मैच (16)
ENG v PAK (1)
आईपीएल (1)
USA vs BAN (1)
WI vs SA (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ENG v PAK (W) (1)
CE Cup (1)
फ़ीचर्स

सुरक्षित माहौल में अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर रहे हैं कार्तिक

2006 में टी20 अंतर्राष्ट्रीय डेब्यू करने वाले कार्तिक ने शुक्रवार को अपने करियर का पहला अर्धशतक जड़ा

क्रिकेट के कुछ आंकड़ों और कारनामों को देखकर मन में सवाल आता है कि क्या यह सच में हुआ था या नहीं। शुक्रवार को ऐसे दो कारनामें हमें देखने को मिले। सबसे पहले एम्स्टलवीन में इंग्लैंड ने वनडे मैच में लगभग 500 रन बनाए। इसके बाद राजकोट में दिनेश कार्तिक ने टी20 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में 15 साल पहले डेब्यू करने के बाद अपना पहला अर्धशतक जड़ा।
कार्तिक का वह डेब्यू मैच भारत का पहला टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच था और वह एक अलग पीढ़ी के साथ खेल रहे थे। उस मैच में विपक्षी टीम के कप्तान रहे ग्रेम स्मिथ शुक्रवार के मैच में कॉमेंट्री कर रहे थे। हालांकि इतने लंबे करियर में कार्तिक को केवल 34 टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच खेलने का मौक़ा मिला। 2010 से 2017 के बीच सात सालों में उन्होंने भारत के लिए एक भी टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच नहीं खेला था।
भारतीय टीम से उनके वनवास का बड़ा कारण यह था कि कार्तिक इस दौरान महेंद्र सिंह धोनी के बाद टीम के दूसरे विकेटकीपर थे और समझा जा रहा था कि वह बतौर विशेषज्ञ बल्लेबाज़ टीम में खेलने के योग्य नहीं है। हालांकि अब यह प्रारूप बदल चुका है और सुपर-विशेषज्ञ खिलाड़ियों के लिए अवसर ही अवसर है। पिछले कुछ महीनों में कार्तिक फ़िनिशर की भूमिका में ऐसे ही सुपर-विशेषज्ञ खिलाड़ी बनकर उभरे हैं। आईपीएल 2022 की शुरुआत से वह इस स्तर पर बल्लेबाज़ी कर रहे हैं कि भारतीय टीम प्रबंधन को एकादश में उन्हें स्थान देना ही पड़ा।
भारत पारी के अंतिम पांच ओवरों में उनका इस्तेमाल करना चाहता था। इसलिए सीरीज़ के दूसरे मैच में जब 13वें ओवर में चौथा विकेट गिरा तो अक्षर पटेल उनसे पहले बल्लेबाज़ी करने आए। यह रणनीति विफल हुई और अक्षर ने 10 रन बनाने के लिए 11 गेंदों का सामना किया।
राजकोट में भी भारत ने 13वें ओवर में चौथा विकेट गंवाया लेकिन पिच हरकत कर रही थी। धीमी पिच होने के कारण गेंद ठीक से बल्ले पर नहीं आ रही थी और दोहरा उछाल भी मिल रहा था। नौवें ओवर में अनरिख़ नॉर्खिये की पहली गेंद हार्दिक पंड्या के बल्ले के नीचे से निकल गई जबकि पांचवीं गेंद ऋषभ पंत के ग्लव पर जाकर लगी।
इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए भारत ने अक्षर को नहीं बल्कि कार्तिक को ही छठे नंबर पर भेजने का निर्यण लिया। हार्दिक ने उन्हें शुरुआत में अपना समय लेने को कहा क्योंकि सेट होने के बाद रन बनाना आसान था। कार्तिक ने चार गेंदों बाद अपना खाता खोला और एक समय आठ गेंदों पर छह रन बनाकर खेल रहे थे। हालांकि इस दौरान उन्होंने परिस्थितियों का जायज़ा लिया।
