मैच (16)
आईपीएल (1)
T20I Tri-Series (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
CE Cup (2)
WI vs SA (1)
ENG v PAK (W) (1)
USA vs BAN (1)

वोक्स: आईपीएल मिस करने का फ़ैसला सबसे कठिन था

इंग्लैंड के ऑलराउंडर काउंटी चैंपियनशिप के ज़रिए टेस्ट टीम में वापसी करना चाहते हैं

Chris Woakes sends back Jos Buttler, Delhi Capitals vs Rajasthan Royals, IPL 2021, Mumbai, April 15, 2021

क्रिस वोक्स तीन आईपीएल सीज़न का हिस्सा रह चुके हैं  •  BCCI

जब दिसंबर के शुरुआत में आईपीएल 2023 के लिए ऑक्शन होने वाले खिलाड़ियों की सूची जारी हुई थी, तो उसमें इंग्लैंड के ऑलराउंडर क्रिस वोक्स का नाम ना होना आश्चर्य की बात लगी।
वोक्स तीन बार आईपीएल का हिस्सा रह चुके हैं - 2017 में कोलकाता नाइट राइडर्स के लिए, रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के लिए उसके एक साल बाद और फिर 2021 में दिल्ली कैपिटल्स की ओर से - और 23 दिसंबर को कुछ टीमें ज़रूर उनमें रुचि दिखाती। शायद उनपर डिमांड बेन स्टोक्स और सैम करन जैसे अपने इंग्लैंड साथियों जैसा नहीं रहता, लेकिन फिर भी मध्यम तेज़ गेंदबाज़ी करने वाले ऑलराउंडर्स इस प्रारूप में काफ़ी क़ीमती होते हैं।
चोट के चलते 2022 की गर्मियों में वोक्स ने बेन स्टोक्स और ब्रेंडन मैक्कलम की अगुआई में इंग्लैंड टेस्ट क्रिकेट में परिवर्तन को दूर से ही निहारा है। अब उनका लक्ष्य होगा अप्रैल और मई के महीनों में वॉरिकशायर के लिए काउंटी चैंपियनशिप में खेलते हुए ऐशेज़ सीरीज़ के लिए अपनी दावेदारी को मज़बूत करना।
ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो से बात करते हुए वोक्स ने कहा, "यह एक बहुत कठिन फ़ैसला था। मुझे यह भी लगता है कि काश मैं आईपीएल में खेल रहा होता क्योंकि यह एक बेहतरीन टूर्नामेंट है और यहां खेलने से आप आर्थिक रूप से भी काफ़ी विकास कर सकते हैं। लेकिन यह फ़ैसला केवल आर्थिक दृष्टिकोण से नहीं देखा जा सकता था। हालांकि एक विश्व कप जीतने के तुरंत बाद यह संभव था कि लोग मुझे टीम में लेने के हित में होते। मेरी कुछ फ़्रैंचाइज़ियों से बात भी हुई और उन्होंने इच्छा ज़ाहिर भी की थी।"
उन्होंने आगे कहा, "हालांकि एक सीज़न इंग्लैंड के घर पर क्रिकेट खेल ना पाने के बाद, यह एक अच्छा अवसर है ख़ुद को एक पूरा सीज़न इंग्लैंड के लिए बड़ा योगदान देने के लिए ख़ुद को तैयार करने का। यह (2023) एक ऐशेज़ का साल है और मैंने हाल में बहुत ज़्यादा लाल-गेंद क्रिकेट नहीं खेला। मुझे साबित करना है कि मैं फ़िट हूं और ऐशेज़ अभियान में भी अच्छा कर सकता हूं।"
सितंबर में पाकिस्तान में टी20 सीरीज़ के लिए किए गए दौरे पर वोक्स ने इंग्लैंड के मैनेजिंग डायरेक्टर रॉब की से भी इस सिलसिले में बात की थी। वोक्स ने बताया, "उन्होंने आश्वस्त किया कि मैं टेस्ट क्रिकेट की योजनाओं का हिस्सा हूं। लेकिन पहले मुझे अपने घुटने की चोट से उबरने के बाद पूरा फ़िटनेस सिद्ध करना होगा।"
वोक्स ऑस्ट्रेलिया में विजयी टी20 विश्व कप अभियान का अहम हिस्सा थे और नियमित मैचों में नई गेंद उन्हें मिली। हालांकि इसके बाद उन्हें पाकिस्तान में हो रहे टेस्ट टीम में शामिल नहीं किया गया। इस पर वोक्स ने कहा, "उस समय टी20 विश्व कप को प्राथमिकता दी गई थी। पाकिस्तान में हमें फ़िट गेंदबाज़ चाहिए थे जो अधिक गति से गेंद डाल सकें। उपमहाद्वीप में मेरा रिकॉर्ड भी काफ़ी साधारण रहा है, ऐसे में मेरा बाहर बैठना उचित था।"
