मैच (17)
IPL (3)
Pakistan vs New Zealand (1)
PAK v WI [W] (1)
ACC Premier Cup (1)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
CAN T20 (2)
Comment

सैमसन अपनी अच्छी फ़ॉर्म को बर्बाद कर रहे हैं : बिशप

'इससे उनका अंतर्राष्ट्रीय करियर भी प्रभावित हो सकता है'

संजू सैमसन को बल्लेबाज़ी करते देखना सुखद है, लेकिन यह निराशाजनक भी हो सकता है अगर वह अच्छे फ़ॉर्म के बावजूद ग़लत ढंग से शॉट खेलकर आउट हो जाए।
वेस्टइंडीज़ के पूर्व क्रिकेटर और मशहूर कॉमेंटेटर इयन बिशप का मानना है कि सैमसन अपनी अच्छी फ़ॉर्म को बर्बाद कर रहे हैं और इससे उनका अंतर्राष्ट्रीय करियर भी प्रभावित हो सकता है, जहां वह सफल वापसी करने की कोशिश में लगे हैं।
मंगलवार को रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु के ख़िलाफ़ हुए मैच में सैमसन जब बल्लेबाज़ी करने आए तो राजस्थान रॉयल्स का स्कोर 33 रन पर दो विकेट था। इसी स्कोर पर इन-फ़ॉर्म जॉस बटलर भी चलते बने। सैमसन ने जो पहली गेंद खेली, वह गोली के रफ़्तार से प्वाइंट की दिशा में चार रन के लिए गई। इसके बाद तीसरी गेंद पर उन्होंने वनिंदु हसरंगा को एक्स्ट्रा कवर के ऊपर से छह रन के लिए दे मारा। शाहबाज़ अहमद पर लगातार दो छक्के मारने के बाद उनका स्कोर 12 गेंदों में 24 रन था।
इसके बाद उन्होंने नौ गेंदें खेलीं, अपनी पारी को धीमा करते हुए सिर्फ़ तीन रन बनाया। तभी हसरंगा की एक गुगली गेंद को रिवर्स स्वीप करने के चक्कर में क्लीन बोल्ड हो गए। ऐसा तब था जब कुछ गेंद पहले ही वह हसरंगा को रिवर्स स्वीप करने के चक्कर में बुरी तरह बीट हुए थे।
बिशप ने कहा, "यह सैमसन के लिए अच्छा मौक़ा था। जॉस बटलर के आउट होने के बाद वह अपनी टीम को एक बड़े स्कोर तक ले जा सकते थे। वह फ़ॉर्म में भी थे। हसरंगा को वह पहले भी अच्छे से नहीं खेल पाए हैं, तो उनको इसका ध्यान रखना चाहिए था। मैं संजू सैमसन का फ़ैन हूं, लेकिन वह अपने शॉट सेलेक्शन से निराश करते हैं।"
आपको बता दें कि हसरंगा छह टी20 पारियों में सैमसन को पांच बार आउट कर चुके हैं। न्यूज़ीलैंड के पूर्व कप्तान डैनियल विटोरी भी बिशप से सहमत नज़र आए। उन्होंने कहा कई बार सैमसन चीज़ों को बहुत ज़ल्दी-ज़ल्दी में करना चाहते हैं।
"वह एक ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्हें कोई भी अपनी टीम में रखना चाहेगा। वह मैच-विनर हैं और किसी भी गेंदबाज़ को निशाना बना सकते हैं। इसके बावजूद वह अभी तक कुछ ख़ास अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेल पाए हैं"
डैनियल विटोरी
विटोरी ने आगे कहा, "जब वह खेलते हैं तो लगता है कि बल्लेबाज़ी कितनी आसान है। वह हमेशा नई चीज़ों को करने की कोशिश में लगे रहते हैं। उनके किताब में हर शॉट है। जब वह गेंदबाज़ के सिर के ऊपर से शॉट लगाते हैं तो सबसे बेहतरीन लगते हैं। उन्हें खेलते देखना आंखों के लिए सुखद है। लेकिन अच्छी शुरुआत के बाद भी जब वह ज़ल्दी आउट हो जाते हैं, तब निराशा होती है। जब आप 18 या 20 गेंदों में 30 रन बनाते हैं तो एक अनुभवी खिलाड़ी होने के नाते आपको इस पारी को बड़ा करने की ज़रूरत होती है।"
विटोरी ने कहा कि पुराने रिकॉर्ड और हसरंगा के फ़ॉर्म को देखते हुए भी सैमसन को गेंदबाज़ के प्रति थोड़ा सम्मान दिखाना चाहिए था, लेकिन वह हड़बड़ी में दिखे। हालांकि बिशप से इतर विटोरी को मानना है कि अगर सैमसन अपनी टीम को आईपीएल फ़ाइनल तक पहुंचा देते हैं तो उनके लिए टीम इंडिया में वापसी आसान होगी।