मैच (17)
IPL (3)
Pakistan vs New Zealand (2)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (2)
PAK v WI [W] (1)
फ़ीचर्स

आंकड़े : ऑस्ट्रेलिया का भारत में न्यूनतम स्कोर, अश्विन ने की कुंबले की बराबरी

ऑस्ट्रेलिया के बाएं हाथ के बल्लेबाज़ों ने किया निराश

91 - ऑस्ट्रेलिया ने दूसरी पारी में सिर्फ़ 91 रन बनाए, जो कि उनका भारत में न्यूनतम स्कोर है। इससे पहले ऑस्ट्रेलियाई टीम 2004 में मुंबई में 93 रन पर ऑलआउट हुई थी। यह भारत के ख़िलाफ़ ऑस्ट्रेलिया का दूसरा न्यूनतम स्कोर है। 1981 के मेलबर्न टेस्ट में ऑस्ट्रेलियाई टीम भारत के ख़िलाफ़ सिर्फ़ 83 रन बना पाई थी।
268 - ऑस्ट्रेलिया ने दोनों पारियों में कुल मिलाकर 268 रन बनाए, जो कि भारत के ख़िलाफ़ टेस्ट मैचों में उनका सबसे कम योग है। इससे पहले यह रिकॉर्ड 296 रन था, जब 2004 मुंबई टेस्ट में ऑस्ट्रेलियाई टीम पहली पारी में 203 और दूसरी पारी में सिर्फ़ 93 रन पर ऑलआउट हो गई थी।
एशिया में 268 रन का योग ऑस्ट्रेलिया का दूसरा सबसे कम योग है। यह रिकॉर्ड 1956 के कराची टेस्ट के नाम है, जब ऑस्ट्रेलियाई टीम पाकिस्तान के ख़िलाफ़ दोनों पारियों में कुल मिलाकर सिर्फ़ 267 रन ही बना पाई थी।
5 - यह भारत की ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ पांचवीं पारी की जीत है। 2013 में ऐसा आख़िरी बार हुआ था।
25 - आर अश्विन भारत में 25 बार पारी में पंजा खोल चुके हैं, जो कि अनिल कुंबले के बराबर है। घरेलू टेस्ट मैचों में उनसे आगे अब सिर्फ़ मुथैया मुरलीधरन (45 बार) और रंगाना हेराथ (26 बार) हैं।
6.7 - इस टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के बाएं हाथ के बल्लेबाज़ों का बल्लेबाज़ी औसत सिर्फ़ 6.7 था। कम से कम 10 बाएं हाथ के विकेट वाले मैचों को लें तो यह 2019 के ऑस्ट्रेलिया-न्यूज़ीलैंड पर्थ टेस्ट के बाद दूसरा न्यूनतम है।
जहां ऑस्ट्रेलिया के पांच बाएं हाथ के बल्लेबाज़ों ने दोनों पारियों में कुल मिलाकर सिर्फ़ 67 रन बना पाए, वहीं भारत के दो बाएं हाथ के बल्लेबाज़ों ने एक ही पारी में दो अर्धशतकों के साथ 154 रन का योगदान दिया।
10 - भारतीय गेंदबाज़ों ने दोनों पारियों में कुल 10 एलबीडब्ल्यू आउट किए, जो कि ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ सर्वाधिक है। इससे पहले भारत-ऑस्ट्रेलिया 2001 कोलकाता टेस्ट में नौ ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ पगबाधा आउट हुए थे। पिछले साल श्रीलंका-ऑस्ट्रेलिया गॉल टेस्ट मैच में भी मेहमान टीम के नौ बल्लेबाज़ एलबीडब्ल्यू आउट हुए थे।
यह भारत के लिए भी किसी टेस्ट मैच में संयुक्त रूप से सर्वाधिक एलबीडब्ल्यू विकेट का रिकॉर्ड है। 10 में से छह एलबीडब्ल्यू विकेट ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी के दौरान आए, जो कि फिर से ऑस्ट्रेलिया के लिए संयुक्त रूप से सर्वाधिक और भारत के विरूद्ध भीसर्वाधिक है।
49 - मार्नस लाबुशेन ने पहली पारी में 49 रन बनाए, जो कि ऑस्ट्रेलिया के लिए इस टेस्ट मैच में सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर था। यह भारत में ऑस्ट्रेलिया के लिए पहला मौक़ा है, जब उसके किसी भी बल्लेबाज़ ने अर्धशतक नहीं लगाए हैं। यह सिर्फ़ दूसरा पूर्ण टेस्ट मैच है, जब भारत के ख़िलाफ़ किसी भी ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज़ ने अर्धशतक नहीं लगाया है।

संपत बंडारूपल्ली ESPNcricinfo में स्टैटिशियन हैं