मैच (9)
ज़िम्बाब्वे बनाम वेस्टइंडीज़ (1)
बीबीएल (1)
आईएलटी20 (2)
बीपीएल 2023 (2)
रणजी ट्रॉफ़ी (1)
सुपर स्मैश (1)
एसए20 (1)
ख़बरें

ली : अर्शदीप को ज़रूरत से ज़्यादा सलाह के सैलाब से बचाना होगा

पूर्व ऑस्ट्रेलियाई तेज़ गेंदबाज़ ने अर्शदीप को गति की बजाय लाइन और लेंथ पर टिके रहने का सुझाव दिया

बहुत कम समय में अर्शदीप भारतीय टी20 टीम में अपना स्थान पक्का कर चुके हैं  •  Associated Press

बहुत कम समय में अर्शदीप भारतीय टी20 टीम में अपना स्थान पक्का कर चुके हैं  •  Associated Press

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व तेज़ गेंदबाज़ ब्रेट ली चाहते हैं कि भारतीय टीम के प्रमुख कोच राहुल द्रविड़ और कप्तान रोहित शर्मा उभरते हुए तेज़ गेंदबाज़ अर्शदीप सिंह को उनकी तरफ़ आ रही ज़रूरत से ज़्यादा सलाह के सैलाब से बचाए। उनका मानना है कि यह उन्हें लाभ की बजाय हानि पहुंचाने का काम कर सकती है।
इस साल जुलाई महीने में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण करने के बाद से अर्शदीप भारतीय टीम के बेहतरीन खिलाड़ियों में से एक रहे हैं। उन्होंने टी20 टीम में अपना स्थान पक्का कर लिया है और हाल ही में न्यूज़ीलैंड दौरे पर वनडे क्रिकेट में अपना पहला क़दम रखा।
जसप्रीत बुमराह की अनुपस्थिति से बने मौक़े को अर्शदीप ने दोनों हाथों से स्वीकारते हुए 21 टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में 33 विकेट झटके हैं।
ली ने अपने यूट्यूब चैनल ब्रेट ली टीवी पर कहा, "कई बार टीमों को नहीं पता होता कि इन युवा प्रतिभाशाली सितारों के साथ क्या किया जाए। हमने पहले भी ऐसा होते देखा है जब युवा खिलाड़ियों को अन्य खिलाड़ियों, टीवी, कॉमेंटेटरों और होटल में सलाह मिलती है। हर कोई आपका भला चाहता है लेकिन ज़रूरत से ज़्यादा सलाह उम्मीद से विपरीत परिणाम लेकर आएगी।"
उन्होंने आगे कहा, "इसलिए मुझे लगता है कि राहुल द्रविड़ और रोहित शर्मा की ज़िम्मेदारी है कि वह अर्शदीप सिंह को इस सलाह के भंडार से बचाए।"
इसके अलावा ली ने अर्शदीप को चोट-मुक्त रहने के लिए कुछ सलाह दी।
चोट के विषय पर ली ने कहा, "एक व्यक्ति के तौर पर जिसने थोड़े-बहुत मैच खेले हैं, मुझे लगता है कि मैं उन्हें अपने विचार व्यक्त करने के योग्य हूं। मेरे पास कुछ ऐसी चीज़ें हैं जो मेरे अनुसार अर्शदीप के एक्शन और विकेट लेने की क्षमता को मदद कर सकती है।"
ली ने आगे कहा, "मेरी पहली सलाह यह होगी कि लोग कहते हैं कि तेज़ गेंदबाज़ को जिम में जाकर बॉडी बनानी चाहिए। हम सुनते हैं कि वह उन्हें मज़बूत बनने को कह रहे हैं। अब मज़बूती तो मानसिक भी हो सकती है। मैं कहूंगा कि जिम में अति-मेहनत मत कीजिए।"
एशिया कप में सुपर 4 चरण के मैच में पाकिस्तान के विरुद्ध आसिफ़ अली का आसान कैच टपकाने के बाद सोशल मीडिया पर अर्शदीप को बहुत खरी-खोटी सुनाई गई थी। ली ने उन्हें सोशल मीडिया की बातों से विचलित होने से बचने की सलाह दी।
ली ने कहा, "दूसरी सलाह होगी सोशल मीडिया टिप्पणियों के लिए एक मानसिक फ़िल्टर बनाना क्योंकि हम जानते हैं कि खेलने वाले सभी लड़के और लड़कियां फ़ेसबुक, इंस्टाग्राम और ट्विटर पर हैं।"
उन्होंने आगे कहा, "यदि आप एक खेल खेलने जा रहे हैं और सोशल मीडिया पर आपकी उपस्थिति है, तो यह समझना होगा कि आपको नोटिफ़िकेशन बंद कर देने चाहिए। जो लिखा है उसे न पढ़ें। यदि आपको पसंद नहीं है तो सोशल मीडिया से दूर हो जाओ और अपने क्रिकेट पर ध्यान दो।"
अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर में 718 विकेट झटकने वाले ली चाहते हैं कि अर्शदीप घरेलू क्रिकेट खेलें। उनके अनुसार यह एक ऐसा मंच है जो उन्हें अपने कौशल पर और बारीक़ी से काम करने में मदद करेगा।
ली ने कहा, "घरेलू क्रिकेट में अपने कौशल पर काम करते रहो क्योंकि जब बड़े विश्व कप नहीं होंगे और आप टेस्ट क्रिकेट नहीं खेल रहे हो, कोई दर्शक नहीं होंगे। आपको यहीं पर चमकना है।"
उन्होंने आगे कहा, "मेरे अनुसार यही मेरे करियर की रोज़ी-रोटी थी। प्रथम श्रेणी क्रिकेट में वापस जाना, भीड़ से परे उस शांति का आनंद लेना और अपने कौशल पर काम करना। अगर आप इसका ध्यान रख सकते हैं, तो बड़ा मंच आएगा।"
साथ ही ली ने अर्शदीप को गति की बजाय लाइन और लेंथ पर टिके रहने का सुझाव दिया।
उन्होंने कहा, "हम सुनते हैं कि तेज़ गेंदबाज़ बहुत तेज़ गेंद डालने का प्रयास करते हैं। हर बार 150 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ़्तार से गेंदबाज़ी करने को लेकर जुनूनी न हों। मैं हमेशा कहूंगा कि तेज़ गति से गेंदबाज़ी करो लेकिन आपको भी सही लाइन और लेंथ करनी चाहिए।"
हालांकि ली ने यह भी बताया कि अर्शदीप को हमेशा धीमी गति की गेंदों पर निर्भर नहीं करना चाहिए। उन्होंने कहा, "अपनी गति को निरंतर रखने का प्रयास करो लेकिन कभी-कभी लाइन और लेंथ पर गेंद डालते हुए पांच किलोमीटर की गति कम कर लो और विकेट निकालो। आपके लिए मेरी यह सलाह है।"