मैच (16)
IND v ENG (1)
WPL (2)
PSL 2024 (2)
BPL 2023 (2)
NZ v AUS (1)
रणजी ट्रॉफ़ी (4)
विश्व कप लीग 2 (1)
CWC Play-off (3)
फ़ीचर्स

लंबे समय तक दर्शकों के फ़ेवरिट बनने की राह पर सैमसन 'चेट्टा'

भारत का विकेटकीपर बल्लेबाज़ साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ वनडे सीरीज़ में ज़बरदस्त निरंतरता का परिचय दे रहा है

पुल शॉट खेलते हुए संजू सैमसन  •  BCCI

पुल शॉट खेलते हुए संजू सैमसन  •  BCCI

"चेट्टा...चेट्टा..." (मलयालम भाषा में भाई) उत्तर भारत के स्‍टेडियमों में समर्थकों के लिए एक नया नारा रहा होगा, क्‍योंकि पूरे भारत समेत यह हिस्‍सा भी तो "सचिन-सचिन", "धोनी-धोनी", "युवी-युवी" का आदी रहा है ना। लेकिन लखनऊ में साउथ अफ़्रीका के ख़िलाफ़ आई यह आवाज़ आपको नई तस्‍सली दे सकती है। नीली जर्सी में लंबे समय बाद अब संजू सैमसन (क्रमशः 86 और 30 नाबाद के साथ) रंग जमाने लगे हैं, और ऐसे में यह आवाज़ रांची से दिल्‍ली तक भी पहुंचेगी और इससे भी आगे जाएगी।
बारिश के ख़लल वाले पहले मैच में सैमसन के पास अनुभव भी था और वह ताक़त भी थी, लेकिन यह समय कुछ और था। और इसी फ़ॉर्म को बरक़रार रखते हुए उन्होंने रांची में मैच फ़िनिश करने में अपने परिपक्वता का परिचय दिया।
वाक़ई सैमसन ने बहुत इंतज़ार किया है। 2014 में पहली बार छा जाने के सात साल बाद और टी20 अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण के छह साल बाद सैमसन वनडे क्रिकेट में श्रीलंका दौरे पर डेब्‍यू कर पाए। वह भी तब जब मुख्‍य टीम इंग्‍लैंड में थी, लेकिन उन्हें एक ही पारी का मौक़ा मिला जिसमें उन्होंने 46 रन बनाए। इसके बाद इस साल साल जुलाई में वेस्‍टइंडीज़ दौरे पर सैमसन के बल्‍ले से पहला वनडे अर्धशतक (54) मिला। अपने पूरे वनडे करियर में सैमसन नौ मैचों में आठ पारियां खेल चुके हैं। सैमसन का संघर्ष बहुत लंबा है। इसके दर्शाने के लिए वनडे क्रिकेट को अलग रखा जा सकता है।
लखनऊ के मैच के बाद पत्रकार वार्ता में उन्‍होंने कहा भी तो बस दो शॉट कम रह गए वह टीम को जिताने से। 63 गेंद में 83 रनों की पारी में नौ चौके और तीन छक्‍के। यह आयाम अभी मिला लेकिन मेहनत तो लंबी थी।
भारत के लिए 2014 अंडर-19 विश्‍व कप का हिस्‍सा होने के तुरंत बाद सैमसन आईपीएल में राजस्‍थान रॉयल्‍स के लिए पहला सीज़न खेले थे। दो सीज़न अच्‍छा प्रदर्शन करने के बाद वह दिल्‍ली डेयरडेविल्‍स (अब दिल्ली कैपिटल्स) का हिस्सा थे। 2019 में वह राजस्थान का दोबारा से हिस्सा बने। उनके लिए खेलते हुए 2019 में 342 रन और 2020 में 375 रन बना दिए, जिसके बाद में वह अगले सीज़न में इस टीम के कप्‍तान भी बन गए। चलिए यह तो टी20 क्रिकेट की बात हुई है और इस प्रारूप में उनके लिए बताने के लिए बहुत कुछ है।
आईपीएल के दो ही सीज़न पहले की ही बात है। राजस्‍थान के लिए आईपीएल में खेलते हुए सैमसन ने सीज़न की शुरुआत में तो उन्‍होंने शतक भी लगाया लेकिन सफल नहीं हो सके। इसके अगले सीज़न में भी वह कम से कम असफल तो नहीं रहे, लेकिन 2021 के सत्र में वह कप्‍तान बनकर उभरे और उसके बाद से ही चीज़ें उनके लिए बदल गई।
सैमसन का आईपीएल ग्राफ़ देखें तो उन्‍होंने 2017 से 2020 तक पहले तीन मुक़ाबलों में 35, 40, 41 और 45 प्रतिशत रन बनाए लेकिन इसके बाद उनका बल्‍ला जमकर नहीं बोला। पिछले दो सीज़न में उनके बल्‍ले से टूर्नामेंट की शुरुआत में तो अच्‍छे रन आए लेकिन बाद में 25.62 और 20.31 प्रतिशत रन ही निकल पाए।
तिरुवंतपुरम में भारतीय टीम पहला टी20 खेलने पहुंची तो पब्लिक "चेट्टा-चेट्टा" चिल्ला रही थी। आईपीएल में राजस्‍थान टीम में उनके नीचे खेलने वाले रविचंद्रन अश्विन और युज़वेंद्र चहल ने सोशल मीडिया पर सैमसन के लिए प्‍यार को साझा किया, यहां तक कि स्‍टेडियम के बाहर सैमसन के बडे़ पोस्‍टर देखने को मिले। न्‍यूज़ीलैंड ए के ख़‍िलाफ़ आख़‍िरी वनडे में चेन्‍नई का स्‍टेडियम सैमसन आर्मी में तब्‍दील हो गया था।
ख़ुद सैमसन भी मिल रहे इस प्‍यार से बहुत अचंभित हैं और खुश भी हैं।
लखनऊ मैच के बाद उन्‍होंने कहा था, "हमारे देश में कई सुपर स्‍टार हैं, लेकिन तब भी आपको लोग पसंद करते हैं, आपके क्रिकेट को देखने जाते हैं, तो मेरे लिए यह बहुत आत्‍मविश्‍वास देने वाली बात है। जब भी हम बचपन में क्रिकेट खेलते थे तो मेरा सपना यही था। इससे मैंने और मेहनत शुरू कर दी है। पहले दो घंटे करता था जो अब चार घंटे हो जाता है, क्‍योंकि मैं हर मैच में प्रदर्शन करना चाहता हूं।"
वाक़ई सैमसन के लिए बहुत रास्‍ते थे बस ज़रूरत सही रास्‍ते को पकड़ने की थी। जो भी प्‍यार उन्‍होंने पाया है वह बरक़रार रह सकता है बस ज़रूरत ऐसे ही प्रदर्शन करने की है।
ऋषभ पंत सीमित-ओवर क्रिकेट में निरंतर फ़ॉर्म नहीं बरक़रार रख पा रहे और दिनेश कार्तिक भी संन्‍यास से अधिक दूर नहीं हैं। ऐसे में हम 73 की औसत से वनडे रन बनाने वाले इस खिलाड़ी की शान में "चेट्टा-चेट्टा" की आवाज़ लंबे समय तक स्‍टेडियम में गूंजती हुई सुनें।

निखिल शर्मा ESPNcricinfo हिंदी में सीनियर सब एडिटर हैं।