मैच (21)
IPL (3)
SA v SL (W) (1)
USA vs CAN (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (6)
Women's Tri-Series (1)
ख़बरें

चक्रवर्ती के चक्रव्यूह में फंसे बेंगलुरु के बल्लेबाज़

शार्दुल, गुरबाज़ और रिंकू ने किया बल्ले से कमाल

वरुण चक्रवर्ती ने चार विकेट लिए  •  BCCI

वरुण चक्रवर्ती ने चार विकेट लिए  •  BCCI

गुरूवार रात खेले गए मुक़ाबले में अपने घर में खेल रही कोलकाता की टीम बेंगलुरु पर हावी रही और 81 रनों की विशाल जीत दर्ज की। एक नज़र मैच के अहम पहलुओं पर।
बल्लेबाज़ी
केकेआर (A+) शुरुआती दौर में बल्लेबाज़ी में कुछ ख़ास नहीं कर पाए। वेंकटेश अय्यर और मंदीप सिंह, डेविड विली के एक ही ओवर में बोल्ड हो गए। कप्तान नितीश राणा ने भी स्कोरर्स को ज्यादा परेशान नहीं किया। लेकिन सलामी बल्लेबाज़ रहमानउल्लाह गुरबाज़ का बल्ला नहीं रुका। छह चौके और तीन छक्को की मदद से उन्होंने अपना अर्धशतक पूरा किया।इसके बाद रिंकू सिंह और शार्दुल ठाकुर ने अपने हाथ खोलने में कंजूसी नहीं की। शार्दुल के बल्ले से निकले लंबे छक्कों और चौकों की मदद से उन्होंने सिर्फ 20 गेदों में ही अर्धशतक पूरा कर लिया। 15वें ओवर में 140 के स्कोर से कोलकाता ने 20 वें ओवर तक 204 का स्कोर खड़ा कर दिया जिसमें शार्दुल के 68 रन (9चौके, 3 छक्के) और रिंकू के 46 रन (2 चौके, 3 छक्के) शामिल थे।
आरसीबी ( C ) के सलामी बल्लेबाज़ों विराट कोहली और फ़ाफ़ डुप्लेसी ने शुरुआत तो अच्छी की और महज़ 5वें ओवर तक 44 रन बना लिए लेकिन इसके बाद जैसे उन्होंने कोलकाता के स्पिनरों को खुद पर हावी होने का मौका दे दिया। गुगली को नहीं पढ़ पाने की वजह से ऊपरी क्रम के चार बल्लेबाज़ बोल्ड हो गए। 15वां ओवर आते-आते बेंगलुरु के 9 बल्लेबाज़ डगआउट में पहुंच चुके थे और पूरी टीम 18वें ओवर में 123 पर सिमट गई।
गेंदबाज़ी
बेंगलुरु (B) की गेंदबाज़ी में डेविड विली ने लगातार दो विकेट लेकर कोलकाता के शीर्ष क्रम में सेंध लगा दी। कप्तान नितीश राणा भी जल्दी ही चलते बने। कर्ण शर्मा ने गुरबाज़ और रसल को पवैलियन लौटाया। बेंगलुरु के गेंदेबाजों ने शुरुआती 11 ओवर में सिर्फ तीन छक्के और सात चौके ही पिटवाए थे । हालांकि 12वें ओवर में आए शार्दुल ने गेंदबाजों की कलई खोल दी। पांच विकेट के बाद कोलकाता के रिंकू और शार्दुल ने बेंगलुरू के गेंदबाजों पर पूरी तरह से हावी हो गए और 89 पर 5 से 191 पर 5 तक का सफर सिर्फ साढ़े सात ओवरों में ही पूरा कर लिया। आखिर 9 ओवरों में छह छक्के और 11 चौके लगे।
कोलकाता (A++) की स्पिन गेंदबाजों ने कमाल का प्रदर्शन किया। शुरुआत सुनील नारायण ने कोहली के विकेट के साथ की। इसके बाद गुगली के फेर में बेंगलुरु के बल्लेबाज़ ऐसे फंसे कि आखिर तक निकल नहीं पाए। वरुण चक्रवर्ती ने डुप्लेसी, मैक्सवेल और हर्षल पटेल की गिल्लियां बिखेरीं । सुयश शर्मा ने भी बेंगलुरु के तीन बल्लेबाज़ों को पवेलियन की राह दिखाई। चक्रवर्ती ने अपने चक्रव्यूह का चौथा विकेट निकाल कर टीम की जीत पक्की की।
क्षेत्ररक्षण
कोलकाता (A) के कप्तान ने स्पिन गेंदबाजों के लिए क्षेत्ररक्षण की जमावट कसी हुई की। नारायण की गेंद पर डीप प्वाईंट पर फील्डर पहले से ही तैनात था और कैच सीधा उसके हाथ में जाकर गिरा। वैसे ही कोलकाता ने अपनी गेंदबाज़ी के दौरान चार छक्के और 9 चौके दिए जो कि फील्डिंग और गेंदबाज़ी का संयुक्त प्रयास था ।
बेंगलुरु (B) की फील्डिंग शुरुआती 10 ओवरों के बाद बिखरी हुई नज़र आई। आखिरी के 10 ओवरों में लगे 11 चौके इस बात का प्रमाण रहे कि मैदानी फील्डर्स उतनी चुस्ती से गेंद को सीमा पार जाने से नहीं रोक पाए।
रणनीति
कोलकाता (A+) को टॉस हारने के बाद जब बल्लेबाज़ी मिली तो उन्होंने अपने अंतिम एकादश में वेंकटेश अय्यर को जगह दी और उनसे ओपनिंग भी करवाई। हालांकि उनका बल्ला नहीं चला लेकिन वेंकटेश के स्थान मिला पर इंपेक्ट प्लेयर के रुप में सुयश शर्मा का चयन रंग लाया। लेग स्पिनर सुयश ने तीन विकेट लेकर अपने चयन को सार्थक किया और कोलकाता की जीत में अहम भूमिका निभाई।
वहीं बेंगलुरु (B) ने पहले गेंदबाज़ी का फैसला लिया लेकिन पांच विकेट लेने के बाद उनके गेंदबाज़ जूझते हुए नज़र आए। मोहम्मद सिराज चार ओवर में 44 रन देकर एक विकेट ही ले पाए। उनकी जगह पर इंपेक्ट प्लेयर के रुप में अनुज रावत को लाया गया जो सिर्फ एक रन ही बना पाए।