मैच (6)
हज़ारे ट्रॉफ़ी (4)
श्रीलंका बनाम अफ़ग़ानिस्तान (1)
न्यूज़ीलैंड बनाम भारत (1)
फ़ीचर्स

एक ही साल में दो एशिया कप?

एक अक्तूबर से बांग्लादेश में आयोजित होने वाले एशिया कप से जुड़े हर मुश्किल सवाल का आसान जवाब

Harmanpreet Kaur is delighted with the run-out of Alice Capsey, England vs India, 2nd women's T20I, Derby, September 13, 2022

भारत ने सबसे ज़्यादा बार महिला एशिया कप का ख़िताब जीता है  •  PA Images via Getty Images

यूएई में पुरुषों के एशिया कप सफल आयोजन के बाद बांग्लादेश में महिलाओं के एशिया कप का आयोजन हो रहा है। कम शब्दों में पूरी कहानी यह है कि यूएई में एशिया का सरताज़ बनने की होड़ पुरुषों की थी तो अबकी बारी दौड़ महिलाओं के बीच है।
अच्छा, तो यहां महिला एशिया कप की बात हो रही है। लेकिन यह आयोजित कहां होने वाला है?
महिलाओं की एशिया कप की मेज़बानी बांग्लादेश करेगा, जो कि सिलहट अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में खेले जाएंगे। 2018 में पाकिस्तान के विरुद्ध खेली गई सीरीज़ के बाद ऐसा पहली बार है जब बांग्लादेश में कोई महिला अंतर्राष्ट्रीय मुक़ाबला खेला जाएगा। 2014 में हुए विश्व कप के बाद यह भी पहली बार होगा जब सिलहट किसी अंतर्राष्ट्रीय महिला मुक़ाबले की मेज़बानी करेगा।
मुझे और जानकारी चाहिए। कितनी टीमें खेल रही हैं? प्रारूप कैसा होगा?
टी20 प्रारूप में पहली बार महिला एशिया कप 2012 में खेला गया था। इसका आख़िरी संस्करण 2018 में आयोजित किया गया था। आगामी संस्करण पहले 2020 में ही आयोजित किया जाने वाला था लेकिन 2020 में पहले इसका आयोजन कोरोना के कारण 2021 तक के लिए टल गया और बाद में भी इसे स्थगित करना पड़ा। आख़िरकार इस वर्ष टी20 प्रारूप में चौथी बार एशिया कप का आयोजन किया जाएगा जबकि अपने आरंभ से यह अपना आठवां संस्करण होगा, जिसमें चार बार (2004,05,06 और 2008) इसका आयोजन एकदिवसीय प्रारूप में हुआ है।
इस बार ट्रॉफ़ी के लिए सात टीमों के बीच भिड़ंत होगी। भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका, मलेशिया, थाईलैंड, यूएई और मेज़बान बांग्लादेश राउंड-रोबिन प्रारूप में एक दूसरे के सामना करेंगे। हर टीम छह मुक़ाबले खेलेगी, जिसके बाद शीर्ष चार टीमें दो सेमीफ़ाइनल मुकाबलों के लिए टूर्नामेंट के अगले दौर में प्रवेश करेंगी। इस लिहाज़ से यह अब तक का सबसे लंबा एशिया कप भी होने जा रहा है। इससे पहले तक एशिया कप में छह टीमें भिड़ा करती थीं और शीर्ष दो स्थान पर काबिज़ रहने वाली टीमों के बीच सीधे फ़ाइनल मुक़ाबला खेला जाता था।
यूएई पहली बार एशिया कप में भाग लेगी। टूर्नामेंट के लिए क्वालीफायर, एशियन क्रिकेट काउंसिल वीमेंस टी20 चैंपियनशिप के फाइनल में यूएई ने मलेशिया को हराया था।
वाह, तो यह शुरू कब हो रहा है? और समय क्या रहेगा?
