मैच (9)
T20 वर्ल्ड कप (5)
CE Cup (2)
T20 Blast (2)
ख़बरें

सुर्ख़ियों की नहीं, प्रभावशाली प्रदर्शन की तलाश में हैं शार्दुल

पिछले एक साल से लगभग सभी वनडे सीरीज़ का हिस्सा रहे शार्दुल ने कहा कि अब भारतीय टीम उन पर भरोसा जता रही है

भारतीय टीम के तेज़ गेंदबाज़ शार्दुल ठाकुर का मानना है कि किसी भी मैच में सकारात्मक प्रभाव डालना उनके लिए सबसे अधिक मायने रखता है। भले ही ऐसा करते हुए टीम के सबसे बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी के रूप में उनकी गिनती न हो लेकिन अगर वह प्रभावशाली प्रदर्शन करने में सफल रहते हैं तो अपने प्रर्दशन से पूरी तरह से संतुष्ट हैं।
उनके अनुसार अगर आप ऐसा करते हैं तो टीम को जीत मिलती है। शार्दुल का कहना है कि भले ही वह अपने टीम के सबसे बेहतरीन प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी न हों लेकिन वह अपने इन प्रभावशाली प्रदर्शनों से काफ़ी संतुष्ट होंगे। वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ खेली गई वनडे सीरीज़ में शार्दुल ने 11.62 की औसत और 5.31 की इकॉनमी से आठ विकेट लिए और भारतीय खेमे में सबसे अधिक विकेट लेने वाले गेंदबाज़ थे।
विकेट लेने की क्षमता के अलावा उनकी बल्लेबाज़ी भी मायने रखती है। भले ही वनडे में शार्दुल को अपनी बल्लेबाज़ी प्रतिभा को प्रदर्शित करने का ज़्यादा मौक़ा नहीं मिला है लेकिन वह समय-समय टेस्ट या टी20 में यह दिखाते रहे हैं कि नंबर आठ पर भी वह एक सक्षम बल्लेबाज़ हैं। अगस्त 2022 के बाद से उन्होंने लगभग हर वनडे श्रृंखला में भाग लिया है। यह इस बात का संकेत है कि टीम उन पर भरोसा जता रही है।
हालांकि जब उनसे पूछा गया कि क्या उन्हें लगता है कि तीसरे वनडे में वेस्टइंडीज़ पर भारत की 2-1 से मिली जीत के बाद उनके बारे में उतनी बात नहीं की गई जितनी होनी चाहिए थी तो शार्दुल ने कहा, "ईमानदारी से कहूं तो मुझे इस बात को लेकर कभी आश्चर्य नहीं हुआ कि मुझ पर कौन ध्यान दे रहा है या नहीं दे रहा है। लेकिन अगर आप देखें, तो भारतीय टीम के पास बेहतरीन बेंच स्ट्रेंथ है। कई बार ऐसा होगा जब पिच स्पिनरों के अनुकूल होगी, तो वे खेलेंगे। अगर तेज़ गेंदबाज़ों के लिए कुछ मदद है, मुझे योगदान देने का मौका मिलेगा।"
"पिछले कुछ वर्षों में हमने एक गहरी बल्लेबाज़ी लाइन-अप के साथ खेला है। वैसे में एक ऑलराउंडर के रूप में निचले क्रम में बल्लेबाज़ी करते हुए, मेरा काम महत्वपूर्ण हो जाता है। अगर हम बड़े लक्ष्य का पीछा कर रहे हैं या फिर पहली पारी में बल्लेबाज़ी करते हुए पहली पारी में बड़ा स्कोर बनाना चाह रहे हैं तो ऐसा हो सकता है कि आप एक या दो विकेट जल्दी खो देंगे। ऐसे में यदि आप नंबर आठ और नंबर नौ पर सेट बल्लेबाज़ के साथ योगदान दे सकते हैं। इसी कारण से वह भूमिका महत्वपूर्ण हो जाती है।"
शार्दुल ने कहा "जब भी मुझे मौक़ा मिलता है, मैं टीम की सफलता में योगदान देने की कोशिश करता हूं। मैं जब भी खेलता हूं तो इसी विचार के साथ मैदान पर होता हूं। दिन के अंत में मुझे इस बात को लेकर ख़ुशी होनी चाहिए कि मैंने प्रयास किया है। साथ ही मेरा प्रदर्शन प्रभावशाली होना चाहिए, चाहे वह खेल के किसी भी विभाग में हो।" शार्दुल का मानना ​​है कि सभी प्रारूपों में गेंदबाज़ी ऑलराउंडर के रूप में टीम चयनित होना, उनके लिए बहुत बड़ी बात है।
उन्होंने कहा, "टीम को मुझसे कुछ उम्मीदें हैं। इसीलिए मुझे चुना गया है और मुझे खेलने के मौके़ मिल रहे हैं। मेरे लिए ये मौक़े एक संकेत की तरह है कि टीम मुझ पर भरोसा जता रही है।"
"ये ऐसे अवसर हैं जिनका हम काफ़ी समय से इंतज़ार करते हैं। कभी-कभी हम अच्छा प्रदर्शन करते हैं, कभी-कभी नहीं करते। मुझे खु़शी है कि मैं इस बार अच्छा प्रदर्शन करने में सक्षम था। अगर मैं किसी श्रृंखला में अच्छा प्रदर्शन करता हूं, तो मुझे आत्मविश्वास मिलता है। यदि नहीं करता हूं, तो मैं उसे एक अनुभव के तौर पर लेता हूं। यदि आप अच्छा प्रदर्शन नहीं करते हैं और आप इसे विफलता के रूप में देखते हैं, तो आपकी सोच ग़लत है।"
विश्व कप टीम में जगह बनाने के बारे में जब शार्दुल से पूछा गया तो उन्होंने यह स्पष्ट किया कि वह टीम में अपनी जगह बनाने के लिए नहीं खेल रहे हैं। यह शायद परिपक्वता के संकेत हैं कि वह चयन होने या नहीं होने की भावनाओं से ख़ुद को अलग करने में सक्षम हैं।
उन्होंने कहा, "मुझे नहीं लगता कि मुझे टीम में अपनी जगह बनाने के लिए खेलना चाहिए। मैं उस तरह का खिलाड़ी नहीं हूं। अगर मैं उस सोच के साथ खेलूंगा, तो कभी अच्छा नहीं खेल पाऊंगा। अगर वे मुझे विश्व कप के लिए चयनित नहीं करते हैं, तो यह उनका फै़सला है। मैं इसके बारे में ज्यादा कुछ नहीं कर सकता। लेकिन मेरा यह सोचना ग़लत होगा कि मैं मुझे टीम में जगह बनाने के लिए खेलना चाहिए। मैं बस परिस्थिति और टीम की ज़रूरत के अनुसार प्रदर्शन करना चाहता हूं।"

शशांक किशोर ESPNcricinfo के सीनियर सब एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के सब एडिटर राजन राज ने किया है।