मैच (19)
IPL (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (6)
Women's QUAD (2)
ख़बरें

भारत की टी20 विश्व कप टीम : अश्विन चुने गए, एमएस धोनी बने मेंटॉर

15 सदस्यीय टीम में चहल नहीं, अय्यर, ठाकुर, दीपक चाहर रिज़र्व खिलाड़ी

चहल की जगह अश्विन को दी गई टीम में तरज़ीह  •  Getty Images

चहल की जगह अश्विन को दी गई टीम में तरज़ीह  •  Getty Images

चार साल पहले टी20 सेट अप से बाहर होने के बाद रविचंद्रन अश्विन को टी20 विश्व कप की 15 सदस्यीय टीम में जगह दी गई है। इसके अलावा एक और चौकाने वाला फैसला पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को इस टीम का मेंटॉर बनाए जाना है, वह भी खास तौर से केवल इस टूर्नामेंट के लिए।
धोनी ने पिछले वर्ष अगस्त में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास ले लिया था। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के सचिव जय शाह की मानें तो धोनी का चयन रवि शास्त्री के निर्देशन वाली भारतीय टीम को समर्थन और दिशा प्रदान करने के लिए किया गया है।
15 खिलाड़ियों के ग्रुप में छह विशेषज्ञ बल्लेबाज़, तीन ऑलराउंडर, तीन विशेषज्ञ स्पिनर और तीन विशेषज्ञ तेज़ गेंदबाज़ हैं। चेतन शर्मा के नेतृत्व वाले चयनकर्ता पैनल ने श्रेयस अय्यर, दीपक चाहर और शार्दुल ठाकुर को रिज़र्व में रखा, जो किसी खिलाड़ी को चोट या कोविड-19 होने के वक़्त एक्शन में नज़र आएंगे।
टीम में नहीं चुने गए खिलाड़ियों में सबसे बड़ा नाम शिखर धवन और युज़वेंद्र चहल का है। धवन ने हाल ही में श्रीलंका दौरे पर सीमित ओवर सीरीज़ में टीम की कमान संभाली थी। चयनकर्ताओं ने चहल की जगह मिस्ट्री स्पिनर वरुण चक्रवर्ती, लेग स्पिनर राहुल चाहर को तरजीह दी है, जो सूर्यकुमार यादव, इशान किशन और अक्षर पटेल के साथ अपना पहला विश्व कप खेलेंगे।
'अश्विन हैं बहुमूल्य खिलाड़ी'
दो स्पिन ऑलराउंडर और तीन विशेषज्ञ स्पिनरों से साफ है कि भारतीय चयनकर्ताओं को उम्‍मीद है कि यूएई में पिचें धीमी रहेंगी। 31 आईपीएल मैच खेले जाने के बाद इनके और धीमी होने की संभावना है। यही वजह है कि शर्मा और उनकी टीम ने केवल तीन तेज़ गेंदबाज जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी के साथ तेज़ गेंदबाज़ी ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या को चुना है।
इस साल की शुरुआत में प्रमुख चयनकर्ता बनने वाले शर्मा ने बुधवार को अपनी पहली पत्रकार वार्ता में कहा, "अगर ऐसी विकेट हो, जहां पर आप केवल दो ही तेज़ गेंदबाज़ों को खिला सकें तो इसका कोई मतलब नहीं रह जाता कि अतिरिक्त तेज़ गेंदबाज़ बेंच पर बैठें। इसकी जगह आपको ऐसे खिलाड़ियों को चुनना चाहिए जो मैच में कई जगह आपके काम आ सकें और यही वजह है कि आपके पास स्पिनरर्स और ऑलराउंडर्स हैं।
इस बीच धोनी एक बार दोबारा से सुर्खियों में हैं। अश्विन की भी वापसी हुई है, जिन्होंने अपना पिछला टी20 मुकाबला जुलाई 2017 में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ खेला था। 2019 में अश्विन को सफेद गेंद के क्रिकेट सेटअप से बाहर किया गया और यह समझा गया कि कलाई के स्पिनर अंगुलियों के स्पिनर से सफेद गेंद के क्रिकेट में बेहतर हैं। अश्विन ने भारत के लिए 63 टी20 मुकाबले मिस किए, इस बीच में वह लगातार आईपीएल खेले।
