मैच (15)
T20 वर्ल्ड कप (4)
IND v SA [W] (1)
CE Cup (4)
T20 Blast (6)
फ़ीचर्स

आईपीएल 2022 : कप्तानी के लिए तैयार हैं हार्दिक पंड्या

पंड्या ने अभी तक सिर्फ़ एक टूर मैच में कप्तानी की है और उनके पास कप्तानी का कोई विशेष अनुभव नहीं है

Hardik Pandya in a contemplative mood? India vs Scotland, Men's T20 World Cup 2021, Super 12s, Dubai, November 5, 2021

कप्‍तानी को लेकर चिंतित नही हैं हार्दिक  •  Getty Images

"आपको नेतृत्व करने के लिए कप्तान बनने की ज़रूरत नहीं"
यह हार्दिक पंड्या का नज़रिया है, जो आईपीएल 2022 में अहमदाबाद फ़्रेंचाइज़ी का नेतृत्व करेंगे। पंड्या ने केवल एक बार सीनियर स्तर पर कप्तानी की है। यह 2017 में ऑस्‍ट्रेलिया में एक टूर गेम था, लेकिन वह कम अनुभव से चिंतित नहीं है, क्योंकि वह ख़ुद को मानसिक तौर पर तैयार पाते हैं।
पंड्या ने मंगलवार को मीडिया को संबोधित करते हुए, "मैंने हमेशा से माना है कि आप कई तरीक़ों से नेतृत्व कर सकते हैं। मेरी टीम में मैं कप्तान रहूंगा, दूसरे लोग भी अपने रोल में नेतृत्व करेंगे। जो कुछ भी छोटे मौक़े या रोल मुझे पहले दिए गए हैं, मैंने हमेशा से ही उन पर ख़रा उतरने का प्रयास किया है और उनसे कुछ नया जरूर सीखा है और अब जब मेरे पास मौक़ा है तो मैं उस अनुभव का इस्तेमाल करने की पूरी कोशिश करूंगा।" लेकिन क्या उन्होंने इस रोल के लिए कोई तैयारी की है?
पंड्या ने कहा, "मुझे नहीं लगता कि कप्तान कैसे बना जाता है उसके लिए कुछ सीखना नहीं पड़ता है। लेकिन मैं हमेशा से ऐसा इंसान रहा हूं जो हमेशा किसी भी मैच में ज़िम्मेदारी लेना पसंद करता है। मैं पूरी कोशिश करूंगा कि जो भी लड़के मेरे साथ रहेंगे, हम एक यूनिट की तरह खेलेंगे और उन्हें मेरे से बहुत कुछ सीखने को मिलेगा, यही मैंने इतने सालों में सीखा भी है। मैं पूरी कोशिश करूंगा कि मैं खिलाड़ियों को ज़्यादा से ज़्यादा समय दूं, मेरे दरवाज़ें उनके लिए हमेशा खुले रहेंगे। तो तैयारी कोई नहीं है, लेकिन मैं आगे बढूंगा और मानसिक तौर से मैं हमेशा से तैयार हूं।"
भारत और आईपीएल करियर के दौरान पंड्या तीन बेहद सफल कप्तान एमएस धोनी, विराट कोहली और रोहित शर्मा के नेतृत्व में खेले हैं। जब उनसे पूछा गया कि आप प्रत्येक में से क्या अपनी कप्तानी में उनका कौशल लाना चाहेंगे। तो पंड्या ने कहा, "विराट से मैं उनकी आक्रमकता, उनका जोश और उनकी ऊर्जा लेना चाहूंगा, जो शानदार है। माही भाई से मैं उनकी संयम और शांति लेना चाहूंगा। हर परिस्थिति में वह समान रहते हैं। रोहित से मैं ये लेना चाहूंगा कि खिलाड़ियों को वह करने दिया जाए जो वह करना चाहते हैं।"
कप्तान के रूप में पांड्या का आदर्श मोटो अपने खिलाड़ियों के लिए खड़े रहना है, ख़ासकर उन लोगों के लिए जो अच्छा प्रदर्शन नहीं कर रहे हैं।
"जब कोई ऊंचाई पर होता है, जब वे अच्छा कर रहे होते हैं, जब चीज़ें ठीक हो रही होती हैं, तो आम तौर पर उन्हें किसी की ज़रूरत नहीं होती है। जब किसी का दिन ख़राब होता है, तभी उसे आपकी ज़रूरत होती है। इसलिए एक व्यक्ति के रूप में, या एक कप्तान के रूप में भी जब कोई अच्छा करेगा तो मैं उन्हें कभी परेशान नहीं करूंगा। मैं उन्हें उनके जोन में रहने दूंगा, लेकिन जब कोई ख़राब महसूस कर रहा हो, उन्हें मुझसे जो कुछ भी चाहिए, मैं हमेशा उपलब्ध रहूंगा। यही वह आदर्श मोटो है जिस पर मैं विश्वास करता हूं और मैं उसका पालन करने का प्रयास करूंगा। जिन्हें मेरी मदद की ज़रूरत है, जिन्हें मेरी जरूरत है, मैं उनके लिए हमेशा मौजूद रहूंगा।" पंड्या ने 2015 में आईपीएल में पदार्पण किया था और अब तक उन्होंने केवल एक फ़्रेंचाइज़ी, मुंबई इंडियंस के लिए खेला है। उनके लिए खेले गए सात सीज़न के दौरान, वह चार मौक़ों पर खिताब जीतने वाली टीम का हिस्सा थे। एक सफल टी20 टीम के आदर्श प्रारूप के बारे में बात करते हुए पांड्या ने कहा कि यह छोटी-छोटी लड़ाइयों को जीतने जैसा है।
पंड्या ने कहा, "आपके पास कितनी भी कमाल के खिलाड़ी क्यों न हो, यह स्थिति के बारे में है, यह सही क्षणों को चुनने के बारे में है। छोटे, छोटे क्षण होते हैं जिन्हें आपको टी20 मैच में जीतना होता है और हमारे लिए यह अधिक महत्वपूर्ण होगा। हम छोटी, छोटी लड़ाइयों पर ध्यान केंद्रित करेंगे - उदाहरण के लिए, यह 14वां ओवर जीतना हो सकता है, या 16वें ओवर में यह अच्छा प्रदर्शन करना हो सकता है। जो भी टीम सर्वश्रेष्ठ खेलेगी, वह जीतेगी। तो यह हमारी टीम के लिए मेरा ख़ाका होगा।"

