मैच (15)
आईपीएल (1)
WI vs SA (1)
County DIV1 (3)
County DIV2 (4)
T20WC Warm-up (3)
CE Cup (3)
फ़ीचर्स

श्रेयस अय्यर को हुआ क्या है?

क्या छोटी गेंद है उनकी कमज़ोरी? या मामला और पेचीदा है?

Shreyas Iyer takes a breather, Delhi, June 7, 2022

शॉर्ट ऑफ़ लेंथ गेंदबाज़ी के ख़िलाफ़ श्रेयस अय्यर का स्ट्राइक रेट नीचे गिर जाता है  •  PTI

यह एक खुला रहस्य है कि श्रेयस अय्यर को शॉर्ट पिच गेंदबाज़ी रास नहीं आती है। आईपीएल 2022 में वह चार बार पटकी हुई गेंदों पर आउट हुए थे। एक मैच में उमरान मलिक ने उन्हें छोटी गेंदों से तंग करने के बाद सटीक यॉर्कर डालकर बोल्ड किया था।
गुरुवार को साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ पहले टी20 मैच में श्रेयस ने स्पिनरों के ख़िलाफ़ 10 गेंदों पर 23 रन बनाए। हालांकि तेज़ गेंदबाज़ों की 17 गेंदों पर वह केवल 13 रन बटोरने में सफल हुए। ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो के आंकड़ों के अनुसार 17 में से नौ गेंदें शॉर्ट ऑफ़ गुड लेंथ पर थी और श्रेयस इन पर केवल आठ रन बना पाए।
जहां साउथ अफ़्रीका के तेज़ गेंदबाज़ों ने शॉर्ट ऑफ़ गुड लेंथ (जिसे मुश्किल अथवा हार्ड लेंथ भी कहा जाता है) पर नौ गेंदें डाली, उनकी एक भी गेंद छोटी लेंथ पर नहीं थी। अगर यह उनकी कोई रणनीति थी तो इसके पीछे भी एक तर्क था जिस पर हम बाद में चर्चा करेंगे।
तेज़ गेंदबाज़ी के ख़िलाफ़ धीमी गति से बल्लेबाज़ी करने के कारण श्रेयस ने अंततः 133.33 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए जो भारत की पारी में दूसरा सबसे कम स्ट्राइक रेट था।
ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो के विशेष कार्यक्रम टी20 टाइम आउट में श्रेयस के अंदाज़ पर चर्चा करते हुए वसीम जाफ़र ने कहा, "मुझे लगता है कि श्रेयस जब तेज़ गेंदबाज़ी के ख़िलाफ़ मुश्किल में पड़ते है, वह क्रीज़ में चहलक़दमी करना शुरू कर देते हैं। वह लेग स्टंप के बाहर जाकर ऑफ़ साइड पर शॉट लगाने को देखते हैं। इसके अलावा आप उन्हें तेज़ गेंदबाज़ों के ख़िलाफ़ ज़्यादा बाउंड्री लगाते हुए भी नहीं देखते। उन्होंने शम्सी को आक्रमण से बाहर किया लेकिन उन्हें तेज़ गेंदबाज़ों के ख़िलाफ़ हावी होने के लिए अपने शॉट विकसित करने होंगे। अगर वह तेज़ गेंदबाज़ों के ख़िलाफ़ बाउंड्री लगाते तो 10-15 अधिक रनों के साथ उनकी पारी बेहतर हो सकती थी।"
आईपीएल 2022 के दौरान सनराइज़र्स हैदराबाद के तेज़ गेंदबाज़ी कोच रहे डेल स्टेन जाफ़र की बात से सहमत थे। अपनी सहमति जताते हुए उन्होंने कहा, "श्रेयस को तेज़ गेंदबाज़ों के ख़िलाफ़ बाउंड्री लगाने के तरीक़े खोजने होंगे। मैंने आईपीएल में उन्हें अजीबोगरीब पोज़िशन में आकर खेलते हुए देखा है। यह जानते हुए कि टी20 विश्व कप इस बार ऑस्ट्रेलिया में खेला जाना है, उन्हें इस समस्या का समाधान निकालना होगा।"
श्रेयस की कहानी विचित्र सी है। टी20 क्रिकेट में उनके आंकड़े बताते हैं कि श्रेयस तेज़ गेंदबाज़ों के विरुद्ध ज़्यादा सफल है। जनवरी 2021 से तेज़ गेंदबाज़ी के ख़िलाफ़ 41.75 की औसत और 135.77 के स्ट्राइक रेट से रन बनाते हैं। स्पिनरों के ख़िलाफ़ यह आंकड़ा 35.77 और 130.89 पर गिर जाता है।
अगर आप गहराई से देखेंगे तो पता चलेगा कि श्रेयस की असली कमज़ोरी क्या है। जबकि छोटी लेंथ वाली गेंदें श्रेयस को आउट कर जाती है (उनकी औसत इस लेंथ पर केवल 19 की है), वह 180.95 की तेज़ गति से रन बनाते हैं। हालांकि शॉर्ट ऑफ़ लेंथ की गेंदों पर उनका बल्ला शांत हो जाता है और वह 118.18 के स्ट्राइक रेट से बल्लेबाज़ी करते हैं। यह कहा जा सकता है कि यह लेंथ श्रेयस के ख़िलाफ़ एक रक्षात्मक लेंथ है। 2021 की शुरुआत से तेज़ गेंदबाज़ों की कम से कम 100 शॉर्ट ऑफ़ लेंथ गेंदों का सामना करने वाले 78 बल्लेबाज़ों में श्रेयस का स्ट्राइक रेट उन्हें 48वें स्थान पर रखता है।
और जब आप शॉर्ट ऑफ़ लेंथ गेंदों में से स्टंप्स के बाहर की गेंदों को छांट देंगे तो आपको समस्या की जड़ मिल जाएगी। जब तेज़ गेंदबाज़ श्रेयस के शरीर पर आक्रमण करते हुए उन्हें हाथ खोलने का मौक़ा नहीं देते हैं, उनका स्ट्राइक रेट 109 का हो जाता है। ऐसी गेंदों पर वह लेग स्टंप के बाहर जाकर ऑफ़ साइड पर शॉट लगाने का प्रयास करते हैं। गुरुवार को कगिसो रबाडा के ख़िलाफ़ एक बार वह मिडऑफ़ के सिर के ऊपर से ऐसा शॉट लगाने में सफल हुए लेकिन क्या यह एक सही तरीक़ा है? और तो और तेज़ गेंदबाज़ों को मज़ा आता है जब कोई बल्लेबाज़ तीनों स्टंप छोड़कर खेल रहा हो।
इस सीरीज़ में तो श्रेयस तीसरे नंबर पर बल्लेबाज़ी करना जारी रखेंगे जहां मैच की स्थिति के अनुसार वह या तो पारी को संभालेंगे या तेज़ गति से रन बनाएंगे। हालांकि जब विराट कोहली वापस आएंगे और भारत को श्रेयस को एकादश में रखना होगा तो उन्हें चौथे स्थान या उससे नीचे बल्लेबाज़ी करनी होगी। ऐसी स्थिति में वह तेज़ गेंदबाज़ी के ख़िलाफ़ इतने कम स्ट्राइक रेट से नहीं खेल सकते।

हेमंत बराड़ ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर अफ़्ज़ल जिवानी ने किया है।