मैच (8)
ऑस्ट्रेलिया बनाम वेस्टइंडीज़ (1)
पाकिस्तान बनाम इंग्लैंड (1)
भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया (1)
वेस्टइंडीज़ बनाम इंग्लैंड (1)
ऑस्ट्रेलिया बनाम साउथ अफ़्रीका (1)
बांग्लादेश ए बनाम इंडिया ए (1)
एलपीएल (1)
विश्व कप लीग 2 (1)
ख़बरें

मार्क वुड : ऐसा लगा जैसे मैं फिर से डेब्यू पर हूं, लेकिन मुझे विश्व कप में जाकर सर्वश्रेष्ठ देना है

लगभग सात महीने बाद पहली बार इंग्लैंड के लिए खेलते हुए उन्होंने पाकिस्तान के ख़िलाफ़ विध्वंसक गेंदबाज़ी की

Mark Wood bowled with extreme pace on his return to action, Pakistan vs England, 3rd T20I, Karachi, September 23, 2022

वापसी पर मार्क वुड ने तेज़ गति से गेंदबाज़ी की  •  Getty Images

यह शायद विश्वास करना मुश्किल है लेकिन पाकिस्तान के ख़िलाफ़ तीसरे टी20 अंतर्राष्ट्रीय में एक मैच-जिताऊ तेज़ गेंदबाज़ी के स्पेल से पूर्व इंग्लैंड के तेज़ गेंदबाज़ मार्क वुड लगभग सात महीनों के लिए क्रिकेट से बाहर थे। मैच के बाद वुड ने यही बताया कि उनका लक्ष्य है अगले महीने टी20 विश्व कप के लिए तैयार रहना और इसके लिए कार्यभार प्रबंधन सबसे ज़रूरी है।
जब गुरुवार रात को पाकिस्तान ने इंग्लैंड को 10 विकेट से रौंदा, तो उनके कप्तान बाबर आज़म और मोहम्मद रिज़वान के बीच 203 रनों की विश्व-रिकॉर्ड सलामी साझेदारी हुई, और इसने दर्शाया कि इंग्लैंड की गेंदबाज़ी में गति और पैनेपन की कमी थी। फिर भी शुक्रवार को वुड का चयन आश्चर्य की बात थी, क्योंकि मार्च में वेस्टइंडीज़ में चोटिल होने के बाद उन्हें अपनी कोहनी पर दो बार सर्जरी करवानी पड़ी थी और उन्होंने केवल एक क्लब गेम खेला था।
वुड की गेंदबाज़ी में धार थी, और उन्होंने 156 किमी प्रति घंटे तक की गति को हासिल किया। कॉमेंट्री बॉक्स में मौजूद वसीम अकरम और वक़ार यूनुस दोनों प्रभावित हुए। 24 रन देकर तीन विकेट लेने में वुड ने बाबर को एक बाउंसर के ज़रिए पहले झकझोरा और फिर डीप थर्ड पर कैच आउट करवाया।
मैच के बाद 'स्काई स्पोर्ट्स' को वुड ने बताया, "सात महीने बाहर बैठकर आप ताज़ा तो रहेंगे ही। काफ़ी लंबा अरसा हो गया है और आख़िर तक मैं काफ़ी थक गया था। यह टी20 ही है लेकिन इसमें अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट की पूरी तीव्रता है। फ़िलहाल तो मैं आराम करूंगा और उम्मीद है फिर कोई मैच खेलूंगा। अब चुनौती यही होगी कि क्या मैं ऐसी गति और लय दोहरा पाऊंगा।"
नेशनल स्टेडियम में एक बार फिर दर्शकों ने मैदान को भर दिया था और आवाज़ एक अलग ही स्तर की थी। वुड ने दर्शकों की ऊर्जा से प्रेरणा लेने की बात की। उन्होंने अपने दूसरे ओवर में हैदर अली को आउट करके पाकिस्तान को 21 पर तीन की स्थिति में धकेला और बाद में हारिस रउफ़ को भी कवर पर एक कैच थमाने में मजबूर किया। इन प्रांतों की कहावत है 'पेस इज़ पेस, यार', और शुक्रवार को वुड इसे परिभाषित कर रहे थे।
वुड ने कहा, "शोर तो ज़बरदस्त था। यहां के समर्थक क्रिकेट को समझते हैं और अच्छे खेल की तारीफ़ करते हैं। मुझ नहीं पता सबसे ज़्यादा हल्ला बाबर और रिज़वान के लिए हो रहा था या मेरे लिए, लेकिन उन दोनों ने पिछले मैच में कमाल किया था। शुरुआत में ही उनके विकेट निकालना हमारे लिए बहुत ज़रूरी साबित हुआ। टॉपर्स [रीस टॉपली] ने मुझ से पहले एक ज़बरदस्त ओवर डाला और इससे मैं और आक्रामक गेंदबाज़ी कर सका। आज अच्छा दिन था, लेकिन जब आप काफ़ी समय से बाहर रहे हैं और लौटते हैं तो ज़ाहिर है आपकी ऊर्जा ज़्यादा होती है। ऐसा लगा जैसा आप डेब्यू पर हैं और दर्शक आपको अपने साथ लेकर आसमान में उड़ रहे हैं। अब चुनौती यही रहेगी कि क्या मैं अगले मैच में इसे दोहरा पाऊंगा?"
पाकिस्तान का अगला मैच रविवार को ही है, और ऐसे में शायद अब वुड की रफ़्तार के दर्शन लाहौर के पड़ाव में ही हो। हालांकि उनके दिमाग़ में सबसे बड़ी तारीख़ है 22 अक्तूबर, जब पर्थ में उनके विश्व कप अभियान का पहला मैच अफ़ग़ानिस्तान के ख़िलाफ़ होना है।
वुड ने कहा, "मैं अभी ठीक हूं लेकिन अब आइस मशीन का सहारा लेना पड़ेगा। रविवार को मेरा चयन होगा या नहीं, यह मुझे नहीं पता। मैं यह नहीं चाहता कि मैं यहां अधिक ज़ोर लगाऊं और फिर ऑस्ट्रेलिया के लिए तैयारी पर असर पड़े। मुझे विश्व कप के दौरान पीक करना है।" इंग्लैंड के अंतरिम कप्तान मोईन अली का कहना था कि वुड इस टीम का अभिन्न हिस्सा हैं, और जब वह मैदान पर नहीं रहते, तब भी उनका ड्रेसिंग रूम में प्रभाव शानदार होता है। ड्रेसिंग रूम में बेन डकेट और हैरी ब्रुक जैसे नए चेहरें हैं जिन्होंने गुरुवार के बड़ी हार के बाद भी हौसले बुलंद रखे और अगले ही दिन कारगर पारियां खेली।
वुड ने कहा, "यह अच्छी बात है कि हमारे ड्रेसिंग रूम में यह छूट है कि आप अपने मन की बात रखें। उस दिन (गुरुवार) को हमने केवल यह बात की कि हम क्या बेहतर कर सकते थे। हमने माना कि उन दोनों ने ज़बरदस्त बल्लेबाज़ी की। शायद हम कुछ अलग कर सकते थे, जैसे ज़्यादा शॉर्ट गेंदों का उपयोग, या बाएं हाथ के गेंदबाज़ कोण बदल सकते थे। बस ऐसी ही बातें हुई थी हमारे बीच।"

ऐंड्रयू मिलर (@miller_cricket) ESPNcricinfo के यूके एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo के सीनियर असिस्टेंट एडिटर और स्थानीय भाषा प्रमुख देबायन सेन ने किया है।