मैच (15)
IPL (3)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (2)
Women's Tri-Series (1)
ख़बरें

आकस्मिक चयन के बाद मधेवीरे को उम्‍मीद नंबर तीन पर रन बनाते रहेंगे

ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध पहले वनडे में शॉन विलियम्स की जगह लेते हुए ज़िम्बाब्वे बल्लेबाज़ ने करियर का सर्वश्रेष्ठ 72 बनाया

ऑस्‍ट्रेलिया के ख़‍िलाफ़ उन्‍होंने अपने वनडे करियर का सर्वश्रेष्‍ठ स्‍कोर बनाया  •  Getty Images

ऑस्‍ट्रेलिया के ख़‍िलाफ़ उन्‍होंने अपने वनडे करियर का सर्वश्रेष्‍ठ स्‍कोर बनाया  •  Getty Images

ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ पहले वनडे मैच में वेस्ले मधेवीरे को ज़िम्बाब्वे के लिए तीसरे नंबर पर बल्लेबाज़ी करने का मौक़ा मिला जिसे उन्होंने ज़बरदस्त तरीक़े से भुनाया। अब वह इसी स्थान को अपना बना चाहते हैं।
मधेवीरे को टीम में होने की सूचना रविवार को खेले गए मुक़ाबले के कुछ देर पहले ही दी गई थी। शॉन विलियम्स को शनिवार के अभ्यास के दौरान कोहनी पर चोट लगी थी जिससे वह ठीक से उबर नहीं पाए। इस बदलाव का साक्षी था टीम शीट के काग़ज़ पर कई लकीरों का होना।
मधेवीरे ने कहा, "सच पूछिए तो मुझे कोई अंदाज़ा नहीं था कि मैं खेल रहा हूं। मुझे (शनिवार को) बताया गया था कि मैं एकादश में नहीं हूं लेकिन फिर जब शॉन की तकलीफ़ गई नहीं तब कोच ने मुझे बताया। जब मुझे पता होता है कि मैं खेलने वाला हूं तो मेरा मन थोड़ा चंचल हो जाता है लेकिन आज मैं काफ़ी निश्चिन्त था।"
मधेवीरे ने मौक़ा देखकर अपनी चौथी वनडे अर्धशतकीय पारी खेली और अपने करियर का सर्वश्रेष्ठ स्कोर 72 बनाया। उन्होंने मेहमान टीम के लिए एक अच्छे स्कोर की बुनियाद रखी थी लेकिन जब उन्होंने ऐडम ज़ैंपा को रिटर्न कैच थमाया उस से ज़िम्बाब्वे ने अपने आख़िरी छह विकेट सिर्फ़ 15 रन बनाकर गंवा दिए। आख़िरकार टीम बिना 15 गेंदों का उपयोग किए 200 पर ऑल आउट हो गई।
भारत के ख़िलाफ़ इसी स्थान पर 5 और 2 के स्कोर्स के बाद मधेवीरे की इस पारी ने उन्हें एक स्थायी नंबर तीन बनने का हौसला दिया है।
उन्होंने कहा, "यह क्रम में एक अहम स्थान होता हैं जहां आप पर भरपूर दबाव आता है। मुझे यह चुनौती पसंद है। बतौर क्रिकेटर यह मेरे विकास के लिए भी लाभदायक होगा।" 2020 में डेब्यू करने वाले मधेवीरे ने अपने वनडे करियर की बेह्तरीन शुरुआत की थी और अपने पहले आठ पारियों में पाकिस्तान और बांग्लादेश के विरुद्ध तीन अर्धशतक ठोके थे। हालांकि उसके बाद उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ मैच से पहले 13 पारियों में 20 के स्कोर तक बस एक ही बार बनाया था। 67 गेंदों पर 50 पहुंचने वाली इस पारी पर उन्होंने कहा कि टाउंसविल की परिस्थितियों से उन्हें अपने स्कूल के मैदान की याद आ गई।
मधेवीरे ने कहा, "मुझे बड़ा मज़ा आया। यह परिस्थितियां बिलकुल मेरे स्कूल जैसी थी और ऐसे में मुझे लगा मैं अच्छे से पूर्वानुमान कर पा रहा था।"
मधेवीरे के अनुसार इस मैदान पर 250-260 एक अच्छा स्कोर साबित होगा और आनेवाले मैच में ज़िम्बाब्वे के स्पिन गेंदबाज़ इस पर अधिक प्रभावशाली बनेंगे। पहले मैच में भी सिकंदर रज़ा ने निरंतर अच्छी गेंदबाज़ी की और रायन बर्ल ने तीन विकेट भी झटके थे। दूसरा वनडे मैच बुधवार को खेला जाएगा।

ऐंड्रयू मक्ग्लैशन ESPNcricinfo में डिप्‍टी एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo में स्‍थानीय भाषा प्रमुख देबायन सेन ने किया है।