मैच (18)
सीपीएल (2)
भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया (1)
पाकिस्तान बनाम इंग्लैंड (1)
यूएई बनाम बांग्लादेश (1)
वेस्टइंडीज़ बनाम न्यूज़ीलैंड (महिला) (1)
रोड सेफ़्टी (2)
महिला विश्व कप क्वालिफ़ायर (4)
लेजेंड्स लीग (2)
इंडिया ए बनाम न्यूज़ीलैंड ए (1)
इंग्लैंड बनाम भारत (महिला) (1)
दलीप ट्रॉफ़ी (1)
काउंटी डिवीज़न एक (1)
फ़ीचर्स

रेटिंग्‍स : गोल्ड मेडल मैच में हरमनप्रीत और जेमिमाह ने बटोरे सबसे ज्‍़यादा अंक

स्‍नेह राणा और रेणुका सिंह ने भी किया कमाल का प्रदर्शन

India's players with their silver medals, Australia vs India, Commonwealth Games 2022 final, Birmingham, August 7, 2022

भारतीय टीम को एक क़रीबी हार झेलने के कारण रजत पदक से संतोष करना पड़ा  •  Getty Images

राष्‍ट्रमंडल खेलों में पदक का रंग शायद ही भारतीय महिला क्रिकेट टीम को रविवार की रात को सोने देगा लेकिन एजबेस्टन में हज़ारों दर्शकों का समर्थन उनके लिए एक नया उजाला ज़रूर दिखाएगा। सांसे थाम देने वाले मुक़ाबले में भारतीय टीम को नौ रनों से हार मिली लेकिन उनकी झोली में रजत पदक भी आया। ऑस्‍ट्रेलिया जैसी मज़बूत टीम के आगे भारतीय खिलाड़‍ियों ने ग़ज़ब का जज्‍़बा दिखाया लेकिन जीत नहीं दिला सकी।
क्या सही और क्या ग़लत?
स्पिनर स्‍नेह राणा, दीप्ति शर्मा और तेज़ गेंदबाज़ रेणुका सिंह की जुगलबंदी से भारतीय टीम ऑस्‍ट्रेलियाई बल्‍लेबाज़ों को 161 रनों पर समेटने में कामयाब हो गई थी। फ़ाइनल मुक़ाबले में भारतीय टीम के क्षेत्ररक्षण का स्‍तर भी बेमिसाल था। बड़े मैच की खिलाड़ी हरमनप्रीत कौर ने एक और बार दिखाया कि वह क्‍या कर सकती हैं, तो जेमिमाह रॉड्रिग्‍स के लिए भी यह इस टूर्नामेंट में अच्‍छी वापसी साबित हुई।
भारतीय बल्‍लेबाज़ों ने अपने विकेट जोख़िम उठाकर गंवाए। यही भारत की हार का कारण रहा। फ‍िर चाहे हरमनप्रीत का वह स्‍वीप हो, स्‍नेह राणा का पहले से ही मन बनाकर शफल करके शॉर्ट फ़ाइन लेग के बायीं ओर से रन चुराना या फ‍िर कंकशन के बाद मैच में शामिल हुई यास्तिका भाटिया का रिवर्स स्‍वीप। सभी का ख़ामियाज़ा भारतीय टीम ने हार के साथ चुकाया।
प्लेयर रेटिंग्स (1 से 10, 10 सर्वाधिक)
स्मृति मांधना, 4: पिछली दो पारियों से अति उत्‍साहित स्‍मृति मांधना एक अहम मैच में ग़लत शॉट खेलकर आउट हो गईं। उन्‍होंने पहले से ही लेग साइड पर पुल करने का मन बना लिया था। लेकिन पूरी तरह से मिस कर गईं और गेंद जाकर लेग स्‍टंप पर लगी। मांधना भी अपने इस शॉट से बेहद निराश होंगी।
शेफ़ाली वर्मा, 3: मांधना का विकेट गिरने के बाद शेफ़ाली वर्मा ने भी संयम नहीं दिखाया। उनको ज़रूरत थी कि वह पिच पर टिकतीं और भारत के शीर्ष क्रम की सहायता करतीं। हालां‍कि वह भी एक आक्रामक शॉट खेलने के प्रयास में अपना विकेट गंवा बैठीं।
