मैच (5)
IPL (1)
ACC Premier Cup (2)
Women's QUAD (2)
फ़ीचर्स

आंकड़े झूठ नहीं बोलते : धोनी के ख़िलाफ़ बेअसर हो जाते हैं भुवनेश्वर

पावरप्ले में विकेट न गंवाना है हैदराबाद की जीत की गारंटी

भुवनेश्वर कुमार ने जिन दो मुक़ाबलों में विकेट नहीं लिया उसमें हैदराबाद हारी है  •  BCCI

भुवनेश्वर कुमार ने जिन दो मुक़ाबलों में विकेट नहीं लिया उसमें हैदराबाद हारी है  •  BCCI

आईपीएल का 46वां मुक़ाबला रविवार शाम को सनराइज़र्स हैदराबाद और चेन्नई सुपर किंग्स के बीच खेला जाएगा। रिकॉर्ड के लिहाज़ से चेन्नई सुपर किंग्स का सनराइज़र्स हैदराबाद पर पलड़ा भारी है। हालांकि इस सीज़न के पहले मुक़ाबले में चेन्नई को हैदराबाद के ख़िलाफ़ करारी हार झेलनी पड़ी थी। मुक़ाबले से पहले दोनों ही टीमों से जुड़े कुछ आंकड़ों पर नज़र डालते हैं, जिससे मुक़ाबले से पहले मैच की संभावित दशा और दिशा को टटोला जा सके।
पावरप्ले में विकेट न गंवाना है हैदराबाद की जीत की गारंटी
इस सीज़न के आंकड़े कहते हैं कि अग़र सनराइज़र्स हैदराबाद पावरप्ले में विकेट नहीं गंवाती है तो हैदराबाद की जीत लगभग तय जाती है। हैदराबाद ने इस सीज़न में कुल चार मर्तबा पावरप्ले में विपक्षी टीम को एक भी विकेट नहीं दिया और इन चारों ही बार हैदराबाद को जीत मिली है। हालांकि हैदराबाद की जीत भुवनेश्वर कुमार के प्रदर्शन पर भी काफ़ी हद तक निर्भर करती है। इस सीज़न में भुवनेश्वर ने दो मैचों में एक भी विकेट नहीं लिया है और दोनों ही बार सनराइज़र्स को हार का स्वाद चखना पड़ा है।
धोनी के ख़िलाफ़ बेअसर हो जाते हैं भुवनेश्वर
इस सीज़न में चेन्नई के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने पिछले कुछ सीज़न के मुक़ाबले बेहतर बल्लेबाज़ी की है। हैदराबाद के प्रमुख गेंदबाज़ों में से एक भुवनेश्वर कुमार के ख़िलाफ़ उनका रिकॉर्ड भी लाजवाब है। उन्होंने टी20 की 11 पारियों में भुवनेश्वर की 57 गेंदों पर 165 के स्ट्राइक रेट से 94 रन बनाए हैं। भुवनेश्वर एक बार भी धोनी को आउट नहीं कर पाए हैं। वहीं धोनी ने यॉर्कर किंग टी नटराजन की 10 गेंदों पर 19 रन बनाए हैं, जबकि एक बार उन्हें पवेलियन भी लौटना पड़ा है।
चेन्नई की बल्लेबाज़ी पर है दारोमदार
चेन्नई की बल्लेबाज़ी इस सीज़न में किसी रोलर कोस्टर राइड की तरह रही है। अग़र सीएसके को यह मुक़ाबला जीतना है तो रॉबिन उथप्पा और शिवम दुबे के बल्ले का वोकल होना ज़रूरी है। आंकड़े कहते हैं कि इस सीज़न सीएसके के जीते दोनों मुक़ाबलों में 65 फ़ीसदी रन उथप्पा और दुबे के बल्ले से ही आए थे। ऐसे में रविवार के मुक़ाबले में अगर यह दोनों बल्लेबाज़ चल पड़ते हैं सीएसके ड्राइविंग सीट पर आ सकती है।
चेन्‍नई के सलामी बल्लेबाज़ ऋतुराज गायकवाड़ का बल्ला जब-जब बोलता है, तब-तब चेन्नई जीत की ओर अग्रसर हो जाती है। गायकवाड़ के आईपीएल में लगाए नौ अर्धशतक में सात बार चेन्नई को जीत हासिल हुई है। वहीं पिछले मैच में अर्धशतक जड़ने वाले अंबाती रायुडू के ऊपर भी अपने फ़ॉर्म को जारी रखना होगा।
सनराइज़र्स के बल्लेबाज़ों को चकमा दे सकते हैं ब्रावो
चेन्नई के मध्य गति के गेंदबाज़ ड्वेन ब्रावो का सनराइज़र्स के अधिकतर बल्लेबाज़ों के ख़िलाफ़ रिकॉर्ड बेहतरीन रहा है। हालांकि अभिषेक शर्मा और एडन मारक्रम को ब्रावो ने एक बार भी आउट नहीं किया है, लेकिन वह इन दोनों ही बल्लेबाज़ों को बांध कर रखने का माद्दा रखते हैं। अभिषेक शर्मा ने ब्रावो के ख़िलाफ़ 22 गेंदों में 132 के स्ट्राइक रेट से रन बनाए हैं, जबकि एडन मारक्रम ने टी20 में ब्रावो की 29 गेंदों में 97 के स्ट्राइक रेट से 28 रन ही बनाए हैं।
हैदराबाद के कप्तान केन विलियमसन और राहुल त्रिपाठी को ड्वेन ब्रावो टी20 में दो-दो बार आउट कर चुके हैं। वहीं ब्रावो ने निकोलस पूरन को टी20 में तीन बार अपना शिकार बनाया है। इस लिहाज से ब्रावो हैदराबाद के अधिकतर बल्लेबाज़ों पर भारी पड़ते हैं। हालांकि पूरन ने ब्रावो के ख़िलाफ़ तूफ़ानी अंदाज़ में बल्लेबाज़ी भी की है। पूरन ने कुल 11 पारियों में ब्रावो की 42 गेंदों पर 145 के स्ट्राइक रेट से 61 रन बनाए हैं।

नवनीत झा (@imnot_nav) ESPNcricinfo हिंदी में एडिटोरियल फ़्रीलांसर हैं।