मैच (11)
T20 वर्ल्ड कप (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ख़बरें

नई गेंद के साथ मुकेश और सिमरजीत ने कमाल की गेंदबाज़ी की : फ़्लेमिंग

प्रमुख कोच उत्साहित है कि अगले सीज़न उनके पास दीपक, मुकेश और सिमरजीत को एक साथ मैदान पर उतारने का मौक़ा मिलेगा

बुधवार को मुंबई इंडियंस के विरुद्ध मैच से पहले चेन्नई सुपर किंग्स की टीम आईपीएल में पहले बल्लेबाज़ी करते हुए कभी भी 100 से कम के स्कोर पर ऑल आउट नहीं हुई थी। हालांकि हर सिलसिले को एक न एक दिन अपने अंजाम तक पहुंचना पड़ता है और वानखेड़े स्टेडियम में चेन्नई की टीम तेज़ गेंदबाज़ी के लिए मददगार पिच पर सिर्फ़ 97 रनों पर सिमट गई।
पांच विकेट और 31 गेंद शेष रहते चेन्नई को हार का सामना करना पड़ा लेकिन इस मैच में उनके दृष्टिकोण से कई सकारात्मक पहलू रहे। मुकेश चौधरी और सिमरजीत सिंह की तेज़ गेंदबाज़ी जोड़ी ने लगातार आठ ओवर डाले और एक समय मुंबई को चार विकेट के नुक़सान पर 33 रन की स्थिति पर ला खड़ा कर दिया।
मुकेश ने 23 रन देकर तीन विकेट अपने नाम किए जबकि सिमरजीत ने विपक्षी कप्तान रोहित शर्मा के रूप में बड़ी मछली को अपने जाल में फंसाया। चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने मैच के बाद ब्रॉडकास्टर स्टार स्पोर्ट्स से बातचीत के दौरान अपने दो शेरों की प्रशंसा की।
धोनी ने कहा, "किसी भी प्रकार की विकेट पर 130 से कम के लक्ष्य का बचाव करना बहुत मुश्किल है। इसके बावजूद मैंने गेंदबाज़ों से नतीजे की परवाह किए बिना जज़्बा दिखाने और विपक्षी टीम पर दबाव बनाने को कहा। मुझे लगता है कि दोनों युवा तेज़ गेंदबाज़ों ने बढ़िया गेंदबाज़ी की। ऐसे मैच से उन्हें बहुत आत्मविश्वास मिलेगा। वह इस मानसिकता के साथ उतरेंगे कि परिस्थितियां चाहे जो भी हो, हमें इसी जज़्बे के साथ सबसे छोटे प्रारूप को खेलना होगा।"
आईपीएल 2022 जीतने की चेन्नई की उम्मीदों को सीज़न से पहले ही बड़ा झटका लगा था, जब 14 करोड़ देकर टीम में शामिल किए गए दीपक चाहर पीठ में लगी चोट के चलते सीज़न से बाहर हो गए थे। अगले साल चेन्नई के पास दीपक, मुकेश और सिमरजीत की तेज़ गेंदबाज़ी तिकड़ी को एक साथ मैदान पर उतारने का मौक़ा होगा और कोच स्टीफ़न फ़्लेमिंग इस बात से काफ़ी उत्साहित हैं।
मैच के बाद पत्रकार-वार्ता में फ़्लेमिंग ने कहा, "मुझे लगा कि नई गेंद के साथ मुकेश और सिमरजीत ने शानदार गेंदबाज़ी की। इस पूरे सीज़न में उनका विकास हो रहा है। मुकेश के लिए आत्मविश्वास के साथ ऐसा स्पेल डालना और तीन-चार मैच खेलने वाले सिमरजीत के लिए अच्छा करना बहुत बड़ी बात है। दीपक चाहर के टीम में लौटने के बाद हमारे पास नई गेंद के साथ कुछ बढ़िया विकल्प होंगे।"
विशेष रूप से फ़्लेमिंग प्रसन्न थे कि मुकेश और सिमरजीत ने मुश्किल स्थिति में नई गेंद के साथ कमाल किया था। उन्होंने कहा, "मुकेश ने गेंद को लहराया जबकि सिमरजीत के पास घातक गति है। हम भविष्य में इस जोड़ी को लेकर सकारात्मक है। निराशा बस इस बात की है कि हमारे पास पर्याप्त रन नहीं थे। इसके बावजूद इन दोनों ने कमाल किया।"
मुकेश और सिमरजीत युवा तेज़ गेंदबाज़ों की उस सूची का हिस्सा हैं, जिन्होंने इस सीज़न में अपनी छाप छोड़ी हैं। उमरान मलिक, मोहसिन ख़ान, यश दयाल, कुलदीप सेन और अर्शदीप सिंह ने सुर्ख़ियां बटोरी हैं।
धोनी तेज़ गेंदबाज़ों की नई पीढ़ी के आने से बहुत प्रसन्न हुए। उन्होंने कहा, "हम उस दौर से भी गुज़रे हैं जहां टीम के पास तेज़ गेंदबाज़ों का बड़ा समूह नहीं होता था। तेज़ गेंदबाज़ों को परिपक्व होने में समय लगता है। आईपीएल इन युवा गेंदबाज़ों को निडर होकर खेलने का अवसर देता है। जैसे-जैसे वह अधिक मैच खेलते हैं, उन्हें आत्मविश्वास मिलता है और वह मैदान पर अपनी योजनाओं पर अमल करते हैं।"