मैच (7)
IND v ENG (1)
रणजी ट्रॉफ़ी (4)
PSL 2024 (1)
WPL (1)
Comment

क्या संभव है ओलिंपिक-2028 में क्रिकेट?

ओलिंपिक में शामिल होने से पहले क्रिकेट के सामने कई अड़चने हैं

सौ साल से ज्यादा हो गए जब क्रिकेट को ओलिंपिक में पहली और आखरी बार शामिल किया गया था  •  Frederic J Brown/AFP/Getty Images

सौ साल से ज्यादा हो गए जब क्रिकेट को ओलिंपिक में पहली और आखरी बार शामिल किया गया था  •  Frederic J Brown/AFP/Getty Images

टोक्यो ओलिंपिक के ठीक एक दिन बाद अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने इस बात की घोषणा की कि वे क्रिकेट को 2028 ओलिंपिक में शामिल कराने के लिए भरसक प्रयास करेंगे। आईसीसी के अध्यक्ष ग्रेग बार्कले ने इस मौके पर कहा था कि आईसीसी ओलिंपिक को क्रिकेट के दीर्घकालिक भविष्य के रूप में दिख रही है। ऐसा नहीं है कि ओलिंपिक में क्रिकेट को शामिल कराने के लिए पहली बार प्रयास किया जा रहा है। इससे पहले भी जब सचिन तेंदुलकर को भारतीय ओलिंपिक संघ (आईओए) ने ब्रांड एंबेसडर बना कर साल 2016 में रियो ओलंपिक में भेजा था। इसके बाद यह सोच एक बार फिर से जीवित हो गई कि अगर क्रिकेट ओलिंपिक में शामिल होता है तो इसका आने वाला कल निश्चित रूप से काफी अच्छा होगा।
ओलिंपिक में क्रिकेट को शामिल करने की तैयारी आईसीसी काफी विशिष्ट तरीके से कर रही है। आईससीसी ने पांच ऐसे ग्रुप बनाए हैं, जो लॉस एंजिल्स 2028 के लिए पिच बनाने का काम करेंगे। आईसीसी के अध्यक्ष का बयान आने के बाद भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) के सचिव जय शाह ने हिंदुस्तान टाइम्स से कहा, "ओलिंपिक में शामिल होने के मामले में बीसीसीआई और आईसीसी एकमत हैं।"
इससे पहले ओलिंपिक में शामिल होने को लेकर बीसीसीआई और आईसीसी के मत एक समान नहीं थे। 1998 कुआलालंपुर राष्ट्रमंडल खेलों में टीम भेजने के बाद भारत ने ग्वांगझू 2010 खेलों से बाहर हो था। जय शाह का यह बयान ओलिंपक में शामिल होने या ना होने को लेकर एक बीसीसीआई का नया रूख देता है। गौरतलब है कि भारतीय महिला क्रिकेट टीम अगले साल होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों में शामिल होने जा रही है।
जब भी क्रिकेट और ओलिंपिक को एक ही स्टेज पर देखने की परिकल्पना की जाती है तो कई पक्ष इस विचार को खारिज कर देते हैं। उनके अनुसार क्रिकेट एक वैश्विक खेल नहीं है। उनके अनुसार क्रिकेट में पहले से ही तीन विश्व कप प्रतियोगिता (वनडे विश्व कप, टी20 विश्व कप, विश्व टेस्ट चैंपियनशिप) का आयोजन होता है। इसके अलावा चैंपियंस ट्रॉफ़ी भी है। ऐसे में ओलिंपिक में शामिल होकर चौथे बड़े आयोजन को महत्ता कैसे मिलेगी?
अगर ओलिंपक में क्रिकेट शामिल हो भी जाता है तो कितने देश इस खेल में हिस्सा लेंगे? ज्यादातर लोगों का मानना है कि ओंलिंपिक में आठ टीमें हिस्सा ले सकती है जो शायद काफी नहीं है क्योंकि ओलिंपिक को आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी के तर्ज पर नहीं कराया जा सकता है। क्या टेस्ट या वनडे में किसी भी टीम का खेलना ओलिंपिक में क्वालीफाई करने के लिए काफी है? ऐसे मापदंड ओलिंपक के नियमों से काफी अलग और दूर नजर आते हैं। क्या यह चार घंटो का लंबा टी-20 