बड़ी तस्वीर

टूर्नामेंट के शुरुआती मुक़ाबलों में ख़राब बल्लेबाज़ी प्रदर्शन के बाद साउथ अफ़्रीका और वेस्टइंडीज़ वापसी करने की उम्मीद करेंगे। साउथ अफ़्रीका शनिवार को पहले 118/9 का स्कोर बना सका और उनका लगातार सात जीत का सफर समाप्त हो गया। पिछली बार जुलाई में वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ उन्हें इससे पहले हार मिली थी। साउथ अफ़्रीका ने इस सीरीज़ में वेस्टइंडीज़ को 3-2 से हराया था, जिससे उन्हें इस मैच में फ़ायदा मिल सकता है।

सुपर 12 के पहले मैच में इंग्लैंड के विरूद्ध उनकी टीम सिर्फ़ 55 रन पर आउट हो गई थी, जिसे देखने के बाद साउथ अफ़्रीका ने थोड़ी राहत महसूस की होगी। भले ही वेस्टइंडीज़ का फॉर्म टूर्नामेंट की शुरुआत में ख़राब रही हो, लेकिन इंग्लैंड के ख़िलाफ़ उनकी हार का तरीका शर्मनाक था, इस शब्द का प्रयोग उन्होंने ख़ुद टीम के आकलन में इस्तेमाल किया है। वेस्टइंडीज़ को उठना होगा और वे इसकी पूरी कोशिश करेंगे। साउथ अफ़्रीका इस बात से सावधान रहेगा कि वेस्टइंडीज़ अपनी वापसी के लिए उनको निशाना बना सकता है।

किसी भी टीम के लिए घबराना ज़ल्दबाजी होगी, लेकिन जो भी हारेगा वह ग्रुप स्टेज के बाकी मैचों में मुश्किल स्थिति में पहुंच जाएगा। ख़ासकर आने वाले मज़बूत उपमहाद्वीप टीमों के ख़िलाफ़ खेलने वाले हैं। श्रीलंका और बांग्लादेश दोनों ने इन दोनों टीमों की तुलना में बेहतर बल्लेबाज़ी करने की क्षमता दिखाई है, इसलिए इस मैच में दोनों ही टीम बल्लेबाज़ी से ख़ुद को साबित करना चाहेंगी।

फ़ॉर्म पर नज़र

(पिछले पांच मैच, सबसे पिछला पहले)

साउथ अफ़्रीका हार, जीत, जीत, जीत जीत

वेस्टइंडीज़ हार, हार, जीत, हार, जीत

चर्चा में

यह शायद ही आश्चर्य की बात है कि दोनों टीम बल्लेबाजी सभी की नज़रों में होगी। केवल एक वेस्टइंडीज़ के बल्लेबाज़ क्रिस गेल पिछले मैच में दोहरे अंक तक पहुंचे। ऐसे में उनके सभी खिलाड़ियों को ख़ुद को साबित करना होगा, ख़ासकर जब शॉट चयन की बात आती है। वेस्टइंडीज़ के शीर्ष सात में से छह बल्लेबाज़ इंग्लैंड के ख़िलाफ़ ढीले, हवाई स्ट्रोक खेलकर आउट हो गए थे, इसलिए उनके दिमाग में अप्रोच जरूर होगी। साउथ अफ़्रीका लापरवाही के लिए कम दोषी था लेकिन ऑस्ट्रेलिया के तेज़ गेंदबाज़ी की सटीकता से वह रूबरू हो चुका है। ऐसे में फुटवर्क पर ध्यान देना गलत नहीं होगा, ख़ासकर इन परिस्थितियों में।

यदि कोई भी बल्लेबाज़ आगे बढ़ने की कोशिश करेगा तो यह केशव महाराज और अकील हुसैन पर निर्भर करेगा कि वे उन्हें शांत रखें। महाराज साउथ अफ़्रीका टी20 अंतर्राष्ट्रीय XI में लगभग स्थायी खिलाड़ी बन गए हैं। इनका उपयोग पावरप्ले में और महत्वपूर्ण मध्य ओवरों में किया जाता है। वह बहुत रूम नहीं देते हैं और अक्सर एक या दो विकेट लेते हैं। ऐसे में वह वेस्टइंडीज़ के बड़े हिटरों को निराश करने की कोशिश करेंगे। हुसैन को इंग्लैंड के ख़िलाफ़ नई गेंद दी गई थी और उन्होंने बल्लेबाज़ों को मुश्किल में डालने की पूरी कोशिश की थी। उनकी गेंदबाज़ी में दो अच्छे कैच और 24 रन देकर दो विकेट लेने के आंकड़े थे। साउथ अफ़्रीका को स्पिनरों के ख़िलाफ़ झिझकने के लिए जाना जाता है और यहां से वेस्टइंडीज़ के स्पिनर दबाव बना सकते हैं।

टीम न्यूज़

बेंच पर मध्य क्रम के बल्लेबाज़ नहीं होने के कारण, साउथ अफ़्रीका के लिए डेविड मिलर और हेनरिक क्लासेन की कमी का समाधान खोजना मुश्किल है। केवल एक चीज जो वे कर सकते हैं, वह है शीर्ष क्रम के खिलाड़ी रीजा हेंड्रिक्स को लाइन-अप में शामिल करना, और संभावित रूप से एडन मारक्रम को नीचे की ओर ले जाना। वे सीम-बॉलिंग ऑलराउंडर की स्थिति पर फिर से विचार कर सकते हैं और कोई दूसरा विकल्प चुन सकते हैं।

संभावित एकादश

साउथ अफ़्रीका: 1 क्विंटन डिकॉक, 2 तेम्बा बावूमा (कप्तान), 3 एडन मारक्रम, 4 रासी वान दर दुसें, 5 डेविड मिलर, 6 हेनरिक क्लासेन/ रीजा हेंड्रिक्स, 7 कैगिसो रबाडा, 8 केशव महाराज, 9 लुंगिसानी एनगिडी, 10 अनरिख़ नॉर्खिये, 11 तबरेज़ शम्सी

वेस्टइंडीज़ 1 एविन लुईस, 2 लेंडल सिमंस, 3 क्रिस गेल, 4 निकोलस पूरन (विकेटकीपर), 5 शिमरॉन हेटमायर, 6 कायरन पोलार्ड, 7 आंद्रे रसल, 8 ड्वेन ब्रावो, 9 अकील हुसैन, 10 ओबेद मकॉए, 11 रवि रामपॉल

फ़िरदौस मूंडा ESPNcricinfo की साउथ अफ़्रीका संवाददाता हैं, अनुवाद ESPNcricinfo हिंदी के राजन राज ने किया है