मैच (18)
WI vs SA (1)
ENG v PAK (W) (1)
USA vs BAN (1)
CE Cup (3)
T20I Tri-Series (2)
आईपीएल (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ख़बरें

स्टोक्स : मुझे एंडरसन कभी रुकते हुए नहीं नज़र आते

1936 में क्लैरी ग्रिमेट के बाद 40-वर्षीय एंडरसन विश्व के सबसे उम्रदराज़ नंबर 1 गेंदबाज़ बने हैं

Ben Stokes and James Anderson plot their tactics as England toil in the field, Pakistan vs England, 1st Test, Rawalpindi, 2nd day, December 2, 2022

बेन स्‍टोक्‍स ने जेम्‍स एंडरसन की तारीफ़ की है  •  AFP/Getty Images

40 साल की उम्र में जेम्स एंडरसन के विश्व टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष के गेंदबाज़ बनने के बाद उनके कप्तान बेन स्टोक्स ने माना कि उन्हें एंडरसन के करियर का अंतिम पड़ाव नज़र नहीं आता।

न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ शुक्रवार से वेलिंग्टन में शुरू होने दूसरे टेस्ट के लिए इंग्लैंड ने अपने XI में कोई बदलाव नहीं किया है और यह मुक़ाबला एंडरसन के करियर का 179वां टेस्ट होगा। आज से 15 साल पहले इसी मैदान पर 26 वर्षीय एंडरसन ने टीम में वापसी की थी और पहली बार उन्हें स्टुअर्ट ब्रॉड के साथ गेंदबाज़ी करने का मौक़ा मिला था। तब से दोनों ने आधुनिक क्रिकेट में सबसे घातक जोड़ियों में ख़ुद को शामिल किया है।

2016 और 2018 दोनों में एंडरसन विश्व के नंबर एक गेंदबाज़ बने थे। पिछले सप्ताह न्यूज़ीलैंड के विरुद्ध पहले टेस्ट में सात विकेट लेकर वह 40 साल और 207 दिन की उम्र में 1936 में ऑस्ट्रेलियाई लेग स्पिनर क्लैरी ग्रिमेट के बाद सबसे उम्रदराज़ शीर्ष के गेंदबाज़ बने। हालांकि रेटिंग्स में आर अश्विन एंडरसन से केवल दो अंक पीछे हैं और ऐसे में शीर्ष स्थान पर उनका समय सीमित अवधि तक रह सकता है।

अपने साथी के बारे में स्टोक्स ने कहा, "मुझे नहीं लगता वह ऐसी चीज़ों [रैंकिंग] के बारे में सोचते हैं। हालांकि वह 40 साल के हैं लेकिन मुझे वह कभी भी रुकते हुए नज़र नहीं आते। वह जब टीम में होते हैं तो आप उन्हें प्रधान गेंदबाज़ की तरह ही देखते हैं। वह हर चीज़ को कर्मठ होकर करते हैं। हम बहुत भाग्यशाली हैं कि वह हमारी टीम का हिस्सा हैं। रैंकिंग्स ज़्यादा मायने नहीं रखतीं लेकिन वह अगर सबसे अव्वल गेंदबाज़ नहीं भी हों, तो दुनिया के सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज़ों में ज़रूर हैं।"

एंडरसन अब तक 682 टेस्ट विकेट ले चुके हैं और उनकी गुणवत्ता से विरोधी टीमें भी परिचित हैं। न्यूज़ीलैंड के 34-वर्षीय कप्तान टीम साउदी ने कहा, "वह एक महानतम खिलाड़ी हैं। इतने सारे टेस्ट खेलना अपने आप में एक बेहतरीन उपलब्धि है। ऐसा नहीं लगता कि वह जल्द ही अपने करियर में कोई ढील देने वाले हैं। हालांकि उनके विरुद्ध खेलने में और उनसे देखकर सीखने में भी मज़ा आता है। उनसे बात करके भी बहुत कुछ सीखा जा सकता है। 40 साल की उम्र में रैंकिंग्स टॉप करना वाक़ई प्रशंसनीय है।"

विदुशन अहंतराजा ESPNcricinfo में एसोसिएट एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo में स्‍थानीय भाषा प्रमुख देबायन सेन ने किया है।