मैच (17)
आईपीएल (2)
ENG v PAK (W) (1)
T20I Tri-Series (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
CE Cup (3)
ख़बरें

विलियमसन : हम ऐलेन को अगले विश्व कप से पहले पर्याप्त अवसर देने के पक्ष में हैं

गप्टिल के योगदानों को स्वीकारते हुए न्यूज़ीलैंड की टीम ऐलेन को अधिक मुक़ाबलों में अवसर देना चाहती है ताकि वह विश्व कप से पहले पर्याप्त अनुभव प्राप्त कर सकें

Finn Allen and Devon Conway walk out to bat, New Zealand vs Sri Lanka, Men's T20 World Cup, Group 1, Sydney, October 29, 2022

बल्लेबाज़ी के लिए मैदान में प्रवेश करते कॉन्वे और ऐलेन  •  ICC via Getty Images

विश्व कप समाप्त होने के चंद दिनों के भीतर ही हाई प्रोफ़ाइल सीरीज़ खेलना न्यूज़ीलैंड के लिए नया नहीं है। पिछले वर्ष टी20 विश्व कप के तुरंत बाद ही न्यूज़ीलैंड की टीम को भारत के दौरे पर जाना पड़ा था।
हालांकि पिछली बार फ़ाइनल खेलने वाली न्यूज़ीलैंड की टीम को सेमीफ़ाइनल में शिकस्त मिली जिस वजह से इस बार उनके पास द्विपक्षीय सीरीज़ के लिए अतिरिक्त एक यो दो दिन मिल गए। शुक्रवार को वह वेलिंगटन में भारतीय टीम के ख़िलाफ़ टी20 सीरीज़ का आग़ाज़ करेंगे।
अगले साल होने वाले वनडे विश्व कप को मद्देनज़र रखते हुए न्यूज़ीलैंड की टीम ने भारत के ख़िलाफ़ चुनी टीम में डेवन कॉन्वे और फ़िन ऐलेन को जगह दी है। ऐसे में यह कहना अतिश्योक्ति नहीं होगी कि न्यूज़ीलैंड ऐलेन को अगले वनडे विश्व कप में अपने एक सलामी बल्लेबाज़ के तौर पर देख रहा है। जिसके फलस्वरूप मार्टिन गप्टिल को अपना चौथा विश्व कप खेलने से वंचित रहना पड़ सकता है।
हालांकि न्यूज़ीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने गप्टिल को सफ़ेद गेंद क्रिकेट के बेहतरीन बल्लेबाज़ों में से एक करार दिया है लेकिन साथ ही उन्होंने यह भी बताया है कि ऐलेन की मौजूदगी कैसे टीम को मज़बूती प्रदान करती है।
प्रेस वार्ता के दौरान विलियमसन ने कहा, "फ़िन एक बेहद ही प्रतिभावान खिलाड़ी हैं और उन्हें टीम के लिए अच्छा करते देखना सुखद अनुभूति है। सिडनी में ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ खेले गए विश्व कप के हमारे पहले मुक़ाबले में फ़िन ने ज़बरदस्त योगदान दिया। यह उनका ही प्रदर्शन था जो हमें मुक़ाबले में ऑस्ट्रेलिया से काफ़ी आगे ले गया। इतनी कम उम्र में ऐसी प्रतिभा के लिए ज़रूरी है कि उसे अधिक से अधिक अवसर मिले ताकि उस प्रतिभा में निखार लाया जा सके। वह इस सीरीज़ के प्रति भी सोच रहे हैं। वह मैदान में जाकर अपना नैच्युरल गेम खेलना चाहते हैं।"
केंद्रीय अनुबंध से ख़ुद को बाहर रखने के कारण ट्रेंट बोल्ट भारत के ख़िलाफ़ सीरीज़ में राष्ट्रीय टीम का हिस्सा नहीं हैं। ऐडम मिल्न 2017 के बाद वनडे में वापसी कर रहे हैं। पिछले कुछ अरसे में चोट ने उन्हें काफ़ी परेशान किया है। वहीं काइल जेमीसन अभी भी बैक इंजरी से जूझ रहे हैं। वहीं मिचेल सैंटनर के तौर पर न्यूज़ीलैंड के दल में सिर्फ़ एक प्रमुख स्पिन गेंदबाज़ है।
विलियमसन ने कहा, "ऐडम पिछले कुछ वर्षों में हमारे सबसे अच्छे परफ़ॉर्मर में से एक रहे हैं। दुर्भाग्यवश उन्हें पिछले कुछ समय में चोट ने काफ़ी परेशान किया। जब वह पूरी तरह से फ़िट होते हैं तो एक सुपर एथीलिट होते हैं। उनका दल में वापस आना काफ़ी फ़ायदेमंद सिद्ध होगा और इसके साथ ही ब्लेयर टिकनर भी वापसी कर रहे हैं।" दूसरी तरफ़ ख़ुद कप्तान विलियमसन अपनी फ़िटनेस को लेकर आश्वस्त हैं। वह दो वर्षों तक कोहनी की चोट से जूझ रहे थे लेकिन वह इस समय तीनों प्रारूपों में राष्ट्रीय टीम का हिस्सा हैं।
उन्होंने अपनी कोहनी को लेकर कहा, "इसमें काफ़ी समय लग गया लेकिन अब काफ़ी सुधार हो रहा है। मुझे हर प्रारूप खेलना और उन चुनौतियों का सामना करना अच्छा लगता है। हालांकि उसी समय संतुलन बनाए रखना भी ज़रूरी है। यह मैच खेलने से अधिक अपना समय बचाने के बारे में है। दुनिया भर में कई खिलाड़ी खेलते हैं, ऐसे में ज़रूरी है कि वह ख़ुद को तरोताज़ा बनाए रखने के लिए लगातार प्रयासरत रहें।"

शशांक किशोर ESPNcricinfo में सीनियर सब एडिटर हैं। अनुवाद ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो हिंदी के एटिटोरियल फ़्रीलांसर नवनीत झा ने किया है।