मैच (5)
West Indies v India T20I Series (1)
राष्ट्रमंडल खेल (2)
द हंड्रेड (पुरुष) (1)
ज़िम्बाब्वे में बांग्लादेश (1)
ख़बरें

एडिलेड में पिंक बॉल टेस्ट खेलेंगे डेविड वॉर्नर

पहले ऐशेज़ टेस्ट के दौरान पसली में लगी थी चोट

David Warner nurses his ribs in the Adelaide Oval nets, Australia training, The Ashes, Adelaide, December 14, 2021

एडिलेड में नेट सत्र के दौरान संघर्ष कर रहे थे डेविड वॉर्नर  •  AFP/Getty Images

पसली में लगी चोट के बावजूद डेविड वॉर्नर गुरुवार से एडिलेड में शुरू हो रहे दूसरे ऐशेज़ टेस्ट में खेलते नज़र आएंगे। साथ ही इस बात की भी पुष्टि हो गई है कि इस पिंक बॉल टेस्ट मैच के लिए जाय रिचर्डसन चोटिल जॉश हेज़लवुड की जगह लेंगे।
गाबा टेस्ट के दूसरे दिन बल्लेबाज़ी के दौरान बेन स्टोक्स की गेंद वॉर्नर की पसली पर जाकर लगी थी। हालांकि उन्होंने बल्लेबाज़ी जारी रखी, वह दोनों टीमों की दूसरी पारी के दौरान मैदान पर नहीं उतरे। एक्स-रे के बाद पता चला कि उनकी पसली टूटी नहीं है जिसके बाद ऑस्ट्रेलिया ने उनकी फ़िटनेस पर भरोसा करते हुए मैच से एक दिन पहले अपनी एकादश में उनका नाम शामिल किया।
मंगलवार शाम को नेट सत्र के दौरान वॉर्नर संघर्ष कर रहे थे और उन्होंने केवल थ्रो-डाउन के ख़िलाफ़ बल्लेबाज़ी की। कप्तान पैट कमिंस ने कहा कि पसलियों में दर्द निवारक इंजेक्शन वॉर्नर के लिए एक विकल्प है, लेकिन वह इस मैच से पहले ऐसा नहीं करेंगे। साथ ही उन्हें उम्मीद है कि वॉर्नर हमेशा की तरह स्लिप में फ़ील्डिंग करेंगे।
कमिंस ने कहा, "अगर डेवी (वॉर्नर) को लगता कि वह ठीक नहीं होंगे तो वह नहीं खेलते। उन्होंने कल थोड़ी असहजता के साथ बल्लेबाज़ी की लेकिन वह इस मैच को मिस नहीं करना चाहेंगे। यह टूटी हुई हड्डी का मामला नहीं है जो और बिगड़ता चला जाए। साथ ही मुझे नहीं लगता कि वह खेलने के अपने अंदाज़ में कोई बदलाव करेंगे।"
पिछले साल भी वॉर्नर वनडे सीरीज़ में चोटिल होने के बावजूद भारत के ख़िलाफ़ अंतिम दो टेस्ट मैच के लिए अंतिम एकादश का हिस्सा थे।
इसी बीच गाबा में लगी चोट के कारण हेज़लवुड की अनुपलब्धि के बाद जाय रिचर्डसन को मैच खेलने का मौक़ा मिलेगा। उन्होंने 2019 में श्रीलंका के ख़िलाफ़ अपना डेब्यू किया था जिसके बाद उनके कंधे में गंभीर चोट लगी और उन्हें ऑपरेशन करवाना पड़ा।
कमिंस ने कहा, "जाय ने 2019 में दो टेस्ट मैचों में बढ़िया प्रदर्शन किया था और कंधे की चोट से पहले वह ऐशेज़ और विश्व कप टीम का हिस्सा बनने वाले थे। उन्होंने घरेलू क्रिकेट में बहुत मेहनत की है और वह अच्छी लय में नज़र आ रहे हैं। उनके पास दोनों तरफ़ गेंद को स्विंग कराने की क्षमता है और वह लगातार 140 किलोमीटर प्रति घंटे की गति से गेंदबाज़ी कर सकते हैं। घरेलू क्रिकेट में तो उन्होंने कई बार अपने 20 ओवरों में केवल 20 रन ख़र्च किए हैं। जॉश की अनुपस्थिति टीम के लिए एक बड़ा झटका है लेकिन हमें उम्मीद है कि जाय उनकी जगह लेकर अपना योगदान देंगे।"

ऐंड्रयू मक्ग्लैशन ESPNcricinfo में डिप्टी एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।