इस मार्च में अश्विन ने कहा था कि उन्होंने सफेद गेंद क्रिकेट में अपनी वापसी पर उठ रहे सवालों को हास्यापद पाया, लेकिन उन्हें उम्मीद है कि अगर उन्हें मौका मिलता है तो वह मैच जिताने वाले प्रदर्शन कर सकते हैं।
शर्मा ने कहा, "जब आप विश्व कप में जाते हो तो आपको ऑफ स्पिनर की जरूरत पड़ती है। विकेट धीमी रहने की उम्मीद है क्योंकि आईपीएल के 31 मैच यहां पर पहले ही खेले जा चुके होंगे और इससे स्पिनरों को अतिरिक्त मदद मिलेगी। वॉशिंगटन सुंदर चोटिल हैं और अश्विन टीम के बहुमूल्य खिलाड़ी हैं और जिस तरह से उन्होंने आईपीएल में प्रदर्शन किया है, यही वजह है कि उन्हें टीम में जगह दी गई है।"
चहल क्यों नहीं?
चहल के नहीं चुने जाने पर शर्मा ने इशारा किया कि चयनकर्ताओं ने पाया कि राहुल चाहर लेग स्पिनर के बेहतर विकल्प हैं। उन्होंने कहा, "आप ऐसा स्पिनर चाहते हो जो ज़्यादा गति से गेंदबाज़ी करे। हाल में हमने देखा है कि राहुल ने गति के साथ गेंदबाजी की है। हमारा नज़रिया था कि हम ऐसा स्पिनर चाहते थे जो ऐसी पिचों पर ज़्यादा गति से गेंदबाज़ी कर सके और चहल पर भी हमने काफी चर्चा की, लेकिन हम चाहर के साथ गए।"
भारतीय चयनकर्ताओं ने चक्रवर्ती की भी तारीफ की, जिन्होंने 2020 आईपीएल से बेहतर किया है, जहां पर उन्होंने कोलकाता नाइटराइडर्स की ओर से खेलते हुए धोनी जैसे बड़े विकेट लिए। वह ऑस्‍ट्रेलिया और बाद में इंग्‍लैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज़ में चुने गए लेकिन चक्रवर्ती के साथ फ‍़िटनेस का मसला रहा, लेकिन बाद में वह हाल ही में हुई श्रीलंका के साथ सीरीज़ में खेलने में कामयाब रहे।
शर्मा के मुताबिक, चक्रवर्ती को शामिल करने की मुख्य वजह उनका "मिस्ट्री" स्पिनर होना है। उन्होंने कहा, "दुनिया नहीं जानती है कि वरुण चक्रवर्ती कैसे गेंदबाज़ी करते हैं। अगर हम खुद ही उन्हें नहीं पढ़ पा रहे हैं तो बल्लेबाज़ कैसे जानेगा? उनका पांच का इकॉनमी भी है, जो बेहतर है।"
चयनकर्ताओं के तीन ओपनरों में कोहली नहीं
जहां तक ओपनरों का सवाल है तो शर्मा ने स्पष्ट किया कि कोहली उनमें शामिल नहीं हैं। हालांकि, भारतीय कप्तान ने मार्च में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ हुई सीरीज़ के बाद ओपनिंग करने की बात कही थी। शर्मा ने कहा रोहित और राहुल हमारे मुख्य ओपनर होंगे, जबकि इशान किशन तीसरे ओपनर।
किशन ने ने इस साल टी20 और वनडे में पदार्पण करते हुए अर्धशतक लगाया था। इसी के साथ जब पिछले साल यूएई में आईपीएल खेला गया था तो वह बेहतरीन ओपनरों में से एक साबित हुए थे। उन्होंने अय्यर को पीछे छोड़ा, जो चोटिल होने की वजह से छह महीने क्रिकेट से दूर रहे। अतिरिक्त बल्लेबाज के स्थान के लिए शर्मा ने कहा कि उन्हें ऐसे खिलाड़ियों को चुनने में आपत्ति है जो "इतने लंबे समय से क्रिकेट से बाहर हैं।"
शर्मा ने कहा, "किशन ओपनिंग के साथ मध्य क्रम में भी किसी भी समय बल्लेबाज़ी कर सकते हैं और वह बायें हाथ के बल्लेबाज़ हैं जो बेहद अहम है। अगर विरोधी टीमों के पास लेग स्पिनर होंगे तो बायें हाथ का बल्लेबाज़ काफी अहम हो जाता है। ऐसे में किशन हमें कई मौके दे रहे हैं। अगर हमें ओपनर की जरूर होगी तो वह तैयार है, उन्होंने अपने पहले मैच में अर्धशतक भी लगाया था। मध्य क्रम में वह स्पिन का एक अच्छा खिलाड़ी है।"