16वें ओवर में तेम्बा बवूमा ने नॉर्खिये को गेंदबाज़ी पर वापस बुलाया। तब तक कार्तिक सेट हो चुके थे और अब प्रहार करने का समय था। चहलक़दमी करते हुए उन्होंने मिडऑफ़ के ऊपर से चौका लगाया। दो गेंदों बाद उन्होंने कट के सहारे प्वाइंट की दिशा में एक और चौका बटोरा।
दूसरे छोर पर उन्होंने केशव महाराज के ख़िलाफ़ स्वीप, ड्राइव और रिवर्स पुल पर तीन और चौके जड़ दिए। महाराज ने बाद में कहा, "वह विचित्र क्षेत्रों में रन बनाते हैं। इससे उनके ख़िलाफ़ गेंदबाज़ी करना कठिन है।"
ड्वेन प्रिटोरियस ने पहले दो ओवरों में केवल नौ रन दिए थे लेकिन अब उनका सामना अच्छी लय में बल्लेबाज़ी कर रहे कार्तिक से होने वाला था। क्रीज़ की गहराई में खड़े कार्तिक ने क्रीज़ में क़दमताल करते हुए तीन गेंदों पर 6,4,4 लगाया। प्रिटोरियस ने अगले और पारी के अंतिम ओवर की पहली गेंद पर छक्का लगाकर कार्तिक ने अपना अर्धशतक पूरा किया।
जब 12.5 ओवर में 81 के कुल स्कोर पर पंत आउट हुए, ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो के फ़ोरकास्टर ने 149 के कुल स्कोर का अनुमान लगाया था। हालांकि कार्तिक की तूफ़ानी पारी की बदौलत भारत ने छह विकेट पर 169 रन बनाए जो साउथ अफ़्रीका के कुल स्कोर से लगभग दो गुना था।
आईपीएल 2022 की शुरुआत से कई मौक़ों पर कार्तिक ने बताया है कि कैसे उन्होंने अपने कोच के साथ बहुत मेहनत की हैं। वह कहते हैं कि इस अभ्यास ने उन्हें परिस्थितियों को बेहतर ढंग से समझने और उसे अनुसार खेलने में मदद की है। इसके अलावा शुक्रवार को मैच के बाद उन्होंने भारतीय ड्रेसिंग रूम के माहौल और वहां मिले समर्थन के बारे में बताया।
पोस्ट मैच प्रेज़ेंटेशन में उन्होंने कहा, "मैं इस टीम में सुरक्षित महसूस कर रहा हूं। पिछले मैच में चीज़ें मेरे पक्ष में नहीं गई थी (आठ गेंदों पर वह छह रन बनाकर आउट हुए थे) लेकिन मैच के बाद ड्रेंसिंग रूम में सांत्वना का माहौल था। इस समय ड्रेसिंग रूम एक सुरक्षित स्थान है। जब चीज़ें अच्छी जा रही होती है या जब वह सही नहीं होती तब भी बहुत अच्छा लगता है। यहां एक अलग तरह का सुकून है।"
कार्तिक ने आगे कहा, "राहुल भाई सीरीज़ में हमारे अंदाज़ को लेकर काफ़ी स्पष्ट हैं। मुझे नहीं लगता कि उन्होंने यह कहा है कि हमें साउथ अफ़्रीका को हराना है। वह केवल बल्लेबाज़ों और गेंदबाज़ों से रखी गई उम्मीदों के बारे में बात कर रहे हैं। मेरा मानना है कि वह स्पष्टता बहुत ज़रूरी है।"
आईपीएल की आतिशबाज़ियों के बाद कार्तिक ने भारतीय टीम में जगह बनाई। अब वह टी20 विश्व कप की टीम के लिए अपनी दावेदारी मज़बूत कर रहे हैं।

हेमंत बराड़ ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।