मैच (14)
IND v ENG (1)
WPL (1)
NZ v AUS (1)
रणजी ट्रॉफ़ी (4)
विश्व कप लीग 2 (1)
BPL 2023 (2)
PSL 2024 (1)
CWC Play-off (3)
फ़ीचर्स

रेटिंग्स : रोहित, शुभमन और हार्दिक ने पूरे अंकों का किया इंतज़ाम

न्यूज़ीलैंड का सूपड़ा साफ़ करने में शार्दुल और कुलदीप ने भी दिया योगदान

शुभमन ने न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ खेली गई वनडे सीरीज़ में कुल 360 रन बनाए  •  BCCI

शुभमन ने न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ खेली गई वनडे सीरीज़ में कुल 360 रन बनाए  •  BCCI

भारत और न्यूज़ीलैंड के बीच खेला गया तीसरा वनडे भले ही औपचारिक मैच की तरह नज़र आ रहा था लेकिन मामला वैसा नहीं था। रोहित शर्मा और शुभमन गिल की शतकीय पारियों से पहले एक पहाड़ जैसा (385 रन) स्कोर किया और फिर गेंदबाज़ों ने न्यूज़ीलैंड को लक्ष्य के आस-पास भी नहीं जाने दिया। इस जीत के साथ भारत वनडे रैंकिंग में शीर्ष पर विराजमान हो गया है। आइए देखते हैं कि इस मैच में भारतीय खिलाड़ियों ने 10 में से कितने अंक प्राप्त किए।
क्या सही और क्या ग़लत?
भारत लगातार बड़े स्कोर खड़े करने में सफल हो रहा है, यह उनके लिए सबसे अच्छी बात है। साथ ही हार्दिक पंड्या की गेंदबाज़ी में स्विंग की धार को देखना भी टीम प्रबंधन के लिए एक सुखद ख़बर होगी।
जब टीम 400 के क़रीब रन बनाए तो उसमें ग़लती ढूंढना आसान नहीं है। हालांकि आज की ओपिनिंग साझेदारी के बाद जिस तरह से विकेटों की पतझड़ आई थी, वह भारत के लिए चिंता का विषय हो सकती है। साथ ही फ़ील्डिंग के दौरान भारत ने काफ़ी मिसफ़ील्ड की और कैच भी छोड़े।
(रेटिंग्स 1 से 10, सर्वाधिक 10)
रोहित शर्मा, 10 : जनवरी 2020 के बाद से रोहित ने वनडे क्रिकेट में कोई शतक नहीं लगाया था। ऐसे में विराट कोहली के शतक के इंतज़ार के बाद रोहित के शतक का इंतज़ार किया जा रहा था और उन्होंने इसे ख़त्म कर दिया। हालांकि अपना शतक लगाने के तुरंत बाद वह आउट भी हो गए। अक्सर उम्मीद की जाती है कि जब वह शतक बनाएं तो 200 के आस-पास या उससे ज़्यादा बनाए लेकिन आज ऐसा नहीं हो पाया।
शुभमन गिल, 10 : शुभमन के रूप में भारतीय टीम को एक नया रन मशीन मिल गया है जो अपने अर्धशतकों को शतक तब्दील करने में माहिर है। इस तीन मैचों की वनडे सीरीज़ में उन्होंने एक दोहरे शतक और एक शतक के मदद से 360 रन बनाए। तीनों मैचों में उन्होंने भारत को ठीक उसी तरह की शुरुआत दी, जिसकी टीम को ज़रूरत थी।
विराट कोहली, 6 : सलामी बल्लेबाज़ों की 200 से अधिक रनों की साझेदारी के बाद कोहली ने एक आक्रामक टेंपलेट के साथ अपनी पारी की शुरुआत की लेकिन वह उसे एक बड़ी पारी में बदलने में सफल नहीं हो पाए।