यह 15 दिनों तक खेला जाएगा और टूर्नामेंट का पहला मुक़ाबला एक अक्तूबर को बांग्लादेश और थाईलैंड के बीच खेला जाएगा। इसी दिन दोपहर में भारत और श्रीलंकड के बीच भिड़ंत होगी। स्थानीय समयानुसार सुबह का मैच 9.30 बजे और दोपहर का मुक़ाबला 1.30 बजे शुरू होगा।
गत विजेता कौन हैं और कौन सी टीम ने सबसे ज़्यादा एशिया कप जीते हैं?
इस एशिया कप की मेज़बानी करने वाले बांग्लादेश के हाथों में ही इस वक़्त एशिया कप का ख़िताब है। उन्होंने 2018 में कुआला लंपुर में खेले गए क़रीबी मुक़ाबले में भारतीय टीम को मात दी थी।
एशिया कप में सबसे बढ़िया प्रदर्शन करने वाली टीम भारत ही है। भारतीय टीम ने टी20 प्रारूप में खेले गए एशिया कप का ख़िताब तीन में से दो बार अपने नाम किया है। जबकि एकदिवसीय प्रारूप में खेले गए चारों एशिया कप भारतीय टीम के ही नाम रहे। एकदिवसीय प्रारूप में खेले गए सभी 20 मुक़ाबलों में भारतीय टीम को जीत हाथ लगी। वहीं 2012 में इस टूर्नामेंट के टी20 प्रारूप में परिवर्तित होने के बाद सिर्फ़ दो मुक़ाबलों में ही भारत को हार स्वाद चखना पड़ा। भारतीय टीम ने यह दोनों ही मुक़ाबले बांग्लादेश के विरुद्ध 2018 में हारे।
2022 में कुछ ऐसे मुक़ाबलों के बारे में बताइए जिन्हें किसी भी क़ीमत पर मिस नहीं करना है।
अगर बात एशिया कप ही है, तो सात अक्तूबर को भारत और पाकिस्तान के बीच होने वाली भिड़ंत को कोई क्यों ही छोड़ना चाहेगा? इसके ठीक चार दिन बाद ही पाकिस्तान और श्रीलंका के बीच दिलचस्प भिड़ंत होने की उम्मीद है। दोनों टीमों के बीच अब तक टी20 के 16 मुक़ाबले खेले गए हैं। जिनमें पाकिस्तान को 9-6 की बढ़त हासिल है, वहीं एक मुक़ाबला 2013 में बारिश की भेंट चढ़ने की वजह से बेनतीज़ा रहा था लेकिन तब तक पाकिस्तान आख़िरी पांच मुकाबलों में श्रीलंका को पटखनी दे चुका था।
लेकिन इन सबके पहले चार अक्तूबर का इंतज़ार कीजिए। इस दिन श्रीलंका और थाईलैंड के बीच होने वाली भिड़ंत भी मज़ेदार होगी। दोनों ही टीमें अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में अब तक सिर्फ़ एक बार पिछले एशिया कप के दौरान भिड़ी हैं, जिसमें थाईलैंड पहली बार किसी पूर्ण सदस्य को हराते हुए बड़ा उलटफेर कर डाला था। इतना ही नहीं, अगस्त महीने से लेकर अब तक श्रीलंका ने थाईलैंड के आठ मुक़ाबले की तुलना में टी20 के सिर्फ दो मुक़ाबले ही खेले हैं। दो साल बाद, अपने पहले विश्व कप में थाईलैंड ने पाकिस्तान को परास्त कर ही दिया था यदि वो मैच बारिश ने उनकी उम्मीदों पर पानी ना फेरा होता। इसलिए क्या पता, 6 अक्तूबर का दिन भी अपने साथ कोई बड़ा उलटफेर लेकर आए।
क्या मुझे हर टीम के बारे में और अधिक जानकारी मिल सकती है?
