ख़बरें

विकेट गंवाने के बावजूद हम आक्रामक बल्लेबाज़ी करेंगे : श्रेयस अय्यर

भारतीय बल्लेबाज़ ने बताया कि टीम आने वाले मैचों में इसी रणनीति के साथ मैदान पर उतरेगी

भारत द्विपक्षीय टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में नतीजों की परवाह किए बिना अक्तूबर-नवंबर में ऑस्ट्रेलिया में खेले जाने वाले टी20 विश्व कप की तैयारी कर रहा है। साउथ अफ़्रीका के विरुद्ध लगातार दूसरा टी20 मैच हारने के बाद श्रेयस अय्यर ने यह प्रतिक्रिया दी।
श्रेयस ने कहा, "हमारा मुख्य उद्देश्य विश्व कप है, इसलिए हम उसके मद्देनज़र अपनी योजना बना रहे हैं। हम किसी और चीज़ के बारे में सोचे बिना खुले मन से मैदान पर उतर रहे हैं। इन मैचों में हम अतीत की उन सभी कमज़ोरियों पर काम कर सकते हैं। टीम मीटिंग में भी हम यही बात करते हैं। चाहे कुछ भी हो जाए, हमें बनाई गई योजनाओं पर अमल करना है। असफल होने पर भी हम सीखेंगे और बतौर खिलाड़ी के साथ-साथ बतौर टीम भी विकसित होंगे। ऑस्ट्रेलिया पहुंचने तक यह ज़्यादा महत्वपूर्ण है।"
इनमें से एक योजना यह है कि लगातार अंतराल पर विकेट गिरने के बावजूद बल्लेबाज़ आक्रामकता के साथ खेलना जारी रखेंगे। इसका उदाहरण हमें पहले मैच में देखने को मिला जहां सभी बल्लेबाज़ों ने अपने हाथ खोले और टीम को 211 के स्कोर तक पहुंचाया।
इस पर श्रेयस ने कहा, "हमने यह प्लान बनाया है कि चाहे कुछ भी हो जाए, हम (आक्रामक खेल) जारी रखेगें। भले ही विकेट गिरते रहे, यह हमारी योजना है और भविष्य में भी हम इसी विचारधारा के साथ जाएंगे। हमें ख़ुद पर पूरा भरोसा है।"
हालांकि रविवार को कटक की एक मुश्किल पिच पर भारतीय बल्लेबाज़ अधिक प्रयास करने के बाद भी खुलकर नहीं खेल पाए। अंततः छह विकेट के नुक़सान पर उन्होंने 148 रन बनाए जो जीत दिलाने लायक स्कोर नहीं था।
"मुझे लगता है कि हम 11 से 15 ओवरों तक (संभलकर) खेल सकते थे लेकिन उस समय आपको स्कोरबोर्ड को भी आगे बढ़ाना है," श्रेयस ने कहा। "मैच के बाद मुझे लगता है कि 160 उन पर दबाव बनाने योग्य स्कोर होता और हम 12 रन पीछे रह गए।"
उन्होंने यह भी बताया कि भारत दिनेश कार्तिक का इस्तेमाल अंतिम पांच ओवरों में करना चाहता है। 13वें ओवर में चौथी विकेट गंवाने के बाद अक्षर पटेल, कार्तिक से पहले बल्लेबाज़ी करने आए। अक्षर ने 11 गेंदों पर 10 रन बनाए। पारी में 37 गेंदें शेष रहते हुए कार्तिक क्रीज़ पर आए लेकिन उन्हें भी तेज़ी से रन बनाने में परेशानी हुई। एक समय पर 16 गेंदें खेलने के बाद उन्होंने केवल नौ रन बनाए थे। हालांकि अंत में बड़े शॉट लगाने के कारण उनका अंतिम स्कोर 21 गेंदों पर नाबाद 30 रन था।
श्रेयस ने कहा, "हमने इस बारे में गेमप्लान बनाया है। सात ओवर शेष थे और अक्षर सिंगल लेने में और स्कोरबोर्ड को चलाने में सक्षम है। उस समय हमें ऐसे बल्लेबाज़ की आवश्यकता नहीं थी जो पहली गेंद से बड़ा शॉट लगाए। कार्तिक भी वह काम कर सकते हैं लेकिन 15वें ओवर के बाद आकर वह बड़े शॉट खेल सकते हैं। आज उन्हें भी शुरुआत में कठिनाई हुई। आज के मैच में पिच ने अहम भूमिका निभाई लेकिन हम यह रणनीति आने वाले मैचों में भी अपनाएंगे।"

हेमंत बराड़ ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।