मैच (18)
NZ v AUS (1)
WPL (2)
PSL 2024 (3)
रणजी ट्रॉफ़ी (2)
Nepal Tri-Nation (2)
Sheffield Shield (3)
Dang CL (1)
विश्व कप लीग 2 (1)
CWC Play-off (3)
ख़बरें

सुनील जोशी : 'मैं भारतीय विश्व कप दल में कुलदीप को चुनूंगा और चहल को नहीं'

पूर्व चयनकर्ता के अनुसार अगर भारत को ऑस्ट्रेलिया को हराना है तो कुलदीप की अहम भूमिका होगी

पूर्व भारतीय स्पिनर और चयनकर्ता सुनील जोशी का कहना है कि वह वनडे विश्व कप के लिए भारतीय दल में युज़वेंद्र चहल को नहीं बल्कि कुलदीप यादव को चुनेंगे। ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो के साथ साक्षात्कार में उन्होंने कुलदीप की हालिया सफलता के राज़ पर अपने विचार व्यक्त किए।
यह पूछे जाने पर कि क्या वह कुलदीप यादव को भारतीय विश्व कप दल में चुनेंगे, जोशी ने कहा, "बिल्कुल। हम आज से सात-आठ महीने बाद की बात कर रहे हैं। उन्हें (बस) निरंतरता लानी होगी।"
दिसंबर में कुलदीप ने बांग्लादेश सीरीज़ में खेले अपने एकमात्र टेस्ट में पारी में पांच विकेट लेकर प्लेयर ऑफ़ द मैच ख़िताब अपने नाम किया था। इसके बाद उन्होंने श्रीलंका और न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ घर पर वनडे सीरीज़ में मैच जिताऊ प्रदर्शन किया और ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ अगले सप्ताह नागपुर में शुरू होने वाले पहले दो टेस्ट के लिए भारतीय टीम में अपनी जगह बनाई। जहां कुलदीप ने अपनी लय फिर से पा ली है, वहीं उनके अच्छे दोस्त और स्पिन जोड़ीदार, युजवेंद्र चहल ने अपनी लय खो दी है।
एक समय पर सीमित ओवर क्रिकेट में भारतीय एकादश के नियमित सदस्य रहने वाले चहल, जो रविवार को भारत की ओर से सर्वाधिक टी20आई विकेट लेने वाले गेंदबाज़ बने, कुछ समय से अपनी गेंदबाज़ी लय, तकनीक और आत्मविश्वास के साथ संघर्ष कर रहे हैं। इसने टीम प्रंबधन को उन्हें बेंच पर बैठाने पर मजबूर किया है।
जब जोशी से यह पूछा गया कि क्या वह विश्व कप के लिए 15 सदस्यों में चहल को चुनेंगे, उन्होंने कहा, "नहीं। इस समय मौजूद विकल्पों को देखते हुए, (रवींद्र) जाडेजा मेरे दल में होंगे। अगर वह लय में नहीं हैं तो अक्षर (पटेल) के रूप में बैक-अप है। उनके बाद मैं वॉशी (वॉशिंगटन सुंदर) या लेग स्पिनर के रूप में रवि बिश्नोई की ओर देखूंगा क्योंकि वह अधिक निरंतर और चहल के बेहतर फ़ील्डर हैं। साथ ही उनके पास एक तेज़ एक्शन भी है।"
2020 से 2022 तक भारतीय चयन समिति के सदस्य रहे जोशी ने कुलदीप और चहल के करियर को काफ़ी क़रीब से देखा है। उनका कहना है कि अपने एक्शन में महत्वपूर्ण बदलाव करना कुलदीप की सफलता का राज़ है।
जोशी ने कहा, "मैंने (2020-21) इंग्लैंड सीरीज़ और चेन्नई टेस्ट मैचों के दौरान कुलदीप के क़रीब से देखा था। (गेंदबाज़ी एक्शन में) उनका शरीर खुला हुआ था और उनका (दाहिना) हाथ नीचे गिर रहा था। आपका गेंदबाज़ी वाला हाथ जितना हो सके उतना शरीर के क़रीब होना चाहिए और दूसरा हाथ बल्लेबाज़ी की तरफ़ जाना चाहिए। कुलदीप ने यह बदलाव किया है।"
आर अश्विन, जाडेजा और अक्षर की गुणवत्ता ने कुलदीप को टेस्ट क्रिकेट में भारतीय स्पिनरों की सूची में नीचे खिसका दिया है। हालांकि हर बार मौक़ा मिलने पर कुलदीप ने अपनी छाप छोड़ी है। जोशी को लगता है कि अगर भारत को घर पर ऑस्ट्रेलिया को हराना है तो कुलदीप इसमें अहम भूमिका निभाएंगे।
उन्होंने कहा, "अगर अश्विन हमारे पहले विकल्प हैं और अगर जाडेजा उपलब्ध नहीं हैं, तो कुलदीप और अक्षर होने चाहिए। अगर जड्डू उपलब्ध हैं और टीम तीन स्पिनरों के साथ जाती हैं तो कुलदीप को खेलना चाहिए। इसके बारे में मत सोचिए कि मैदान कौन से हैं और हमारे स्पिनर अच्छा करेंगे या नहीं। हाल ही में उन्होंने जो भी सीरीज़ खेली है, फिर चाहे वह लाल गेंद से हो या सफ़ेद गेंद से, उन्होंने हर प्रकार से विकेट लिए हैं।
जोशी ने आगे कहा, "इससे पता चलता है कि वह अपनी लाइन और लेंथ के साथ बहुत सुसंगत रहे हैं। अगर भारत को ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ जीत दर्ज करनी है तो कुलदीप की अहम भूमिका होगी।"
नागराज गोलापुड़ी के साथ सुनील जोशी का पूरा साक्षात्कार आप यहां पढ़ सकते हैं

नागराज गोलापुड़ी ESPNcricinfo में न्यूज़ एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।