इंग्लैंड दौरा चुकने के बाद जेमिमाह रोड्रिग्स एक बार फिर भारतीय टीम में वापसी कर रही हैं। कॉमनवेल्थ गेम्स के बाद इंग्लैंड दौरे पर वापसी करने वाली ऋचा घोष भी टीम में शामिल हैं। तेज़ गेंदबाज़ी की अगुवाई करने वालीं रेणुका सिंह के साथ यह दोनों मध्य क्रम में भारतीय टीम के लिए महत्वपूर्ण साबित हो सकती हैं।
महिला सीपीएल में टखने में चोट लगने के बाद फ़ातिमा सना का एशिया कप से बाहर होना पाकिस्तान के लिए बड़ा झटका है। हालांकि उनके पास कप्तान बिस्माह मारूफ़ और ऑल राउंडर निदा डार और आयशा नसीम की तिकड़ी है, जो उन्हें एक मज़बूत टीम बनाती है।
पिछले सप्ताह महिला टी20 विश्व कप क्वालीफ़ायर में जीत दर्ज करने वाली बांग्लादेश की टीम जहांआरा आलम और फ़रगाना हक़ की वापसी के बाद काफ़ी मज़बूत नज़र आ रही है। अपनी टीम के लिए कप्तान निगार सुल्ताना भी विश्व कप क्वालीफ़ायर में सबसे ज़्यादा रन बनाने के बाद एशिया कप में प्रवेश कर रही हैं। वह सबसे ज़्यादा रन बनाने वाली बैटर की सूची में दूसरे स्थान पर थीं। उन्होंने 45 के औसत और 105 के स्ट्राइक रेट से 180 रन बनाए थे।
चोट के चलते युवा विश्मी गुनारत्ना के बाहर होने के चलते श्रीलंका एक बार फिर चमारी अटापट्टू पर अधिक निर्भर रह सकती है। स्पिनर इनोका रनावीरा और ओशादी रनासिंघे गेंद के साथ श्रीलंका के लिए सफलता की कुंजी साबित हो सकती हैं। जबकि श्रीलंका का मध्य क्रम हसिनी परेरा और हर्षिता समा विक्रमा के इर्द गिर्द घूम सकता है।
थाईलैंड अपना तीसरा एशिया कप खेलने जा रहा है और क्वालीफ़ायर में चौथे स्थान पर अंत करने के बाद सफलता की भूख ज़ाहिर तौर पर उनके ऊपर सवार होगी। नत्ताया बूचाथम, नटखाम चंथाम* और चानिदा सुथ्थीरुआंग पर सबकी नज़रें होंगी।
मलेशिया और यूएई ने एसीसी एशिया महिला टी20 चैंपियनशिप के फ़ाइनलिस्ट के तौर पर एशिया कप में प्रवेश किया है। मलेशिया 2018 में भी एशिया कप का हिस्सा रह चुका है जबकि यूएई पहली बार एशिया कप खेलने जा रहा है। टी20 चैंपियनशिप के फाइनल में निराशा हाथ लगने के बाद सौदारी कप में मलेशिया ने सिंगापुर को 3-0 से धूल चटा दी। एलसा हंटर का 135 का स्ट्राइक रेट दोनों ही टीमों की तमाम बैटर में सबसे उम्दा था। कप्तान विनिफ़्रेड दुरइसिंगम और मास अलीसा भी बल्ले के साथ मलेशिया के लिए काफ़ी उपयोगी साबित हो सकती हैं।
दूसरी तरफ़ यूएई 2021 से लेकर अब तक सबसे ज़्यादा 28 टी20 मुक़ाबले खेलने वाली टीम है, जिनमें 20 मुक़ाबलों में यूएई को जीत हासिल हुई है। इन जीतों में क्वालीफ़ायर में इन फ़ॉर्म ज़िम्बाब्वे को भी हराया जाना शामिल है। इशा ओझा, तीर्था सतीश, कविशा एगोडगे और कप्तान छाया मुग़ल टीम की मुख्य खिलाड़ी हैं।
यूएई और मलेशिया की कई खिलाड़ियों के पास इस साल की शुरुआत में आयोजित हुए फेयरब्रेक इन्विटेशनल टूर्नामेंट में स्थापित खिलाड़ियों के साथ खेलने का अनुभव भी है।

एस सुदर्शन ESPNcricinfo के सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के एडिटोरियल फ़्रीलांसर नवनीत झा ने किया है।