भारत 83/1 (शेफ़ाली 55*, दीप्ति 18*) और 231 (शेफ़ाली 96, मांधना 78, एकलस्टन 4/88, नाइट 2/7) इंग्लैंड 396/9 पारी घोषित (नाइट 95, डंकली 74*, बोमॉन्ट 66, राणा 4/131, दीप्ति 3/65) भारत 82 रन पीछे

लगातार दूसरी पारी में युवा शेफ़ाली वर्मा ने अर्धशतक लगाते हुए बारिश से बाधित ब्रिस्टल टेस्ट में भारत की उम्मीदों को ज़िंदा रखा है।

इससे पहले चाय के बाद खेल नहीं शुरू हो पाया और आख़िरकार स्थानीय समयानुसार शाम 5.30 बजे अंपायर ने तीसरे दिन का खेल ख़त्म क़रार दिया। फॉलो-ऑन झेलते हुए भारत ने अब तक दूसरी पारी में एक विकेट पर 83 रन बना लिए हैं, और मेज़बान टीम से 82 रन पीछे हैं। शेफ़ाली 55 और दीप्ति शर्मा 18 रनों पर नाबाद हैं। भारत ने दूसरी पारी में एकमात्र विकेट स्मृति मांधना के तौर पर गंवाया है, आउट होने से पहले उन्होंने आठ रन बनाए थे।

17 वर्षीय शेफ़ाली जो अपनी डेब्यू पारी में सिर्फ़ चार रनों से शतक से महरूम रह गईं थीं, उन्होंने दूसरी पारी में लंच तक धमाकेदार अंदाज़ में बल्लेबाज़ी की थी और 14 गेंदों पर 20 रन बना चुकी थीं, सभी रन बाउंड्री से आए थे।

लंच के बाद भी शेफ़ाली की बल्लेबाज़ी उसी रंग में जारी रही, प्वाइंट और गली के बीच के गैप को वह बेहद आकर्षक अंदाज़ में भेदते हुए चौके बटोर रहीं थीं। शेफ़ाली ने दूसरी पारी में भी अर्धशतक लगाया और ऐसा करने के साथ ही उन्होंने अपना नाम दिग्गजों की फ़ेहरिस्त में दर्ज करा दिया।

डेब्यू टेस्ट की दोनों पारियों में अर्धशतक बनाने वाली वह भारत की पहली और दुनिया की चौथी महिला खिलाड़ी बन गईं। साथ ही साथ डेब्यू टेस्ट की दोनों पारियों में 50+ का स्कोर करने वाली वह दुनिया की सबसे कम उम्र (17 साल 139 दिन) की महिला और ओवरऑल दूसरी क्रिकेटर बन गई हैं। उनसे आगे अब सिर्फ़ सचिन तेंदुलकर (17 साल 107 दिन) हैं।

शेफ़ाली का बख़ूबी साथ निभा रही हैं, इस मैच में भारत की ओर पांच डेब्यू करने वाली में से एक दीप्ति शर्मा , जो पहली पारी में भी 29 रनों पर नाबाद रहीं थीं। यही वजह है कि उन्हें इस पारी में प्रमोट करते हुए नंबर तीन पर भेजा गया। अभी तक उन्होंने अपनी इस भूमिका को बख़ूबी अंजाम दिया है।

दूसरे दिन की सुबह भारत की पहली पारी को सोफ़ी एकल्सटन ने पूरी तरह से ढाह दिया, 187/5 से आगे खेलते हुए भारतीय टीम 231 रनों पर ही सिमट गई। सोफ़ी एकलस्टन ने इस पारी में चार भारतीय बल्लेबाज़ों को अपना शिकार बनाया। इंग्लैंड को पहली पारी के आधार पर 165 रनों की बढ़त मिली, जिसके बाद उन्होंने भारत को फ़ॉलो-ऑन दिया।

वैल्केरी बेंस ESPNcricinfo में जेनरल एडिटर हैं। अनुवाद ESPNcricinfo के मल्टीमीडिया जर्नलिस्ट सैयद हुसैन ने किया है। @imsyedhussain