जेमिमाह रॉड्रिग्स, 8: कहते हैं ना जो आपकी ताक़त होती है आप उसी में फंस सकते हो। हरमनप्रीत के साथ तीसरे विकेट की साझेदारी में जब तक जेमिमाह क्रीज़ पर थीं, जीत भारत के हाथ में थी। उन्‍होंने कई बार दिखाया कि वह कितनी बेहतरीन इन साइड आउट ड्राइव खेलती हैं, लेकिन इस बार वही शॉट उनका विकेट ले गया, क्‍योंकि इस बार गेंदबाज़ ने समझदारी के साथ लेंथ गेंद में उनको छकाया था।
हरमनप्रीत कौर, 9: हरमनप्रीत हमेशा से बडे़ मैच की खिलाड़ी रही हैं। उन्‍होंंने रविवार को भी यही साबित किया। मांधना और शेफ़ाली के विकेट गिरने के बाद भी उन्‍होंंने अपने आक्रामक पुल शॉट और स्‍वीप की झड़ी लगा दी। उनके इन शॉट की वजह स एक समय ऑस्‍ट्रेलियाई टीम दबाव में थी।
पूजा वस्त्रकर, 3: एक फ़ि‍निशर की भूमिका क्‍या होती है, शायद आज के बाद पूजा अच्‍छे से समझ जाएंगी। उनको गेंदबाज़ी में एक ही ओवर मिला लेकिन जेमिमाह जैसी बल्‍लेबाज़ का विकेट गंवाने के बाद उनको मैच को अंतिम ओवरों तक ले जाना था। वह इसमें कामयाब नहीं हो सकीं और अपनी पारी की शुरुआत में ही बड़ा शॉट लगाने के चक्‍कर में अपना विकेट गंवा बैठीं।
दीप्ति शर्मा, 6: गेंदबाज़ी में तालिया मैकग्रा का विकेट लेने के अलावा दीप्ति के लिए इस मैच में कुछ सही नहीं रहा। चार ओवर में एक विकेट के साथ 30 रन उनके गेंदबाज़ी प्रदर्शन की गवाही देते हैं। बल्‍लेबाज़ी में भी जब टीम को उनकी ज़रूरत थी तो वह फुलर गेंद पर फ्लिक करने से चूकी और एलबीडब्‍ल्‍यू हो गईं।
तानिया भाटिया/यास्तिका भाटिया, 4: पिछले मैच में हेलमेट पर गेंद खाने के बाद इस बार भी वह ऐसा ही कर गईं। इसकी वजह से यास्तिका भाटिया को कंकशन के रूप में शमिल किया गया। एक बार लगा कि यास्तिका टीम को जीत दिला सकती हैं, लेकिन अंतिम ओवर में रिवर्स स्‍वीप जैसा ख़राब शॉट खेलकर उन्‍होंने भारत की उम्‍मीदों पर पानी फेर दिया।
स्नेह राणा, 7: स्‍नेह राणा ने अपनी ऑफ़ स्पिन का कमाल इस बार भी दिखाया। वह चार ओवर में 38 रन देकर महंगी ज़रूर साबित हुईं लेकिन बेथ मूनी और ऐश्‍ली गार्डनर के दो अहम विकेट उनको मिले। बल्‍लेबाज़ी में जरूर उन्‍होंने निराश किया।
राधा यादव, 7: राधा यादव फ़ील्डिंग में कमाल की रहीं। चाहे बात मेग लानिंग को अपनी ही गेंद पर रन आउट करने की हो या प्‍वाइंट पर तीलिया मैकग्रा का ज़बर्दस्‍त कैच।
मेघना सिंह, 5: मेघना सिंह ने अपने दो ओवरों में दिखाया कि वह कितनी शानदार आउट स्विंग करने की ताक़त रखती हैं। दो ओवर में केवल 11 रन दिखाते भी हैं। स्पिनरों का इस्‍तेमाल करने की वजह से उनको ज्‍़यादा ओवर करने का मौक़ा नहीं मिला।
रेणुका सिंह, 7: चार ओवर में 25 रन देकर दो विकेट। पिछले मैच में महंगा साबित होने के बाद रेणुका ने अच्‍छी वापसी की। बडे़ मैच में अलिसा हिली का विकेट उनकी क्षमता दिखाता भी है। कुल मिलाकर उन्‍होंने भारतीय टीम की मैच में वापसी तो ज़रूर करा दी थी।

निखिल शर्मा ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर हैं। @nikss26