अतीत में वानखेड़े स्टेडियम में विपक्षी टीम में शामिल भारतीय मूल के बाएं हाथ के स्पिनरों ने अक्सर मेज़बान टीम को काफ़ी परेशान किया है। मोंटी पनेसर 2005-06 और 2012-13 में इंग्लैंड की दो टेस्ट जीत का हिस्सा रहे हैं। और मुंबई टेस्ट के पहले सत्र में न्यूज़ीलैंड के एजाज़ पटेल ने शायद भारतीय टीम को बुरी यादों का एक फ्लैशबैक दे दिया। एक समय उनके आंकड़े 12-7-14-3 थे, जिसमें विराट कोहली और चेतेश्वर पुजारा के विकेट शामिल थे और वो भी बिना कोई रन बनाए।

एजाज़ ने पहले दिन का खेल ख़त्म होने के बाद कहा, "यह काफ़ी अच्छा था। शायद ख़्वाब ऐसे ही होते हैं। यहां खेलना और चार विकेट लेना, एक बेटे की हैसियत से, पहला फ़ेज काफ़ी ख़ास है, लेकिन अभी भी काम आधा ही हुआ है। ऐसे में हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि हम दूसरे दिन वापसी करें और अंतिम छह विकेट के लिए वास्तव में कड़ी मेहनत करें।"

हालांकि,एजाज़ को दूसरे छोर से बहुत कम समर्थन मिला, अन्य दो स्पिनरों ने अपने 12 ओवरों में 66 रन दिए, एक ऐसी पिच पर जहां गेंद पहले दिन से ही टर्न हो रही थी। वहां भी उन्हें अपनी साथी स्पिनरों का साथ नहीं मिला।

एजाज़ ने कहा, "हर कोई कड़ी मेहनत कर रहा था और रचिन को सुबह से ही तक़लीफ़ थी। वह दिन भर संघर्ष करता रहा। यह एक युवा का काफ़ी प्रभावशाली रूप है। यह वास्तव में उनके चरित्र को दर्शाता है। कल नया दिन है। हम नए सिरे से शुरू करेंगे। हमें सिर्फ़ साझेदारी में गेंदबाज़ी करने की ज़रूरत है। मुझे यकीन है कि हम वापसी करेंगे।"

भारत ने दिन का अंत चार विकेट पर 221 रन के साथ किया, जबकि एक समय उनका स्कोर तीन विकेट पर 80 रन था। इससे भारत को पहले ही फ़ायदा मिल गया है। एजाज़ ने कहा कि न्यूज़ीलैंड को टेस्ट में वापसी के लिए लंबे समय तक अच्छी गेंदबाज़ी की ज़रूरत होगी।

एजाज़ ने कहा, "टेस्ट क्रिकेट वास्तव में इसे सरल रखने और लंबे समय तक लगातार अच्छे क्षेत्रों में गेंदबाज़ी करके बल्लेबाज़ों को चुनौती देने का है। कल का गेम प्लान बहुत आसान है। उन्हें रोकना होगा और बहुत सारी अच्छी गेंद करनी होंगी। उन्हें अच्छी गेंद पर रन बनाने के लिए मज़बूर करना होगा। हमें केवल यह सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि हम लंबे समय तक लगातार अच्छी गेंदबाज़ी करें।"

"स्पिन गेंदबाज़ी के लिए निश्चित रूप से सहायता है। और हमें कानपुर से ज़्यादा उछाल मिला है। इसलिए एक स्पिनर के रूप में आप अभी भी कड़ी मेहनत करना चाहते हैं और लंबे समय तक अच्छे क्षेत्र में गेंदबाज़ी करना चाहते हैं। हमें वास्तव में खेल योजना को वास्तव में सरल रखना होगा और विकेट का सही उपयोग करना होगा।"