मैच (17)
आईपीएल (2)
ENG v PAK (W) (1)
T20I Tri-Series (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
CE Cup (3)
फ़ीचर्स

इस टीम में लगातार सुधार लाने की इच्छा है : मार्क बाउचर

उनका मानना है कि आईपीएल में खेलने वाले साउथ अफ़्रीकी खिलाड़ी विश्व कप तक अपने सर्वोच्च फ़ॉर्म में आ जाएंगे

Quinton de Kock hits through the off side, Sri Lanka vs South Africa, 2nd T20I, Colombo, September 12, 2021

अपने कंधों से कप्तानी का भार हटने के बाद से क्विंटन डिकॉक अच्छे फ़ॉर्म में नज़र आए हैं  •  AFP/Getty Images

पिछले कुछ हफ़्तों में साउथ अफ़्रीका ने वेस्टइंडीज़, आयरलैंड और अब श्रीलंका को लगातार टी20 अंतर्राष्ट्रीय सीरीज़ में मात दी है। आप विपक्षी टीम पर कुछ सवाल ज़रूर उठा सकते हैं, हालांकि वेस्टइंडीज़ ने अपने सभी बड़े खिलाड़ियों को टीम में रखा था, लेकिन साउथ अफ़्रीका क्रिकेट में जब काफ़ी कुछ दुःखद रहा है उस माहौल में उनके पुरुष टीम का प्रदर्शन सराहनीय है। श्रीलंका को 10 विकेट से पछाड़ने के साथ ही टीम ने लगातार सात टी20 मैचों में जीत के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली है और कोच मार्क बाउचर के अनुसार संकेत अच्छे ही हैं।
बाउचर ने कहा, "इस टीम में लगातार सुधार लाने की इच्छा है। हमने हर मैच से मिले सबक पर बातें की है। हमने साउथ अफ़्रीका के रिकॉर्ड सात लगातार मैच जीतने की बराबरी कर ली है और हम जानते हैं विश्व कप से पहले ऐसी आदत डालना टीम के लिए कितनी अच्छी बात है।"
इस रिकॉर्ड को तोड़ने का मौक़ा अब 23 अक्टूबर को ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ विश्व कप के अपने पहले मैच में ही मिलेगा। उससे पहले जहां कुछ खिलाड़ी इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) का हिस्सा बनेंगे वहीं बाक़ी साउथ अफ़्रीका के घरेलू टी20 नॉकआउट प्रतियोगिता में भाग लेंगे। बाउचर ने आईपीएल में जा रहे खिलाड़ियों की अहम भूमिका पर भरोसा जताते हुए कहा, "ये खिलाड़ी उन परिस्थितियों में खेलेंगे जहां विश्व कप होगा। अगर वो ख़ुद का ख़्याल रखें और बेहतरीन अभ्यास करें तो विश्व कप तक वो अपने सर्वोच्च फ़ॉर्म में आ जाएंगे।"
आईपीएल में डेविड मिलर, कगिसो रबाडा, लुंगी एनगिडी, अनरिख़ नॉर्खिये, क्विंटन डिकॉक और बढ़िया फ़ॉर्म में चल रहे एडन मारक्रम होंगे। मिलर हालिया समय में हैमस्ट्रिंग और क्वाड्रिसेप में चोट से परेशान रहे हैं और बाउचर को उनके फ़िट रहने की चिंता रह सकती है। वहीं डिकॉक और मारक्रम ने श्रीलंका में एक बल्लेबाज़ कम खिलाने के बावजूद बल्लेबाज़ी को मज़बूत रखा। डिकॉक ने सीरीज़ में साउथ अफ़्रीका के लिए सर्वाधिक रन बनाए और मारक्रम, जिन्होंने पंजाब किंग्स की टीम में डाविड मलान की जगह ली है, ना सिर्फ़ बल्लेबाज़ के तौर में प्रभावशाली रहे बल्कि उनकी स्पिन गेंदबाज़ी उन्हें एक अच्छा ऑलराउंडर का विकल्प बनाता है।
तेम्बा बवूमा भी उंगली की चोट से उबरकर वापस आएंगे और बाउचर ने उनकी जगह कप्तानी करने वाले केशव महाराज की जमकर तारीफ़ की। बाउचर ने कहा, "केशव में गेम की समझ है और वह ख़ासकर स्पिन गेंदबाज़ों पर अच्छा भरोसा जताते हैं। जिस तरह उन्होंने एडन पर भरोसा जताया और उनका आत्मविश्वास बढ़ाया उससे टीम को बहुत फ़ायदा हुआ। केशव में कप्तानी के सभी गुण हैं और यह टीम के लिए एक अच्छी बात है।"

फ़िरदौस मूंडा ESPNcricinfo में साउथ अफ़्रीका की संवाददाता हैं। अनुवाद ESPNcricinfo में सीनियर असिस्‍टेंट एडिटर और स्‍थानीय भाषा प्रमुख देबायन सेन ने किया है।