जहां तक कोहली के ओपनिंग करने का सवाल है तो शर्मा ने कहा चयनकर्ताओं को लगता है कि वह मध्य क्रम में जरूरी हैं। उन्होंने कहा, "अगर टीम प्रबंधन को लगता है कि विराट को ओपनिंग करनी चाहिए तो यह उन पर है, लेकिन अभी हमारे पास तीन ओपनर हैं रोहित, राहुल और किशन। विराट टीम के बहुमूल्य खिलाड़ी हैं। जब वह मध्य क्रम में खेलते हैं तो टीम उनके इर्दगिर्द चलती है।"
शर्मा ने कहा कि किशन ऋषभ पंत के बाद टीम के बैकअप विकेटकीपर भी बन जाते हैं, तो राहुल को विशेषज्ञ ओपनर के तौर पर टीम में चुना गया है।
शर्मा धवन को लेकर साफ जवाब नहीं दे पाए, जो पिछले तीन आईपीएल से बेहतरीन बल्लेबाज़ रहे हैं। उन्होंने कहा, "वह हमारे लिए बेहद जरूरी खिलाड़ी हैं।वह श्रीलंका दौरे पर कप्तान थे। हमारे बीच में उन पर क्या चर्चा हुई, मैं यह नहीं बता सकता हूं, लेकिन वह नजरों में थे। अंत में हमें यही लगा कि हमें दूसरे खिलाड़ियों को देखना चाहिए और धवन को आराम देना चाहिए।"
पंड्या 100% फ़िट और नटराजन क्यों नहीं
अगर कोई तेज़ गेंदबाज़ टीम में नहीं जगह पाने से निराश होगा तो वह टी नटराजन हैं, जिनका करियर अब तक सपनों से भरा रहा है। वह 2020 आईपीएल में सनराइज़र्स हैदराबाद के बहुमूल्य खिलाड़ी रहे। हालांकि घुटने की चोट के बाद उन्‍हें ऑस्‍ट्रेलिया दौरे से लौटना पड़ा और वह क्रिकेट से दूर हो गए।
शर्मा ने कहा, "चयकर्ताओं को लगा कि गेंदबाज़ी लाइन अप में विविधता होनी चाहिए। हमने विकेट पर भी चर्चा की, जो धीमे रहने की उम्मीद है। ऐसे में चयनकर्ताओं ने फ़ैसला किया कि तीन तेज़ गेंदबाज़ और हार्दिक चौथे तेज़ गेंदबाज़ रहेंगे। हमने नटराजन पर चर्चा की लेकिन वह लंबे समय से क्रिकेट नहीं खेले और वह चोटिल भी है, ऐसे में हमने मुख्य लड़कों पर ध्यान दिया।"
शर्मा ने स्पष्ट किया कि हार्दिक अपने कोटे के पूरे ओवर करेंगे, जो वह 2020 में कमर की सर्जरी के बाद लगातार नहीं कर पा रहे थे। हार्दिक ने इस बीच भारत के लिए 46 ओवर किए। 2020 आईपीएल से उन्होंने मुंबई इंडियंस के लिए गेंदबाज़ी नहीं की। उम्मीद है दूसरे हाफ में वह गेंदबाज़ी करते दिखें।
शर्मा ने कहा, "अगर आप हार्दिक के हाल के मैचों को देखें तो वह पूरी तरह से फ़िट हैं। वह अपने कोटे के पूरे ओवर करने जा रहे हैं, कोई समस्या नहीं है। हम उन्हें बचाना चाह थे, जिससे विश्व कप से पहले उनके साथ कोई समस्या ना हो जाए, लेकिन अब वह गेंदबाज़ी करने के लिए फ़िट हैं।"
टी20 विश्व कप के लिए भारतीय टीम: विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, केएल राहुल, सूर्यकुमार यादव, ऋषभ पंत, इशान किशन, हार्दिक पंड्या, रवींद्र जाडेजा, राहुल चाहर, रविचंद्रन अश्विन, अक्षर पटेल, वरुण चक्रवर्ती, जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी।
रिज़र्व: - श्रेयस अय्यर, शार्दुल ठाकुर, दीपक चाहर

नागराज गोलापुड़ी ESPNcricinfo में न्यूज एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है। @nikss26