दो युवा बेटियों के पिता वोक्स नियमित तौर पर घर पर सुबह जल्दी जागकर पाकिस्तान में हो रहे सीरीज़ का मज़ा ले रहे हैं। उन्होंने कहा, "पाकिस्तान में 2-0 की बढ़त बनाना एक अविश्वसनीय प्रदर्शन है। वहां के परिस्थितियों में परिणाम निकलवाना आसान नहीं होता। बेन की कप्तानी और गेंदबाज़ों के कौशल की सराहना होनी चाहिए। आप जितने मर्ज़ी रन बना लें, आप टेस्ट मैच तब तक नहीं जीतते हैं जब तक आपके गेंदबाज़ आपको 20 विकेट नहीं दिलाते।"
जब इंग्लैंड ने 2013 में घर पर ऐशेज़ जीता था, तब वोक्स ने आख़िरी मुक़ाबले में अपना डेब्यू किया था। उन्होंने 2015 की सीरीज़ जीत को चोट के चलते मिस किया था और इसके अलावा एक ड्रॉ और ऑस्ट्रेलिया में दो हारे हुए सीरीज़ का हिस्सा रहे हैं। अगले सीज़न वह ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ अच्छे प्रदर्शन के लिए बेताब होंगे, ख़ासकर इस वजह से कि 2022-23 में उन्होंने ऑस्ट्रेलिया और वेस्टइंडीज़ के दौरों पर कुल 52.36 के औसत से केवल 11 विकेट अपने नाम किए थे। हालांकि इंग्लैंड की परिस्थितियों में उनकी गेंदबाज़ी काफ़ी धारदार रहती है, जहां उन्होंने 22.63 के औसत से विकेट झटके हैं।
वोक्स ने कहा, "मैं ज़रूर चाहूंगा कि हम ऐशेज़ जीतें और इसमें मेरा बड़ा योगदान रहे। 2019 की सीरीज़ बहुत यादगार थी लेकिन ऐशेज़ जीतने जैसा कुछ भी नहीं होता। उम्मीद है हम बतौर इंग्लैंड इस साल ऐसा कर सकेंगे।"
वोक्स अगले महीने यूएई में होने वाले आईएलटी20 के उद्घाटन सीज़न में शारजाह वॉरियर्स का हिस्सा होंगे और इससे आईपीएल मिस करने के आर्थिक नुक्सान की भरपाई कुछ हद तक हो जाएगी। हालांकि 33 वर्षीय वोक्स मानते हैं कि उनके पास लाल-गेंद क्रिकेट को अलविदा कहने का कोई इरादा नहीं है। उनके घुटने के चोट ने उन्हें गर्मियों में उन्हें इंग्लैंड के लिए सात टेस्ट और 15 सीमित-ओवर मैचों से बाहर रखा था और अगस्त में सर्जरी के बाद उनका विश्व कप टीम में शामिल होना भी संदिग्ध था।
वोक्स ने कहा, "मैं पूरी तरह से उपलब्ध हूं और टेस्ट क्रिकेट खेलने की भूख भी बहुत ज़्यादा है। मेरे उम्र में आसान है कि आप को एक ही प्रारूप के साथ जोड़ दिया जाए। जैसा आपने स्टुअर्ट [ब्रॉड] और जिमी [एंडरसन] के साथ देखा है, अगर आप फ़िट रहते हैं तो आपको किसी प्रारूप में भी खेलने से कोई नहीं रोक सकता। मैं हर प्रारूप में खेलना चाहता हूं और हो सकता है आगे जाकर इस पर कोई मेरी तरफ़ से फ़ैसला कर दे। लेकिन मैं जब तक संभव है तब तक तीनों प्रारूप में क्रिकेटर रहना चाहता हूं।"
जनवरी के अंत में साउथ अफ़्रीका में होने वाले वनडे सीरीज़ में वोक्स का चयन लगभग निश्चित है। इसके बाद फ़रवरी और मार्च में न्यूज़ीलैंड में टेस्ट सीरीज़ और बांग्लादेश में सफ़ेद-गेंद के दौरे के लिए उन्हें टीम में शामिल किया जाएगा या नहीं, इस बारे में टीम प्रबंधन से उनकी कोई बात नहीं हुई है। दोनों दौरों के बीच बहुत कम समय होगा और चयनकर्ताओं को दो भिन्न दल चुनने की ज़रूरत पड़ सकती है। लेकिन फ़िलहाल वोक्स परिजनों के बीच में क्रिसमस बिताने के बारे में उत्साहित हैं।
उन्होंने कहा, "टी20 विश्व कप जीत के बाद कुछ समय घर पर बिताने से अच्छा लगा। मेरी बड़ी बेटी साढ़े चार साल की है और छोटी वाली केवल दो वर्ष की। पिछले क्रिसमस मिस करने के बाद पूरा दिसंबर घर पर रहना बहुत अच्छा अनुभव रहा है।"

मैट रोलर ESPNcricinfo के असिस्टेंट एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर असिस्टेंट एडिटर और स्थानीय भाषा लीड देबायन सेन ने किया है।