ख़बरें

यह भारत के तीन सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज़ी प्रदर्शन में से एक था : कोहली

'हमारे पास वह सब कुछ है, जो टेस्ट मैच जीतने के लिए चाहिए- एक बेहतरीन टीम और ख़ुद पर विश्वास'

ओवल के चौथे टेस्ट में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ 157 रन की जीत दर्ज कर भारत ने पांच मैचों की सीरीज़ में 2-1 की बढ़त ले ली है। मैच के बाद भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने माइकल अथर्टन से बात की और कई महत्वपूर्ण बातें साझा की।
उन्होंने कहा, "हमने इस सीरीज़ की दोनों जीत में अपने चरित्र को दिखाया है। इस टेस्ट की पहली पारी के बाद इंग्लैंड के पास लगभग 100 रनों (99 रन) की बढ़त थी। इसके बाद जिस तरह से हमने दूसरी पारी में बल्लेबाज़ी की, वह दिखाता है कि हम मैच को बचाने के लिए नहीं बल्कि मैच को जीतने के लिए खेल रहे थे। हमारे पास जब भी दबाव बनाने का मौक़ा आया, हमने नहीं छोड़ा। हमने वह लक्ष्य दिया, जो कतई आसान नहीं था।"
कोहली ने कहा, "इसके बाद हमने जिस तरह से पांचवें दिन गेंदबाज़ी की, वह गर्व की बात है। भारतीय कप्तान के रूप में यह मेरे लिए तीन सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज़ी प्रदर्शनों में से एक था।"
तुलनात्मक रूप से एक धीमी फ़्लैट विकेट पर 10 विकेट निकालने की बात पर कोहली ने कहा, "हमें पता था कि पिच पर एक जगह रफ़ है और जाडेजा उसका लाभ उठा सकते हैं। इसके बाद जब गेंद रिवर्स करने लगी तो फिर हमारे तेज़ गेंदबाज़ और घातक हो गए। हमने आज रिवर्स स्विंग का बेहतरीन प्रयोग किया।"
उन्होंने कहा, "हम पुरानी गेंद से गेंदबाज़ी के लिए उत्साहित थे। हमने इसे सकारात्मक ढंग से लिया, ना कि हम इस निराशा में थे कि पिच से कोई मदद नहीं मिल रही है। एक टीम के रूप में हमें विश्वास था कि हम अंतिम दिन 10 विकेट ले सकते हैं और इसी विश्वास के कारण ही हम सफल हुए।"
बुमराह के मैच जिताऊ स्पेल के बारे में बोलते हुए कोहली ने कहा, "यह एक अद्भुत स्पेल था। अगर आप ऐसी पिच पर 22 ओवर में सिर्फ़ 27 रन देते हैं, तो यह अविश्वसनीय है। जब गेंद रिवर्स होने लगी तो जसप्रीत खुद मेरे पास आए और गेंद मांगा। उन्होंने छह ओवर के स्पेल में दो विकेट लेकर मैच को एकदम से हमारे पक्ष में मोड़ दिया। उसके बाद से हम हार नहीं सकते थे।"
शार्दुल ठाकुर के हरफ़नमौला प्रदर्शन पर कोहली ने कहा, "जो शार्दुल ने किया, वह लंबे समय तक याद रखा जाएगा। पहली पारी में इंग्लैंड की जो बढ़त 150-160 हो सकती थी, वह शार्दुल की पारी की बदौलत 100 रन से कम रह गई। इस तरह से भारत मैच में बना रहा। वहीं दूसरी पारी में शार्दुल के अर्धशतक ने विरोधी टीम को मैच से लगभग बाहर कर दिया।"
टीम के मुख्य और सहायक कोचों की अनुपस्थिति पर कोहली ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि वे यहां नहीं हैं, लेकिन मैच के तुरंत बाद उनका फ़ोन आया और वे लोग बहुत ख़ुश हैं। कोहली ने कहा कि इस जीत के बाद टीम अंतिम टेस्ट मैच में दोगुने जोश के साथ उतरेगी।
भारतीय कप्तान ने अपनी बातों को समाप्त करते हुए कहा, "हमारे पास वह सब कुछ है जो जीत के लिए ज़रूरी होता है। हमारे पास टीम है और हमारे पास विश्वास है कि हम किन्हीं भी परिस्थितियों में जीत सकते हैं।"