। दाएं हाथ के गेंदबाज़ों से इतना अधिक गेंदबाज़ी होने के कारण, कभी-कभी बाएं हाथ के बल्लेबाज़ों के लिए कुछ अधिक होता है। भारतीय लाइनअप दाएं हाथ के बल्लेबाज़ों से भरा होने वाला है इसलिए मुझे लगता है कि यह एक छोटा फ़ैक्‍टर है।"

कमिंस ने ग्रीन की अनुपस्थिति की वजह से तीन स्पिनरों को खिलाने की संभावना से मना कर दिया। इसका मतलब है कि टीम चार प्रमुख गेंदबाज़ों के साथ उतरेगी, जिसमें कमिंस और स्‍कॉट बोलंड दो तेज़ गेंदबाज़ होंगे, क्योंकि जॉश हेज़लवुड और मिचेल स्‍टार्क चोटिल हैं।

ऑस्‍ट्रेलिया को नेथन लियन के स्पिन साझेदार के तौर पर मर्फ़ी या एश्‍टन एगार में से किसी एक को चुनना होगा। कमिंस ने कहा कि अगर मर्फ़ी केवल सात प्रथम श्रेणी मैचों के बाद टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करते हैं तो उन्हें मर्फ़ी के कौशल पर पूरा भरोसा है।

कमिंस ने कहा, "मुझे लगता है कि वह जितना तैयार हो सके तैयारी कर रहा है। उन्‍होंने यहां पर अच्‍छा नेट्स सेशन किया है। उन्‍होंने विक्‍टोरिया के लिए प्रथम श्रेणी में अच्‍छा किया है। अगर वह चुने जा सकते हैं तो वह दूसरे छोर पर नेथन लियन के अच्‍छे साथी हो सकते हैं। वह तैयार है, साथ ही जो भी टीम में हैं उनकी तैयारियां अच्‍छी हुई हैं, जिसे भी हम चुनते हैं वह 100 प्रतिशत तैयार है।"

भारत के दाएं हाथ के प्रमुख बल्लेबाज़ी क्रम के ख़‍िलाफ़ एक ही टीम में दो विशेषज्ञ दाएं हाथ के ऑफ़ स्पिनरों को खिलाने का डर मंगलवार को नागपुर की पिच को देखने के बाद ऑस्ट्रेलियाई खेमे के भीतर से दूर हो गया होगा।

कमिंस ने कहा, "यह एक फ़ैक्‍टर है। मुझे लगता है कि इन परिस्थितियों में स्पिन होगी तो यह एक अच्‍छी गेंदबाज़ी होगी।"

"मुझे नहीं लगता कि कुछ भी अधिक खोजने की ज़रूरत है, परिस्थितियां आपके पास होंगी। आपने देखा है कि नेथन यहां कितना अधिक असरदार है। बहुत अधिक बैट एंड पैड, लेग स्लिप दाएं हाथ के बल्‍लेबाज़ों के लिए लगाना अच्‍छा होगा।"

कमिंस का ऑस्‍ट्रेलियाई टेस्‍ट कप्‍तान के तौर पर टॉस पर अच्‍छा रिकॉर्ड है, उन्‍होंने पिछले आठ टेस्‍ट में से सात में टॉस जीता है जबकि कुल 13 में से नौ बार टॉस जीता है। उन्‍हें उम्‍मीद है कि यह सफलता जारी रहेगी लेकिन साथ ही माना कि अगर पिच अधिक टर्न वाली होगी तो टॉस बड़ा फ़ैक्‍टर नहीं होगा।

कमिंस ने कहा, "मुझे लगता है हम बल्‍लेबाज़ी करेंगे (हंसते हुए)। मुझे लगता है कि अगर पहले दिन से स्पिन होने के बारे में सोचा जा रहा है तो ऐसा नहीं है। मुझे लगता है कि आप भारत का रिकॉर्ड देख सकते हैं। वे जितने मैच दूसरी पारी में बल्‍लेबाज़ी करके जीते हैं उनते ही पहली पारी में बल्‍लेबाज़ी करके जीते हैं। मुझे लगता है कि जब परिस्थितियां वास्तव में तेज़ी से स्पिन करती हैं तो इसे बढ़ा-चढ़ा कर पेश किया जा सकता है।"

ऐलेक्‍स मैल्‍कम ESPNcricinfo में एसोसिएट एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है।