मैच (15)
ENG v PAK (1)
ENG v PAK (W) (1)
T20WC Warm-up (6)
Vitality Blast (5)
CE Cup (2)
ख़बरें

मेहनत, एकाग्रता और परिवार का प्यार : आईपीएल फ़ाइनल के हीरो साई सुदर्शन के 96 रन की पारी के पीछे की दास्तां

गुजरात टाइटंस के लिए उनके 2023 सीज़न को देखकर हार्दिक पंड्या ने भी उनकी जमकर तारीफ़ की है

There was the odd bit of innovation on B Sai Sudharsan's part too, Chennai Super Kings vs Gujarat Titans, IPL 2023 final, Ahmedabad, May 29, 2023

सुदर्शन ने आईपीएल 2023 के फ़ाइनल में 96 रनों की पारी खेली  •  Associated Press

आईपीएल फ़ाइनल में चेन्नई सुपर किंग्स के विरुद्ध साई सुदर्शन की 96 रनों की अद्भुत पारी ने क्रिकेट के प्रशंसकों और पंडितों को काफ़ी प्रभावित किया। सुदर्शन ने भले ही शतक पूरा नहीं किया हो लेकिन एक धीमी शुरुआत के बाद उनकी पारी की गतिशीलता काफ़ी विशेष थी। इसी पारी के बदौलत गुजरात टाइटंस की टीम 215 रनों का विशाल लक्ष्य रखने में क़ामयाब हो पाई।
हालांकि सुदर्शन की माता उषा भारद्वाज ने पिछले साल ही सुदर्शन के इस तरह के प्रदर्शन की भविष्यवाणी कर दी थी। नवंबर 2022 में बेंगलुरु के क़रीब अल्लुर में विजय हज़ारे ट्रॉफ़ी (भारत के घरेलू 50 ओवर की प्रतियोगिता) के दौरान तमिलनाडु और छत्तीसगढ़ का मैच चल रहा था। सुदर्शन ने उस मैच में घरेलू क्रिकेट में अपना पहला शतक लगाया था।
उस पारी के दौरान उनकी मां ने ईएसपीएनक्रिकइंफ़ों से बात करते हुए कहा था, "मैं और हमारा पूरा परिवार अपने बेटे को अच्छा और मेहनती इंसान बनाने का प्रयास कर रहे हैं। हमें नहीं पता कि वह भारत के लिए खेल पाएगा या नहीं लेकिन अगर वह एक बढ़िया इंसान बनने में सफल रहा था तो वह एक दिन ज़रूर अच्छा क्रिकेटर भी बन जाएगा और काफ़ी रन भी बनाएगा।
हम सुदर्शन के मानसिक स्वास्थ्य पर काफ़ी ध्यान देते हैं। हमें पता है कि वह काफ़ी मेहनत कर रहा है और वह सफल भी होगा लेकिन हम अक्सर उसे उस वक़्त के लिए मानसिक रूप से तैयार करने की कोशिश करते हैं, जब वह रन नहीं बनाएगा। हम चाहते हैं कि वह उस वक़्त भी मानसिक रूप से मज़बूत रहे। जब वह शतक बनाता है तो हमारी बहुत ज़्यादा बात नहीं होती लेकिन जब वह कम बना कर थोड़ा परेशान होता है, तो हमारी काफ़ी बातचीत होती है।"
इस सीज़न आईपीएल में केन विलियमसन के चोटिल होने के बाद गुजरात की टीम से इम्पैक्ट प्लेयर के तौर पर पहली बार उतरे सुदर्शन को पहले पांच मैचों में मौक़ा मिला और उसमें उन्होंने कुल 176 रन बनाए, जिसमें दो अर्धशतक शामिल थे। हालांकि उसके बाद सुदर्शन को काफ़ी मैचों तक बाहर बैठना पड़ा। लेकिन उसके बाद तीन मैचों से उन्हें फिर से टीम में शामिल किया गया और उन्होंने 47, 43 और 96 के स्कोर बनाए।
कुल मिला कर सुदर्शन ने आठ मैचों में 141.40 के स्ट्राइक रेट और 51.71 की औसत से 362 रन बनाए। इसी दौरान उनके कप्तान हार्दिक पंड्या ने एक मैच के बाद प्रेज़ेंटेशन के दौरान कहा था, "जितनी बल्लेबाज़ी उन्होंने पिछले 15 दिनों में नेट्स में की है, आपको उसी का फल मैदान पर दिख रहा है। भविष्य में अगले दो सालों में वह केवल फ़्रैंचाइज़ क्रिकेट ही नहीं, भारतीय टीम के लिए भी बड़ी चीज़ें करते नज़र आएंगे।"
आईपीएल के दौरान उमा से हुई बात-चीत के दौरान उन्होंने कहा था, "सुदर्शन फ़िलहाल अपने स्ट्रेंथ ट्रेनिंग पर काफ़ी ध्यान दे रहा है। हालांकि उसके लिए एक बात साफ़ है कि मैच कोई भी हो, वह उसे उतना ही सिरयसली लेगा, जितना वह किसी घरेलू मैच के दौरान लेता है। हमारी पारिवारिक बातचीत के दौरान एक बात काफ़ी होती है कि खेल में आप जितने इंटेसिटी के साथ मेहनत करते हो, आपको फल भी उसी हिसाब से मिलता है। मतलब कड़ी मेहनत करना अनिवार्य है।"
आईपीएल से पहले या घर पर रहते हुए सुदर्शन अमूमन एक रूटीन को फ़ॉलो करते हैं। उषा के अनुसार, "रात को बिस्तर पर जाने से पहले उसके (सुदर्शन) पास एक सूची होती है कि उसे अगले दिन क्या-क्या करना है? इसमें योग, ध्यान, दौड़, स्ट्रेंथ ट्रेनिंग और नेट प्रैक्टिस शामिल होता है। सुदर्शन एक लिस्ट हर रोज़ ख़ुद भी बनाता है, जिसमें उसने क्या अच्छा किया और क्या बेहतर हो सकता है, जैसे बिंदु शामिल होते हैं।"

राजन राज ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर हैं