मैच होगा या फिर नए फ़ॉर्मेट हंड्रेड में इसे खेला जाएगा? कुछ साल पहले टी-10 को भी एक विकल्प के रूप में देखा जा रहा था। क्या लॉस एंजिल्स में क्रिकेट मैचों के लिए पर्याप्त पिच हैं? हमें यह भी याद कर लेना चाहिए कि ओलिंपिक में कोई रूम सर्विस नहीं होता है। यहां बस हजारों एथलीट होते हैं। यहां खिलाड़ियों के दिए जाने वाले कमरे भी काफी साधारण होते हैं। सभी प्रतिभागियों को नाश्ता लेने के लिए लाइन में खड़ा होना पड़ता है।
वीवीएस लक्ष्मण और हरभजन सिंह 1998 के राष्ट्रमंडल खेलों में भारतीय टीम का हिस्सा थे। 1998 की यादों को ताजा करते हुए लक्ष्मण ने डाइनिंग हॉल के दृश्यों का वर्णन ऐसे करते हैं कि जैसे कि वो जगह कोई डाइनिंग हॉल नहीं बल्कि टेनिस कोर्ट है।लक्ष्मण कहते हैं, "आप जैसे ही अपने बाएं या दाहिने ओर देखते हैं तो अन्य खेल के महान खिलाड़ी आपके आस-पास होते हैं। अन्य खेलों के एथलीट्स को देखना, कैरिबियन सुपरस्टार ट्रैक एथलीटों और भारतीय दल के अन्य लोगों के साथ, उनके जीवन के बारे में बातचीत करना, राष्ट्रीय ध्वज के साथ उद्घाटन समारोह में मार्च करना और हर दिन अन्य खेलों के हजारों एथलीटों के साथ होने की स्मृति काफी सुखद है। यह एक कार्निवल तरह था, जिसने हमारे वैश्विक दृष्टिकोण को बदल दिया।"
क्रिकेट के वर्तमान ओलिंपिक प्रस्ताव का अध्ययन करने का एक तरीका यह देखना है कि खेल अपने बबल के बाहर की दुनिया को कैसा दिखता है। जहां तक ​​कई देशों के बीच होने वाले टूर्नामेंट के आयोजनों की बात है तो मीडिया-अधिकार मूल्य के संदर्भ में आईसीसी क्रिकेट विश्व कप, ओलिंपिक और फीफा विश्व कप के बाद तीसरा सबसे महंगा वैश्विक आयोजन है। यूएस ब्रॉडकास्टर एनबीसी ने 2021 से 2032 के लिए तकरीबन 7.65 बिलियन डॉलर में ओलंपिक प्रसारण अधिकार खरीदे। अपने 2018 और 2022 विश्व कप के लिए फीफा के अधिकार लगभग 1.85 बिलियन डॉलर आंका गया है।
आईसीसी ने अपने 2015-2023 मीडिया अधिकार की बिक्री के आधिकारिक आंकड़े जारी नहीं किए हैं। हालांकि यह जरूर कहा जा सकता है कि यह 2007-2015 के लिए 1.1 बिलियन डॉलर से काफी अधिक था। एक हिसाब से देखा जाए तो क्रिकेट के ज्यादातर दर्शक भारत या दक्षिण एशियाई देशों से हैं। ओलंपिक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए आवश्यक मानदंड को अगर देखा जाए तो 2018 के एक दस्तावेज के अनुसार, किसी भी खेल के ओलंपिक में शामिल होने के लिए यह जरूरी है कि उस खेल की उपस्थिति कई देशों में हो और इसका एक अंतरराष्ट्रीय महासंघ भी हो। 2007 से पहले तो नियम और भी ज्यादा मुश्किल थे। कम से कम 75 देशों में और चार महाद्वीपों में खेले जाने वाले खेलों को ही ओलिंपिक में शामिल किया जाता था। वहीं उन देशों में कम से कम 40 देश ऐसे भी होने चाहिए, जहां महिलाएं उस खेल को खेलती हो।
हालांकि मौजूदा समय में ऐसे नियम नहीं हैं। कोई भी खेल जो व्यापक रूप से कई देशों में खेला जाता हो, उसे ओलिंपिक में शामिल किया जा सकता है। आईसीसी भी खेल को व्यापक तरीके से पूरे विश्व में बढ़ाने के लिए कई कदम उठा रहा है। इस साल जून में उसने घोषणा की है कि 2027 से एकदिवसीय विश्व कप में दस के बजाय 14 टीमें होंगी और 2024 से टी20 विश्व कप में 20 टीमें होंगी।