मैच (6)
श्रीलंका बनाम अफ़ग़ानिस्तान (1)
न्यूज़ीलैंड बनाम भारत (1)
हज़ारे ट्रॉफ़ी (4)
फ़ीचर्स

आंकड़े झूठ नहीं बोलते : पंत को साउथ अफ़्रीकी तोड़ निकालना होगा

इस साल राष्ट्रीय टीम के लिए डिकॉक का बल्ला बोल ही नहीं रहा है

Rishabh Pant bats on the eve of the first T20I, India vs South Africa, Thiruvananthapuram, September 27, 2022

Kerala Cricket Association

तिरुवनंतपुरम में साउथ अफ़्रीका को हराकर भारत ने तीन मैचों की सीरीज़ में 1-0 की बढ़त ले ली है। अब भारत के पास घर पर साउथ अफ़्रीका के विरुद्ध अपनी पहली टी20 अंतर्राष्ट्रीय सीरीज़ जीतने का बढ़िया अवसर है। इसके अलावा यह मैच रोहित शर्मा के लिए और भी विशेष है क्योंकि वह 400 टी20 मैच खेलने वाले पहले भारतीय और विश्व के केवल नौवें खिलाड़ी बनने की दहलीज़ पर खड़े हैं। ऐसे में एक रोमांचक मैच होने की पूरी उम्मीद है। तो चलिए हम और आप मिलकर कुछ महत्वपूर्ण आंकड़ों पर नज़र डालते हैं।
पंत को साउथ अफ़्रीका का तोड़ निकालना होगा
हार्दिक पंड्या की जगह खेल रहे ऋषभ पंत के पास टी20 विश्व कप की एकादश में अपना स्थान पक्का करने का बढ़िया अवसर है। इस साल उन्होंने अपने टी20 अंतर्राष्ट्रीय करियर में सर्वाधिक 311 रन बनाए हैं लेकिन ग़ौर करने पर ही हमें चीज़ें साफ़ तौर पर दिखाई देने लगेगी। सात मौक़ों पर पंत ने 20 से अधिक का स्कोर बनाया है लेकिन आठ बार वह 20 से कम से स्कोर पर आउट भी हुए हैं। बाएं हाथ की बल्लेबाज़ी का विकल्प प्रदान करने वाले पंत से उम्मीद थी कि वह स्पिनरों पर प्रहार करेंगे लेकिन ऐसा भी देखने को नहीं मिला है। इस साल टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में स्पिन के विरुद्ध उनका स्ट्राइक रेट महज़ 105 का है।
साथ ही अगर मेहमान टीम की बात की जाए तो पंत के लिए तेज़ गेंदबाज़ी के विरुद्ध भी रन बनाना आसान नहीं होगा। अनरिख़ नॉर्खिये और कगिसो रबाडा ने उन्हें अब तक बांधे रखा है और जून में खेली गई सीरीज़ में वह पंत के ऑफ़ स्टंप के बाहर गेंदबाज़ी कर रहे थे। ऐसे में अगर पंत को ऑस्ट्रेलिया में मैच खेलने हैं, तो उन्हें इन सभी समस्याओं का समाधान जल्द से जल्द खोजना होगा।
फ़ॉर्म की तलाश में लगे डिकॉक
पिछले साल टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में क्विंटन डिकॉक का बल्ला बढ़-चढ़कर बोला था। इस धाकड़ सलामी बल्लेबाज़ ने 2021 में 43.7 की औसत से 524 रन बनाए थे। हालांकि इस साल पासा पूरी तरह पलट गया है और उनका बल्ला शांत हो गया है। इस साल आठ पारियों में डिकॉक केवल एक बार 20 से अधिक रन बना पाए हैं। पांच मौक़ों पर उन्होंने 10 रन का आंकड़ा भी पार नहीं किया है जिसके चलते उनकी औसत मात्र 8.5 की है। वह साउथ अफ़्रीका के लिए टी20 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाज़ बनने से 40 रन दूर है और शायद यह कीर्तिमान तक पहुंचने की प्रेरणा उन्हें ख़राब फ़ॉर्म को पीछे छोड़ने में मदद करेगी।
अर्शदीप 'स्विंग' को विकेट लेना पसंद है
अपनी डेथ गेंदबाज़ी और सटीक यॉर्कर डालने की क्षमता से आईपीएल में सभी को प्रभावित करने के बाद अर्शदीप सिंह को भारतीय टी20 टीम में मौक़ा दिया गया था। बाएं हाथ के युवा तेज़ गेंदबाज़ अर्शदीप ने 12 मैचों के अपने छोटे करियर में अब तक 17 विकेट लिए हैं। अहम बात यह है कि केवल दो मैचों में उन्हें खाली हाथ लौटना पड़ा है और उनकी इकॉनमी महज़ 7.44 की रही है। डेथ गेंदबाज़ी के साथ-साथ अब नई गेंद के साथ उन्होंने विकेट निकालना शुरू कर दिया है। अगर उनकी गेंद इसी तरह स्विंग होती रही तो वह जल्द ही भारतीय टीम के नए 'स्विंग किंग' बन जाएंगे।
हर्षल की पसंदीदा टीम है साउथ अफ़्रीका
मेहमान टीम के विरुद्ध हर्षल पटेल को गेंदबाज़ी करना रास आता है। पांच मैचों में वह साउथ अफ़्रीका के विरुद्ध नौ विकेट अपने नाम कर चुके हैं। 7.1 की इकॉनमी से गेंदबाज़ी करते हुए हर्षल ने इन सभी पांच मैचों में विकेट झटके हैं। विश्व कप से पहले अपनी लय खोज रहे इस गेंदबाज़ के लिए साउथ अफ़्रीका से बेहतर विपक्षी टीम हो ही नहीं सकती थी।

अफ़्ज़ल जिवानी (@jiwani_afzal) ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर हैं।