'हार्दिक पंड्या गेंद और बल्ले दोनों से बहुत बेहतर महसूस कर रहे हैं'

पिछले कुछ सालों में पंड्या ने अपनी गेंदबाज़ी फ़िटनेस को लेकर संघर्ष किया है। जब उनसे पूछा गया कि इस समय उनकी गेंदबाज़ी कहां है, तो उन्होंने जवाब दिया: "यह सभी के लिए एक सरप्राइज है।"
हालांकि, उन्होंने कहा कि भारतीय टीम प्रबंधन उनकी फ़िटनेस स्थिति से अवगत है। "इसके बारे में सभी को बता दिया है, तो वे जानते हैं कि मैं कहां हूं।" हाल ही में, भारत के साथ-साथ आईपीएल में भी कई मौक़े आए हैं, जब पंड्या विशुद्ध रूप से बल्लेबाज़ के रूप में खेले और वह उनके लिए "चुनौतीपूर्ण" रहा है। हालांकि, पंड्या एक ऑलराउंडर के रूप में वापसी करना चाहते हैं।
"मैं हमेशा से ऐसा व्यक्ति रहा हूं जिसने तीन क्षेत्र में काम किया है - क्षेत्ररक्षण, बल्लेबाज़ी और गेंदबाज़ी, लेकिन उस समय जब मैंने फ़ैसला किया कि मैं कुछ समय के लिए [केवल] बल्लेबाज़ी करूंगा क्योंकि मैं मैदान पर कुछ समय बिताना चाहता था। हां, यह चुनौतीपूर्ण रहा है, लेकिन मुझे लगता है कि हम सभी चुनौतियों से प्यार करते हैं और मैं उनमें से एक हूं जो उनका सामना करना और उनका मुक़ाबला करना पसंद करता हूं। स्वस्थ आलोचना अच्छी है लेकिन आम तौर पर आलोचना मुझे परेशान नहीं करती है। मुझे पता है कि मैं क्या कर रहा हूं, मुझे पता है कि मैं कैसे तैयारी करता हूं, मुझे पता है कि मैंने कितनी मेहनत की है। मेरे लिए, परिणाम मायने रखते हैं लेकिन मैं परिणामों के लिए कड़ी मेहनत नहीं करता, मैं प्रक्रियाओं के लिए कड़ी मेहनत करता हूं और जब आप वास्तविक मेहनत करते हैं तो परिणाम ख़ुद ही देख लेते हैं, जो मैं अभी भी कर रहा हूं।"
उन्होंने कहा, "मैंने एक बात महसूस की है कि एक ऑलराउंडर के तौर पर मैं टीम को कई तरह के विकल्प देता हूं। मैं हमेशा एक ऑलराउंडर के रूप में खेलना चाहता हूं और मैं हमेशा ऐसा करने की कोशिश करूंगा। अगर कुछ ग़लत होता है तो मेरी बल्लेबाज़ी हमेशा बनी रहती है। और आप जानते हैं कि हार्दिक पंड्या बल्ले और गेंद से संयुक्त रूप से सिर्फ़ एक बल्लेबाज से बेहतर लगते हैं।"
बल्ले से, टी20 में पंड्या की भूमिका मुख्य रूप से एक फ़िनिशर की रही है, जिसमें वह ज़्यादातर नंबर 5 या उससे नीचे आते हैं। लेकिन क्या अब बदलाव होगा, क्योंकि वह कप्तान है?
"मैं हमेशा एक ऐसा क्रिकेटर रहा हूं जिसने उस समय की स्थिति और टीम को जो कुछ भी चाहिए था, उसको देखकर खेला है। अगर मेरी टीम को मुझसे कुछ भूमिकाओं की ज़रूरत है, तो मैच आने परर एक समूह के रूप में हम तय करेंगे, लेकिन मैंने अभी तक इस बारे में कोई योजना नहीं बनाई है। अगर स्थिति मुझे जल्दी जाने की मांग करती है, तो मैं जल्दी जाऊंगा। अगर स्थिति इसकी मांग नहीं करती है, तो मैं रुकूंगा और सुनिश्चित करूंगा कि मैं बैक एंड की देखभाल करूं।"

हेमंत बराड़ ESPNcricinfo में सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर निखिल शर्मा ने किया है।