मैच (16)
IND v ENG (1)
WPL (2)
PSL 2024 (2)
BPL 2023 (2)
NZ v AUS (1)
रणजी ट्रॉफ़ी (4)
विश्व कप लीग 2 (1)
CWC Play-off (3)
ख़बरें

मुरली विजय ने अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से लिया संन्यास

भारतीय ओपनर ने बताया कि वह 'क्रिकेट की दुनिया और इसके व्यापारिक पक्ष' में नए अवसरों की तलाश करेंगे

61 टेस्ट मैचों के अपने करियर में मुरली विजय ने 12 शतक जड़े  •  BCCI

61 टेस्ट मैचों के अपने करियर में मुरली विजय ने 12 शतक जड़े  •  BCCI

भारतीय ओपनर मुरली विजय ने 'क्रिकेट की दुनिया और इसके व्यापारिक पक्ष' में नए अवसरों की तलाश करने के लिए अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया है।
अपने 14 वर्षीय अंतर्राष्ट्रीय करियर में विजय ने 61 टेस्ट, 17 वनडे और नौ टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में भारत का प्रतिनिधित्व किया। 2008 में उन्हें नागपुर में खेले गए बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफ़ी के अंतिम टेस्ट के लिए गौतम गंभीर की जगह पहली बार भारतीय एकादश में चुना गया था। विजय ने आख़िरी बार दिसंबर 2018 के पर्थ टेस्ट में भारत का प्रतिनिधित्व किया। तमिलनाडु के लिए रणजी ट्रॉफ़ी का अंतिम मैच उन्होंने दिसंबर 2019 में खेला था। विजय ने अपना अंतिम पेशेवर मैच आईपीएल 2020 में दिल्ली कैपिटल्स के ख़िलाफ़ खेला था।
मज़बूत तकनीक और गेंद को छोड़ने की चाह रखने वाले क्लासिकल ओपनर विजय ने 2014 में भारत के इंग्लैंड दौरे पर सुर्खियां बटोरी थी। विजय ने अपने टेस्ट करियर में 105 पारियों में 38.28 की औसत से 3982 रन बनाए। उन्होंने 12 शतक और 15 अर्धशतक जड़े जिसमें साल 2013 में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध हैदराबाद में बनाए 167 रन उनका सर्वश्रेष्ठ स्कोर था।
विजय ने एक बयान में कहा, "मैं यह घोषणा करने के लिए उत्साहित हूं कि मैं क्रिकेट की दुनिया और इसके व्यावसायिक पक्ष में नए अवसरों की तलाश करूंगा, जहां मैं उस खेल में भी भाग लेना जारी रखूंगा जिसे मैं प्यार करता हूं और नए और अलग वातावरण में ख़ुद को चुनौती देता हूं। मेरा मानना ​​है कि एक क्रिकेटर के रूप में यह मेरी यात्रा का अगला क़दम है और मैं अपने जीवन के नए अध्याय की ओर देख रहा हूं।"

क्या विजय विदेशी टी20 लीगों में खेलेंगे?


पिछले साल जून में विजय ने तमिलनाडु प्रीमियर लीग के 2022 संस्करण को लॉन्च करने के कार्यक्रम के दौरान 'जितना संभव हो सके खेलने' की इच्छा व्यक्त की थी। उस टूर्नामेंट के समाप्त होने के बाद से उन्होंने कोई प्रतिस्पर्धी क्रिकेट नहीं खेला है।
जबकि विजय ने स्पष्ट रूप से यह नहीं कहा है कि वह अन्य देशों में टी20 क्रिकेट खेलने के अवसर खोजेंगे, उनके रिटायरमेंट नोट में क्रिकेट के सभी रूपों से संन्यास का उल्लेख नहीं किया गया था।
विजय ने पूर्व भारतीय बल्लेबाज़ डब्ल्यू वी रामन को स्पोर्ट्स्टार के कार्यक्रम 'वेडनेसडेस विथ डब्ल्यूवी' पर कहा था, "मैं बीसीसीआई से तंग आ गया हूं और विदेश में मौक़े तलाश कर रहा हूं। भारत में 30 के बाद यह टैबू (निषेध) है। मुझे लगता है कि लोग हमें सड़क पर चल रहे 80 साल के बुज़ुर्ग की तरह देखते हैं।"
उन्होंने आगे कहा, "मीडिया को भी इसे अलग तरीक़े से संबोधित करना चाहिए। मुझे लगता है कि आप अपने 30 के आसपास वाली उम्र में शीर्ष पर होते हैं। अभी यहां बैठकर मुझे लगता है कि मैं अपनी सर्वश्रेष्ठ बल्लेबाज़ी कर सकता हूं। लेकिन दुर्भाग्य से मौक़े कम थे और मुझे बाहर मौक़े तलाशने पड़े। मैं महसूस करता हूं कि आप केवल वही कर सकते हैं जो आपके हाथ में है। आप उन चीज़ों के नियंत्रित नहीं कर सकते जो आपके नियंत्रण से बाहर हैं। जो हुआ सो हुआ।"
2013 से 2018 के बीच पांच वर्षों की अवधि के दौरान विजय भारतीय टेस्ट टीम के महत्वपूर्ण सदस्य रहे। दिसंबर 2013 से जनवरी 2015 के बीच, जब भारत ने सभी टेस्ट मैच घर से बाहर - साउथ अफ़्रीका, न्यूज़ीलैंड, इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में खेले, विजय ने सर्वाधिक गेंदों का सामना किया और सर्वाधिक रन बनाने के मामले में दूसरे स्थान पर रहे। वह उन तीन खिलाड़ियों में से एक थे जिनकी औसत 40 से ऊपर की थी।
इसके अलावा विजय ने 106 आईपीएल मैचों में हिस्सा लिया और दिल्ली डेयरडेविल्स और पंजाब किंग्स की कप्तानी की। हालांकि उन्हें चेन्नई सुपर किंग्स के साथ सर्वाधिक सफलता मिली। विजय ने 2010 और 2011 में चेन्नई के साथ लगातार दो आईपीएल जीते। 2011 वाली जीत और विशेष थी क्योंकि विजय को फ़ाइनल में रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के विरुद्ध 52 गेंदों पर 95 रन बनाने के लिए प्लेयर ऑफ़ द मैच चुना गया था।
विजय ने इंग्लैंड की काउंटी चैंपियनशिप में एसेक्स और सॉमरसेट का प्रतिनिधित्व भी किया।
अपने बयान में विजय ने आगे लिखा, "2002-2018 के बीच मेरा सफ़र मेरे जीवन के सबसे शानदार साल रहे। खेल के उच्चतम स्तर पर भारत का प्रतिनिधित्व करना सम्मान की बात थी। मैं बीसीसीआई, तमिलनाडु क्रिकेट एसोसिएशन, चेन्नई सुपर किंग्स और केमप्लास्ट सनमार [उनकी कॉर्पोरेट टीम] द्वारा प्रदान किए गए अवसरों के लिए आभारी हूं।"