इशान किशन, 5 : के एल राहुल की अनुपस्थिति में इशान किशन को लगातार चार नंबर पर बल्लेबाज़ी करने का मौक़ा मिला लेकिन वह इन मौक़ों को भुनाने में सफल नहीं हो पाए। तीसरे वनडे में पहले तो वह लगातार स्ट्राइक रोटेट करने के लिए संघर्ष करते रहे और एक फिर जब उन्होंने अपना गियर बदलने का प्रयास किया तो दुर्भाग्यपूर्ण तरीक़े से रन आउट हो गए। साथ ही उन्होंने एक स्टंपिंग का चांस भी मिस किया।
सूर्यकुमार यादव, 4 : सूर्यकुमार टी20 में जिस तरह की लय में दिखते हैं, उसे वह वनडे में प्राप्त करने में अब तक असफल रहे हैं। तीसरे वनडे में उनके पास अच्छा फ़िनिश करने का मौक़ा था। काफ़ी ओवर भी बचे हुए थे और प्लेटफ़ॉर्म भी सेट था लेकिन एक धीमी गेंद को पढ़ने में ग़लती करने के बाद वह लॉन्ग ऑन पर कैच आउट हो गए। इसके अलावा उन्होंने काफ़ी मिस फ़ील्ड भी की और कैच भी छोड़ा।
हार्दिक पंड्या, 9.5 : भारत का पहला विकेट 212 के स्कोर पर गिरा था लेकिन उसके बाद 101 रन के भीतर और पांच विकेट गिर गए। ओवर काफ़ी ज़्यादा थे लेकिन विकेट हाथ में नहीं थे। ऐसे में हार्दिक ने सूझ-बूझ के साथ अपनी पारी को आगे बढ़ाया और फिर 45वें ओवर के बाद आक्रामक शॉट लगाए। जब गेंदबाज़ी की बारी आई तो पहले ही ओवर में उन्होंने भारतीय टीम को सफलता दिलाई। अपने छह ओवर के स्पेल में हार्दिक ने 37 रन देकर एक विकेट लिया।
शार्दुल ठाकुर, 9 : मैच में दो बार ऐसा प्रतीत हो रहा था कि भारत बैकफ़ुट पर जा सकता है लेकिन दोनों बार शार्दुल कप्तान और टीम मैनेजमेंट के भरोसे पर खरे उतरे। पहले उन्होंने हार्दिक के साथ 54 रनों की महत्वपूर्ण साझेदारी निभाई। इसके बाद जब डैरिल मिचेल और डेवन कॉन्वे के बीच एक महत्वपूर्ण साझेदारी हुई तो उन्होंने एक ही ओवर में दो विकेट निकालकर भारत को बैकफ़ुट पर नहीं जाने दिया।
वॉशिंगटन सुंदर, 4 : इस मैच में वॉशिंगटन का दिन कुछ ख़ास नहीं रहा। जब भारत को एक ऐसे बल्लेबाज़ की आवश्यकता थी, जो हार्दिक का साथ दे सके, तब सुंदर 14 गेंद में नौ रन बनाकर आउट हो गए और फिर गेंदबाज़ी के दौरान उन्होंने सिर्फ़ छह ओवर में 49 रन लुटाए।
कुलदीप यादव, 8.5 : हालिया समय में कुलदीप ने अपनी गेंदबाज़ी में काफ़ी सकारात्मक बदलाव किए हैं। साथ ही वह बढ़िया लय में हैं। बल्लेबाज़ी में तो उन्हें बस तीन गेंदें खेलने को मिली लेकिन गेंदबाज़ी में उन्होंने फिर से बढ़िया योगदान दिया। अपने नौ ओवर के स्पेल में कुलदीप ने तीन विकेट लिए।
युज़वेंद्र चहल, 7 : आज के मैच में चहल का भाग्य उनका साथ नहीं दे रहा था। उन्होंने कई मौक़े बनाए लेकिन वह विकेट में तब्दील नहीं हो पाए। हालांकि बाद में उन्हें पुछल्ले बल्लेबाज़ों के विकेट मिले।
उमरान मलिक, 8: उमरान अब धीरे-धीरे परिपक्व हो रहे हैं। गति के साथ-साथ वह अपनी लेंथ पर भी काम करने का प्रयास कर रहे हैं। वह बीच के ओवरों में बेहतरीन गेंदबाज़ी कर रहे हैं। आज उन्होंने कॉन्वे का विकेट निकाला, जिन्होंने न्यूज़ीलैंड को लगातार मैच में बनाए रखा था।

राजन राज ESPNcricinfo हिंदी में सब एडिटर हैं