मैच (11)
WPL (1)
PSL 2024 (2)
रणजी ट्रॉफ़ी (2)
NZ v AUS (1)
Nepal Tri-Nation (1)
Sheffield Shield (3)
Dang CL (1)
ख़बरें

ईएसपीएनक्रिकइंफ़ो के विश्व कप एकादश में भारतीय खिलाड़ियों का दबदबा

कोहली, सूर्यकुमार और हार्दिक को मिली जगह

सूर्यकुमार यादव के साथ साथ विराट कोहली को भी एकादश में जगह मिली है  •  Getty Images

सूर्यकुमार यादव के साथ साथ विराट कोहली को भी एकादश में जगह मिली है  •  Getty Images

ईएसपीएनक्रिकइंफ़ों ने स्मार्ट स्टैटस के आधार पर पुरूषों की टी20 विश्व कप के टॉप 12 खिलाड़ियों को चुना है। स्मार्ट स्टैट्स संदर्भ जोड़कर प्रत्येक बल्लेबाज़ी या गेंदबाजी प्रदर्शन के सही मूल्य को मापने का एक तरीक़ा है। संदर्भ में पिच की स्थिति, विरोधियों की गुणवत्ता और मैच की स्थिति शामिल है ।
जॉस बटलर (कप्तान और विकेट कीपर)
पारी: 6, रन: 225 स्ट्राइक रेट 144.23, बैटिंग इम्पैंक्ट रेटिंग: 42.56
बटलर ने सलामी बल्लेबाज़ी किया। विकेट कीपिंग की और साथ ही अपनी टीम का नेतृत्व भी किया। इंग्लैंड के सफल विश्व कप उन्होंने कई बार महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उन्होंने अपनी पहली दो पारियों में 18 और 0 का स्कोर किया था। हालांकि इसके बाद वह लय में थे।न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ 47 गेंदों में 73 रनों की पारी खेलने के बाद उन्होंने पीछे मुड़ कर नहीं देखा। सेमीफ़ाइनल और फ़ाइनल में उन्होंने पावरप्ले का फ़ायदा उठाने का सकरात्मक प्रयास किया।
पारी: 6, रन: 212, स्ट्राइक रेट: 147.22, बैटिंग इम्पैक्ट रेटिंग: 42.67
काफ़ी दिनों तक टीम से बाहर रहने के बाद इस विश्व कप में हेल्स ने अपनी टीम के जीत में महत्वपूर्ण योगदान दिया। उनका सर्वश्रेष्ठ नाबाद 47 गेंदों में 86 रन था जिसने भारत को विश्व कप से बाहर का रास्ता दिखाने का काम किया था। उस मैच में उन्हें 107.5 इम्पैक्ट प्वाइंट मिला था। उन्होंने न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ भी महत्वपूर्ण अर्धशतक जड़ा और श्रीलंका के ख़िलाफ़ 47 रन बनाए। हेल्स और बटलर निस्संदेह टूर्नामेंट की उत्कृष्ट बल्लेबाजी जोड़ी थे, उन्होंने 9.2 प्रति ओवर की दर से 368 रन बनाए।
पारी: 6, रन: 296, स्ट्राइक रेट: 136.40, बैटिंग इम्पैक्ट रेटिंग: 47.50
इस टूर्नामेंट में विराट कोहली फिर से रन-मशीन बन गए थे। पाकिस्तान के ख़िलाफ़ उनके नाबाद 82 रन ने उन्हें पूरे टूर्नामेंट के किसी एक पारी में छठा सबसे ज़्यादा इम्पैकट प्वाइंट हासिल किया था। किसी भी बल्लेबाज ने कोहली के रनों (296) या अर्द्धशतकों (चार) के आंकड़ों को पार नहीं किया। इस टूर्नामेंट में उनका औसत 98.66 का था।
सराय: 6, रन: 239, स्ट्राइक रेट: 189.68, बैटिंग इम्पैक्ट रेटिंग: 61.69
टूर्नामेंट में कम से कम 10 रन बनाने वाले सभी बल्लेबाजों में (इस लिस्ट में 144 खिलाड़ी हैं ), सूर्यकुमार का स्ट्राइक रेट सबसे अधिक (189.68 ) था। वास्तव में केवल तीन अन्य बल्लेबाज़ों ने 170 के आंकड़े को छूने में सफल हो पाए हैं। इस टूर्नामेंट में वह तीसरे सबसे ज़्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज़ रहे। उनका औसत बल्लेबाजी इम्पैंक्ट (61.69) टूर्नामेंट के सभी बल्लेबाज़ों में सबसे अधिक था।
पारी: 5, रन: 201, स्ट्राइक रेट: 158.26, बैटिंग इम्पैक्ट रेटिंग: 59.75
