मैच (26)
ENG v PAK (1)
T20WC Warm-up (7)
Vitality Blast (13)
CE Cup (5)
ख़बरें

हरमनप्रीत, स्मृति और दीप्ति को मिला बीसीसीआई का शीर्ष अनुबंध

जेमिमाह, ऋचा और शेफ़ाली सहित पांच महिला क्रिकेटरों को ग्रेड बी कॉन्ट्रैक्ट मिला

Harmanpreet Kaur and Smriti Mandhana have a chat, Australia vs India, Women's T20 World Cup, semi-final, Cape Town, February 23, 2023

हरमनप्रीत और स्मृति पिछले साथ भी बीसीसीआई क शीर्ष अनुंबध में शामिल थीं, इस साल इस लिस्ट में दीप्ति का भी नाम है  •  ICC/Getty Images

भारतीय महिला क्रिकेट टीम की ऑलराउंडर खिलाड़ी दीप्ति शर्मा को बीसीसीआई ने 'ग्रेड ए' का कॉन्ट्रैक्ट दिया है। 'ग्रेड ए' खिलाड़ियों को दिए जाने वाले वार्षिक कॉन्ट्रैक्ट की उच्चतम श्रेणी है और इसके तहत सालाना 50 लाख रुपए की धनराशि खिलाड़ियों को दी जाती है। वर्ष 2022-23 के लिए इस फे़हरिस्त में स्मृति मांधना और हरमनप्रीत कौर पहले से ही शामिल हैं और दीप्ति तीसरी खिलाड़ी बनी हैं।
लेग स्पिनर पूनम यादव, जिन्हें पहले मई 2021 में (अक्टूबर 2020-सितंबर 2021 की अवधि के लिए) जारी केंद्रीय अनुबंध के ए ब्रैकेट में रखा गया था, वह बाहर हो गईं हैं। उनके साथ-साथ 30 लाख रुपए मूल्य के ग्रेड बी से मिताली राज और झूलन गोस्वामी भी बाहर हो गई हैं। दोनों ही खिलाड़ियों ने संन्यास ले लिया है।
मिताली पिछले साल न्यूज़ीलैंड में आयोजित 50 ओवरों के विश्व कप के बाद रिटायर हुईं थीं, जबकि झूलन ने पिछले वर्ष सितंबर में लॉर्ड्स में इंग्लैंड पर ऐतिहासिक वनडे सीरीज़ जीत के दौरान अपना अंतिम मैच खेला था ।
साउथ अफ़्रीका में इस साल हुए टी20 विश्व कप से पहले वापसी करने वाली ऑलराउंडर शिखा पांडे को पूरी तरह से बाहर कर दिया गया है। शिखा पहले ग्रेड बी में थी जिसमें 10 खिलाड़ी थे। अब ग्रेड बी की सूची में रेणुका सिंह और ऋचा घोष को मिलाकर पांच खिलाड़ी शामिल हैं। इनके अलावा ग्रेड बी में जेमिमाह रॉड्रिग्स, शेफ़ाली वर्मा और राजेश्वरी गायकवाड़ भी शामिल हैं।
रेणुका को वर्ष 2022 में तब सफलता मिली थी जब उन्होंने बर्मिंघम में हुए कॉमनवेल्थ गेम्स भारत को रजत-पदक दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। तब से ही रेणुका भारत की तेज़ गेंदबाज़ी के आक्रमण की अगुवाई कर रही हैं। वहीं ऋचा घोष टीम की मुख्य विकेटकीपर हैं और फ़िनिशर की भूमिका भी बख़ूबी निभाती हैं।
ग्रेड सी, जिसके तहत सालाना 10 लाख रुपये दिए जाते हैं, में कुल नौ खिलाड़ी शामिल हैं। इस ग्रेड में तेज़ गेंदबाज़ मेघना सिंह और अंजली सरवानी, ऑलराउंडर पूजा वस्त्रकर, स्नेह राणा और देविका वैद्य और बल्लेबाज़ एस मेघना, यास्तिका भाटिया और हरलीन देओल शामिल हैं। ऑलराउंडर राधा यादव भी इस समूह का हिस्सा हैं, जिन्हें पहले ग्रेड बी का अनुबंध दिया गया था।
बीसीसीआई द्वारा वेतन समानता की घोषणा के छह महीने बाद इस वार्षिक रिटेनर्स की औपचारिक घोषणा की गई है। वेतन समानता नीति के तहत महिला क्रिकेटरों को भी पुरुष क्रिकेटरों की तरह ही एक टेस्ट मैच के लिए 15 लाख रुपए , एक वनडे मैच के लिए 6 लाख रुपए और एक टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच के लिए 3 लाख रुपए का भुगतान किया जाएगा। इसके पहले महिला खिलाड़ियों को एक वनडे या एक टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैच के लिए एक लाख रुपए और एक टेस्ट मैच के लिए 2.5 लाख रुपए दिए जाते थे।
भारतीय महिला टीम अब जून में बांग्लादेश का दौरा है। इस महीने की शुरुआत में, बोर्ड सचिव जय शाह ने कहा था कि "टीम को आगे बढ़ाने के लिए हमारे पास एक समर्पित सहायक स्टाफ़ होना आवश्यक है।" साथ ही उन्होंने यह भी कहा था कि "मैदान पर और मैदान के बाहर खिलाड़ियों को उत्कृष्टता हासिल करने में मदद करने के लिए सर्वश्रेष्ठ कोचों को भी टीम में शामिल किया जाएगा।"
वर्तमान में महिलाओं की राष्ट्रीय टीम बिना किसी पूर्णकालिक मुख्य कोच के है क्योंकि पुनर्गठन प्रक्रिया के तहत भारत के पूर्व ऑफ़स्पिनर रहे, पूर्व कोच रमेश पोवार को पद छोड़ने के लिए कहा गया था। तब से भारत के पूर्व बल्लेबाज हृषिकेश कानितकर प्रभारी रहे हैं और उन्होंने टीम को टी20 विश्व कप के सेमीफ़ाइनल तक भी पहुंचाया। जल्दी ही मुख्य कोच सहित विभिन्न पदों के लिए आवेदन मंगाए जाएंगें और उसके बाद बीसीसीआई की तीन सदस्यीय क्रिकेट सलाहकार समिति इंटरव्यू के बाद नए कोचों का चयन करेगी ।

शशांक किशोर ESPNcricinfo के सीनियर सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के एडिटोरियल फ्रीलांसर विवेक शर्मा ने की है।