मैच (6)
IPL (2)
ACC Premier Cup (2)
Women's QUAD (2)
ख़बरें

धोनी के शांत स्वभाव को अपनाकर टी20 सीरीज़ में कप्तानी करना चाहते हैं सैंटनर

टी20 सीरीज़ से पहले सैंटनर ने अपनी योजनाओं के बारे में बात की

मिचेल सैंटनर उस समय भी शांत थे, जब हैदराबाद में उनकी बल्लेबाज़ी आई और न्यूज़ीलैंड 350 रनों का पीछा करते हुए 6 विकेट पर 131 रन संघर्ष कर रहा था। उनका ऐसा ही व्यवहार एक बार फिर तब देखने को मिला, जब रायपुर में पत्रकारों ने उन्हें पारंपरिक तरीके़ से स्थानीय लोगों का अभिवादन करने के लिए कहा। खेल के मैदान में उनका यह व्यवहार हमेशा से ही दिखता है। इंदौर में रोहित शर्मा और शुभमन गिल के ख़िलाफ़ भी उन्होंने काफ़ी शांत दिमाग़ के साथ गेंदबाज़ी की।
सैंटनर का मानना ​​​​है कि उनका शांत दृष्टिकोण उनकी सबसे बड़ी ताक़तों में से एक है। फ़रवरी में इंग्लैंड के ख़िलाफ़ घरेलू टेस्ट सीरीज़ से पहले केन विलियमसन और टिम साउदी आराम कर रहे हैं। ऐसे में सैंटनर, भारत के ख़िलाफ़ टी20 सीरीज़ के दौरान अपनी टीम की कप्तानी करेंगे। इससे पहले सैंटनर ने 10 टी20 अंतर्राष्ट्रीय मैचों में न्यूज़ीलैंड का नेतृत्व किया है।
सैंटनर ने रांची में पहले टी20 अंतर्राष्ट्रीय की पूर्व संध्या पर कहा, "मुझे लगता है कि शांत रहना मेरे स्वभाव का हिसा है। हालांकि भारत के ख़िलाफ़ खेली जाने वाली टी20 सीरीज़ से पहले मैं थोड़ा नर्वस भी हूं। भारत में एक और सीरीज़ की कप्तानी करना बहुत ही रोमांचक बात है।"
अपने स्वभाव के बारे में बात करते हुए सैंटनर ने कहा, "अगर आप धोनी और फ़्लेमिंग को देखें, तो दोनों ही काफ़ी शांत रहते हैं और दोनों ही एक प्रखर नेतृत्वकर्ता हैं। उसी कारण से शायद मैं भी कुछ वैसा ही हूं। मैं कुछ सालों से धोनी की टीम में हूं और यह एक शानदार अनुभव रहा है। मुझे तो इस बात की भी ख़ुशी है कि यह मैच उनके ही शहर में हो रहा है। ठीक उनकी ही तरह फ़्लेमिंग भी काफ़ी शांत स्वभाव के हैं। इसी कारण से हम अपनी टीम का माहौल भी वैसा ही बनाए रखना चाहते हैं।"
ईएसपीएनक्रिकइंफ़ों के ओपन माइक पर बात करते हुए 2022 के टी20 विश्व कप के दौरान फ़्लेमिंग ने कहा था कि सैंटनर उन खिलाड़ियों में शामिल थे, जिन्हें चेन्नई सुपर किंग्स एक नेतृत्वकर्ता के रूप में देख रहा था। वहीं न्यज़ीलैंड के प्रमुख कोच गैरी स्टीड के अनुसार सैंटनर के पास टी20 क्रिकेट का काफ़ी अनुभव है। इसी कारण से उन्हें कप्तान बनाया गया है।
आईपीएल में सीएसके के लिए खेलने के अलावा सैंटनर ने टी20 ब्लास्ट में भी भाग लिया है। वह अब भारत के आईपीएल सुपरस्टार्स के ख़िलाफ़ न्यूज़ीलैंड के लिए अपनी कप्तानी के दौरान उन सभी अनुभवों का फ़ायदा उठाना चाहते हैं।
सैंटनर ने कहा, "हर बार जब आप अलग-अलग सतहों और अलग-अलग परिस्थितियों में खेलते हैं, तो निजी अनुभव हमेशा मददगार होता है। आप जानते हैं कि आईपीएल में खेलना अलग नहीं है। हम बहुत सारे अलग-अलग मैदानों, बहुत सारे अलग-अलग स्थानों और बहुत सारी सतहों पर खेलते हैं। इसलिए प्रत्येक मैदान की बुनियादी समझ हासिल करने में मदद मिलती है। फिर ज़ाहिर है कि खेल में वह अनुभव मदद करती है।"
सैंटनर ने आगे कहा, "हर बार जब आप अपने देश के लिए खेलते हैं तो यह एक बड़े सम्मान की बात होती है। ऐसे में आप अपना सर्वश्रेष्ठ देना चाहते हैं। मुझे लगता है कि जिस तरह से वनडे में बड़े-बड़े स्कोर बन रहे हैं, उस हिसाब से यह टी20 से बहुत अलग नहीं होगा। मुझे लगता है कि उस सीरीज़ से उनसे मैं सीखने की कोशिश कर रहा हूं। यह साफ़ है कि हम 3-0 से हार गए, हमने कुछ मैचों में बढ़िया संघर्ष किया। "

.