ग्लेन फ़िलिप्स ने श्रीलंका के ख़िलाफ़ 64 गेंदों में 104 रन बनाए थे। इस प्रदर्शन के कारण उन्हें 182.6 इम्पैक्ट प्वाइंट प्राप्त हुए थे। जिस तरीक़े की परिस्थिति में उन्होंने वह रन बनाया था, उसके कारण उनके इम्पैक्ट प्वाइंट में काफ़ी इज़ाफा हुआ। हालांकि इसके बाद फ़िलिप्स सिर्फ़ इंग्लैंड के ख़िलाफ़ ही अर्धशतकीय पारी खेल पाए लेकिन वह मैच उनकी टीम हार गई थी।
मैच : 8, रन : 219, विकेट : 10, प्लेयर इंपैक्ट रेटिंग : 71.29
इस टूर्नामेंट में सिकंदर रज़ा दो सौ रन बनाने के साथ साथ 10 विकेट लेने वाले इकलौते खिलाड़ी थे। पहले राउंड के पहले तीन मैचों में रज़ा ने बल्ले और गेंद के साथ बेहतरीन प्रदर्शन किया था। उन्होंने 172 के स्ट्राइक रेट से 136 रन बनाए थे। जबकि 5.54 की इकोनॉमी से पांच विकेट भी अपने नाम किए थे। सुपर 12 में वह हालांकि पांच मैचों में सिर्फ 83 रन ही बना पाए। लेकिन पाकिस्तान के ख़िलाफ़ मुक़ाबले में 25 रन पर तीन विकेट लेकर वह मैच के हीरो साबित हुए।
मैच : 7, रन : 98, विकेट : 11, प्लेयर इंपैक्ट रेटिंग : 54.99
शादाब ख़ान टूर्नामेंट में पाकिस्तान की वापसी की सबसे अहम कड़ी साबित हुए। साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ निर्णायक मुक़ाबले में पाकिस्तान एक समय 95 के स्कोर पर पांच विकेट गंवा चुका था लेकिन शादाब की 22 गेंदों में 52 रनों की पारी ने पाकिस्तान के लिए संजीवनी बूटी का काम किया।
मैच : 6, विकेट : 13, इकोनॉमी रेट : 6.52, बॉल इमोएक्ट रेटिंग : 46.58
सैम करन ने डेथ ओवरों में अपनी शानदार गेंदबाज़ी से इंग्लैंड को विश्व विजेता बनाने में अहम योगदान निभाया। उन्होंने टूर्नामेंट में अपनी आधी गेंदें पारी के इसी चरण में फेंकी। करन ने कुल 64 गेंदों में 70 रन खर्च किए जबकि नौ बल्लेबाज़ों को अपना शिकार बनाया।
मैच : 4, विकेट : 9, इकोनॉमी रेट : 7.71, बॉल इंपैक्ट रेटिंग : 45.26
वुड ने चोटिल होने से पहले जितने भी मुक़ाबले उन्होंने हर मर्तबा अपनी गेंदबाज़ी से मैच पर अपना प्रभाव छोड़ा। उन्होंने 9.3 के स्ट्राइक रेट से कुल नौ विकेट झटके। यह टूर्नामेंट में कम से कम 10 ओवर डालने वाले गेंदबाज़ों में सबसे अच्छे आंकड़े हैं।
मैच : 7, विकेट : 11, इकोनॉमी रेट : 7.00 बॉल इंपैक्ट रेटिंग : 46.14
जोश लिटिल ने इस टूर्नामेंट में न्यूज़ीलैंड के ख़िलाफ़ हैट्रिक ली। वह इस टूर्नामेंट में हैट्रिक लेने वाले अकेले गेंदबाज़ रहे। ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध मैच में भी उन्होंने विपक्षी टीम के दोनों सलामी बल्लेबाज़ों को पवेलियन चलता किया। पहले और सुपर 12 राउंड में वह लगातार अपनी गेंदबाज़ी में सुधार करते चले गए।
मैच : 5, विकेट : 11, इकोनॉमी रेट : 5.37, बॉल इंपैक्ट रेटिंग : 51.84
साउथ अफ़्रीका के लिए यह टूर्नामेंट भले ही अच्छा न रहा हो लेकिन उनके तेज़ गेंदबाज़ अनरिख़ नॉर्खिए ने उम्दा गेंदबाज़ी करते हुए 5.37 की इकोनॉमी से 11 विकेट झटके। उन्होंने औसतन प्रति 9.5 गेंदों पर एक विकेट झटका। टूर्नामेंट में कम से कम 12 ओवर से अधिक गेंदबाज़ी करने वाले गेंदबाज़ों में उनकी इकोनॉमी सबसे बढ़िया रही।
हार्दिक पंड्या (12वां खिलाड़ी)
मैच : 6, रन : 128, विकेट : 8, प्लेयर इंपैक्ट रेटिंग : 44.32
हार्दिक पंड्या की गेंदबाज़ी पूरे टूर्नामेंट में अच्छी रही। पहले और अंतिम मैच में उन्होंने बल्लेबाज़ी में भी अपना जौहर दिखाया।

S Rajesh is stats editor of ESPNcricinfo. @rajeshstats