मैच (12)
IPL (2)
PAK v WI [W] (1)
RHF Trophy (4)
WT20 WC QLF (Warm-up) (5)
ख़बरें

टी20 विश्व कप के दौरान डब्ल्यूपीएल नीलामी 'ध्यान भटकाने वाली'

हरमनप्रीत, लानिंग और नाइट जैसी खिलाड़ियों ने इस 'अजीब' स्थिति से निपटने की योजना के बारे में बताया

टी20 विश्‍व कप के लिए तैयार हैं सभी टीमें  •  ICC/Getty Images

टी20 विश्‍व कप के लिए तैयार हैं सभी टीमें  •  ICC/Getty Images

महिला टी20 विश्व कप और 13 फ़रवरी को होने वाली डब्ल्यूपीएल नीलामी के बीच दुनिया की शीर्ष महिला क्रिकेटरों को अपनी उम्मीदों और भावनाओं को रोकने का तरीक़ा ख़ोजना होगा। कुल मिलाकर 45 खिलाड़ी (पूरी भारतीय टीम शामिल) शुक्रवार से शुरू होने वाले टी20 विश्‍व कप में खेलने जा रही है, ये डब्‍ल्‍यूपीएल में चुनी जा सकती हैं, जिसमें सात विदेशी खिलाड़ी प्रति टीम ख़रीद सकती है, जिसमें एसोसिएट देशों की भी एक खिलाड़ी शामिल रहेगी और इन सभी के करियर का यह सबसे बड़ा तनख्‍़वाह के तौर पर दिन हो सकता है। ज़ाहिर है कि इसी वजह से कुछ व्‍याकुलता भी हो सकती है।

न्‍यूज़ीलैंड की कप्‍तान सोफ़ी डिवाइन ने टी20 विश्‍व कप की कप्‍तानों की पत्रकार वार्ता में कहा, "ऐसा लगता है कि कमरे में कोई हाथी है। यह सच में अद्भुत अनुभव है। यह बहुत बड़ा है। मुझे लगता है कि डब्‍ल्‍यूपीएल अगला चरण होने जा रहा है। मैं इसको लेकर उत्‍साहित हूं। एक महिला क्रिकेटर के तौर पर यह कुछ ऐसा है जिससे हम पहले नहीं गुज़रे हैं। हर पैमाने पर, यह अजीब होने वाला है। यह वह शब्द है जिसके बारे में हमने बात की है।"

दिक़्क़त इससे आ सकती है कि कितने रुपये ऑफ़र किए जा सकते हैं, जो महिला क्रिकेट में पहले कभी नहीं देखे गए। डब्‍ल्‍यूपीएल टीमों के पास 12 करोड़ रुपये का पर्स है जो पिछले पुरुषों की आईपीएल राशि से लगभग आठ गुना छोटा है, लेकिन कुछ खिलाड़ियों को पर्याप्त वित्तीय प्रोत्साहन देने का वादा करता है। इसके विपरीत, यह दूसरों को भी नीचा दिखाएगा। डिवाइन ने कहा, "कई खिलाड़ी चुने जाने वाले हैं और कई नहीं। और आप अपनी क़ीमत के अनुसार रुपया पाने जा रहे हैं और एक इंसान के तौर पर यह कभी भी अच्‍छा नहीं हो सकता है, लेकिन यह एक जॉब है और इसी वजह से हमने अपना नाम इसमें दिया है।"

डिवाइन ने इसे "महिला क्रिकेट के लिए एक बड़ा कदम" कहा, लेकिन स्वीकार किया "आप यह सोचकर भोली होंगी कि यह ध्यान भंग करने वाला नहीं है।" न्‍यूज़ीलैंड के कैंप में जहां उन्‍हें नीलामी से दो दिन पहले टूर्नामेंट का पहला मैच खेलना है और नीलामी के दिन दूसरा मैच मैच खेलना है, इसको लेकर डिवाइन ने कहा, "हमें व्‍यक्तिगत रूप से इसको संभालना है।"

11 फ़रवरी को न्‍यूज़ीलैंड के विरूद्ध खेलने वाली ऑस्‍ट्रेलिया, नीलामी के दिन मैच नहीं खेलेगी और नीलामी पर ध्‍यान देगी लेकिन उम्‍मीद जताई कि वह इससे अधिक जुड़ाव नहीं रखेंगे। ऑस्‍ट्रेलिया की कप्‍तान मेग लानिंग ने कहा, "निजी तौर पर मैं बहुत उत्‍साहित हूं और जानती हूं कि साथी खिलाड़ी भी होंगी। हम इस पर फ़ोकस कर रहे हैं कि हम यहां क्‍या कर सकते हैं, जो अधिक अहम चीज़ है। इसके लिए कोई सही या ग़लत नहीं है। वे जैसा चाहती हैं उस तरह से इससे डील कर सकती हैं। हमने लोगों को इससे निपटने देने के बारे में एक टीम के रूप में बात की है क्योंकि वे सबसे अच्छा महसूस करते हैं, जैसा सोफ़ी ने कहा, यह थोड़ा अजीब है और यह बस उसे गले लगाने और समझने की बात है कि यह वास्तव में एक रोमांचक समय है और आपका इस पर बहुत अधिक नियंत्रण नहीं है। हमें बस इंतज़ार करना और देखना है।"

सभी की निगाहें भारतीय टीम पर होंगी जो नीलामी के दिन पाकिस्‍तान से मैच खेलेंगी, जिसके बारे में उन्‍हें तुरंत सोचने की ज़रूरत है। भारतीय कप्‍तान हरमनप्रीत कौर ने कहा, "नीलामी से पहले हमारा बहुत अहम मैच है और हमारा फ़ोकस बस उसी पर है।"

