मैच (19)
IPL (3)
County DIV1 (5)
County DIV2 (4)
ACC Premier Cup (6)
Women's Tri-Series (1)
फ़ीचर्स

आंकड़े : कप्तान के तौर पर रोहित का पहला टेस्ट शतक और जाडेजा का अनोखा डबल

टेस्ट डेब्यू पर भारत के ख़िलाफ़ पंजा खोलने वाले दूसरे मेहमान स्पिनर बने मर्फ़ी

1 - रोहित शर्मा अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट के तीनों फ़ॉर्मैट में शतक लगाने वाले पहले भारतीय कप्तान बन गए हैं। नागपुर में आया रोहित का शतक, कप्तान के तौर पर उनका पहला था। भारत की कप्तानी करते हुए उनके नाम वनडे में तीन और टी20 अंतर्राष्ट्रीय में दो शतक हैं। सिर्फ़ अन्य तीन पुरुष खिलाड़ियों ने अपने टीम का नेतृत्व करते हुए तीनों फ़ॉर्मैट में शतक ठोके हैं, वें हैं: तिलकरत्ने दिलशान, फ़ाफ़ डुप्लेसी और बाबर आज़म।
57.65 - की औसत रोहित का टेस्ट क्रिकेट में सलामी बल्लेबाज़ के तौर पर दूसरा सर्वाधिक (कम से कम 30 पारियां) है। 83 पारियों में 61.10 की औसत के साथ सिर्फ़ हर्बर्ट सटक्लिफ़ ही उनसे आगे हैं।

57.14 - फ़ीसदी 50-प्लस स्कोर को घरेलू टेस्ट में रोहित ने शतक में तब्दील किया है। भारत में अब उनके नाम 21 टेस्ट मैचों में आठ शतक और छह अर्धशतक हैं। भारतीय बल्लेबाज़ों में सिर्फ़ मुरली विजय (60%) का घरेलू टेस्ट में उनसे बेहतर कन्वर्ज़न रेट है। विजय ने भारत में अपने पंद्रह 50-प्लस स्कोर में से नौ को शतकों में तब्दील किया।

75.2 - घर में टेस्ट क्रिकेट में 30 से ज़्यादा पारियां खेलने वाले बल्लेबाज़ों में रोहित की 75.2 की औसत दूसरी सबसे अच्छी है। सिर्फ़ डॉन ब्रैडमैन ही रोहित से आगे हैं। उन्होंने घरेलू मैदान पर 50 पारियों में 98.22 की औसत से बल्लेबाज़ी की थी।
81.62 - पहले टेस्ट में नेथन लायन और टॉड मर्फ़ी की ऑफ़ स्पिन जोड़ी के सामने रोहित की नियंत्रण प्रतिशत 81.62 की रही। रोहित ने उनकी 136 गेंदों पर नौ चौकों और एक छक्के की मदद से 68 रन बनाए। रोहित ने आउट होने से पहले पैट कमिंस की गेंद पर 93.18 के स्ट्राइक रेट से 41 रन बनाए।

6 - यह छठी बार है, जब रवींद्र जाडेजा ने किसी टेस्ट मैच में अर्धशतक और पंजा खोला हो। ऐसा कारनामा करने वाले भारतीय खिलाड़ियों की सूची में वह अश्विन के साथ संयुक्त रूप से शीर्ष पर विराजमान हो गए हैं। सिर्फ़ इयन बॉथम (11) और शाकिब अल हसन (10) ने जाडेजा की तुलना में अधिक बार टेस्ट मैचों में अर्धशतक और पंजा हासिल किया है। वहीं रिचर्ड हैडली ने भी छह बार यह कारनामा किया है।

2 - मर्फ़ी टेस्ट डेब्यू पर भारत के ख़िलाफ़ पंजा खोलने वाले दूसरे मेहमान स्पिनर बन गए हैं। उनसे पहले स्पिनर जेसन क्रेज़ा ने 2008 में नागपुर में ही डेब्यू पर 215 रन देकर 8 विकेट लिए थे।

संपत बंडारूपल्ली ESPNcricinfo में स्टैटिशियन हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के एडिटोरियल फ़्रीलांसर कुणाल किशोर ने किया है।