लेकिन वह विशेष रूप से भारतीय खिलाड़ियों के लिए नीलामी की भयावहता का उल्लेख करने से नहीं बच सकीं। उन्‍होंने कहा, "यह हम सभी के लिए बहुत बड़ा दिन है और हम इसका सालों से इंतज़ार कर रहे थे। अगले दो या तीन महीने महिला क्रिकेट के लिए बहुत अहम हैं। हमने देखा है कि किस तरह से डब्‍ल्‍यूबीबीएल और द हंड्रेड से उनके देशों में क्रिकेट में सुधार हुआ है। मैं ड्रेसिंग रूम में विदेशी खिलाड़‍ियों के साथ ही युवा टैलेंट को देखने की उम्‍मीद कर रही हूं। यही एक अलग तरह का एहसास है। जब मुझे मौक़ा मिला था तो यह एक बड़ा ज़‍िंदगी बदल देने वाला लम्‍हा था। दूसरी लड़‍कियां भी इसका अनुभव करेंगी। क्रिकेट के सुधार के लिए यह एक बड़ा मौक़ा है।"

इससे पहले कुछ हो, भारतीय टीम, अंडर-19 विश्‍व कप ट्रॉफ़ी के बाद दूसरा ख़‍िताब जीतना चाहता है। हरमनप्रीत ने कहा, "विश्‍व कप किसी भी चीज़ से अधिक अहम है। हमारा फ़ोकस आईसीसी ट्रॉफ़ी पर ही है। ये चीज़ें आती रहेंगी और खिलाड़ी जानती हैं कि उनके लिए क्‍या अहम है और कहां फ़ोकस लगाना है। हम सभी परिपक्‍व हैं और जानते हैं कि हमारे लिए क्‍या अहम है।"

हाल ही में खेल में नेतृत्व में मास्टर डिग्री पूरी करने वाली इंग्लैंड की कप्तान हेदर नाइट के अनुसार, अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट महिलाओं के खेल में अपनी जगह बनाए रख सकता है। नाइट का फ़ोकस फ़्रैंचाइज़ी क्रिकेट के उदय पर केंद्रित था और उन्‍हें उम्मीद है कि महिलाओं का खेल एक ख़ोज की ओर सकता है जहां "फ़्रैंचाइज़ी लीग और अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के बीच अच्छा गतिशील साबित हो सकता है।"

नाइट ने पुरुषों के खेल की ओर इशारा किया, जहां मताधिकार और अंतर्राष्ट्रीय कर्तव्य के बीच संघर्ष अधिक आम हो रहे हैं, और कहा कि जब वह लीग के विकास का समर्थन करती हैं तो उन्हें उम्मीद है कि महिलाओं के खेल को द्विपक्षीय श्रृंखलाओं के साथ संतुलित करने के लिए "मीठा स्थान" मिल सकता है। "फ़्रैंचाइज़ी क्रिकेट और ये टूर्नामेंट वास्तव में अच्छी बात है लेकिन अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट और घरेलू क्रिकेट को फलने-फूलने के लिए क्या गतिशील है? वह प्यारी जगह है। आपने पुरुषों के खेल में देखा है, फ़्रैंचाइज़ी ने थोड़ा-थोड़ा स्थान लेना शुरू कर दिया है। मुझे लगता है कि महिलाओं के खेल में आप फ़्रैंचाइज़ी लीग और अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के बीच वास्तव में अच्छा गतिशील हो सकते हैं। ऐसा करने में सक्षम होने के लिए अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट को थोड़ी मदद की ज़रूरत है लेकिन यह बेहद रोमांचक समय है। मैं खेल के भविष्य और उन अवसरों को लेकर बेहद उत्साहित हूं जो खिलाड़ियों के लिए विकसित हो रहे हैं। आप देखते हैं कि रचेल हेंस को एक कोच के रूप में चुना गया है और मुझे लगता है कि खेल को बहुत कुछ मिला है जहां वे पिछले खिलाड़ी हैं और उन्होंने खेल में कैसे योगदान दिया है।"

डिवाइन, लानिंग और हरमनप्रीत की तरह, नाइट भी डब्ल्यूपीएल के लिए अपने उत्साह को छिपा नहीं सकी और उनका मानना ​​है कि यह महिलाओं के खेल के परिदृश्य को बदल देगा। उन्‍होंने कहा, "यह महिला क्रिकेट में एक रोमांचक समय है और चीज़ें बहुत तेज़ी से बदल रही हैं। बहुत सारी फ़्रैंचाइज़ी प्रतियोगिताएं सामने आ रही हैं। और यह वास्तव में एक दिलचस्प गतिशील बनाने जा रहा है। मुझे लगता है कि यह खेल के लिए बिल्कुल शानदार है। महिला आईपीएल पूरी तरह से गेम चेंजर साबित होने जा रहा है। जो पैसा आने वाला है और साथ ही दुनिया भर में महिलाओं के खेल की धारणा भी बदलेगी, इससे अन्य बोर्ड इसे देखेंगे और सोचेंगे कि उन्हें यहां क्‍या करना है। मैं वास्तव में आशा करती हूं कि यह कई अलग-अलग देशों में बदलाव को गति देगा।"

फ़‍िरदौस मूंडा ESPNcricinfo में साउथ अफ़्रीका की संवाददाता हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है।